loader

मैं इंदिरा गांधी की पोती हूं, बीजेपी की अघोषित प्रवक्ता नहीं: प्रियंका

कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा ने उत्तर प्रदेश की योगी आदित्यनाथ सरकार को ललकारा है और साथ ही विपक्ष के नेताओं पर भी जोरदार हमला बोला है। प्रियंका ने शुक्रवार को ट्वीट कर कहा, ‘जनता के सेवक के रूप में मेरा कर्तव्य उत्तर प्रदेश की जनता के प्रति है और वह कर्तव्य सच्चाई को उनके सामने रखने का है। किसी सरकारी प्रोपेगेंडा को आगे रखना नहीं है।’ 

प्रियंका ने आगे कहा कि यूपी सरकार अपने अन्य विभागों द्वारा उन्हें फिज़ूल की धमकियाँ देकर अपना समय व्यर्थ कर रही है। कांग्रेस महासचिव ने कहा कि सरकार जो भी कार्रवाई करना चाहती है, बेशक करे लेकिन वह सच्चाई को सामने रखती रहेंगी। 

प्रियंका ने विपक्ष के नेताओं पर हमला बोलते हुए कहा, ‘मैं इंदिरा गांधी की पोती हूँ, विपक्ष के कुछ नेताओं की तरह बीजेपी की अघोषित प्रवक्ता नहीं।’

ताज़ा ख़बरें

डीएम ने भेजा था नोटिस

माना जा रहा है कि प्रियंका ने यह हमला आगरा में कोरोना मरीजों की मौत को लेकर किए गए ट्वीट पर डीएम द्वारा उन्हें नोटिस भेजने पर किया है। प्रियंका ने 22 जून को ट्वीट कर कहा था कि आगरा में कोरोना से मृत्यु दर डराने वाली है और 28 लोगों की मौत अस्पताल में भर्ती होने के 48 घंटे में होना बड़ी लापरवाही है। उन्होंने कहा था कि मुख्यमंत्री इस मामले में 48 घंटे में जांच रिपोर्ट को जनता के सामने रखें। इस पर डीएम ने उन्हें नोटिस भेजकर उनके द्वारा किए गए ट्वीट का 24 घंटे में खंडन करने के लिए कहा था। 

डीएम के नोटिस के बाद उत्तर प्रदेश के उप मुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य ने भी सख़्त रूख़ अपनाते हुए कहा था कि अगर प्रियंका आगरा के डीएम के नोटिस का जवाब नहीं देती हैं तो उनके ख़िलाफ़ कार्रवाई की जाएगी। मौर्य ने कहा था कि प्रियंका ने कोरोना से होने वाली मौतों के झूठे आंकड़ों को ट्वीट किया है और वह ओछी राजनीति कर रही हैं। 

यह पहला मौक़ा है जब प्रियंका ने विपक्ष के नेताओं पर खुलकर इतना करारा वार किया है। कांग्रेस लगातार यह आरोप लगाती रही है उत्तर प्रदेश के विपक्षी राजनीतिक दल योगी आदित्यनाथ सरकार के ख़िलाफ़ नहीं बोलते।

प्रियंका ने अपने ट्वीट से यह साफ कर दिया है कि वह योगी सरकार के सामने झुकने वाली नहीं हैं। 

कांग्रेस को जिंदा करने में जुटीं

उत्तर प्रदेश में कांग्रेस को जिंदा करने में जुटीं प्रियंका गांधी ने सोनभद्र में आदिवासियों के नरसंहार का मामला हो, नागरिकता संशोधन क़ानून के ख़िलाफ़ हो रहे प्रदर्शनों का मामला हो, उत्तर प्रदेश में बिजली-पानी की क़ीमतें बढ़ने से लेकर शिक्षक भर्ती मामला या जनहित से जुड़ा कोई और मुद्दा, लगातार आवाज़ उठाई है। 

प्रियंका ने कांग्रेस संगठन के नट-बोल्ड कसकर इसे चुस्त दुरुस्त बनाने का काम किया है। प्रियंका ख़ुद को दमदार विपक्षी नेता के रूप में स्थापित करने में जुटी हैं। क्या प्रियंका गांधी की सक्रियता से मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ख़ुश हैं, देखिए वीडियो - 
उत्तर प्रदेश से और ख़बरें
प्रियंका 2022 में उत्तर प्रदेश में होने वाले विधानसभा चुनाव तक कांग्रेस को इस स्थिति में ले आना चाहती हैं कि पार्टी राज्य की सभी 403 सीटों पर उम्मीदवार खड़े कर सके और समाजवादी पार्टी और बहुजन समाज पार्टी से अच्छे वोट ला सके। 

'सत्य हिन्दी'
की ताक़त बनिए

गोदी मीडिया और विशाल कारपोरेट मीडिया के मुक़ाबले स्वतंत्र पत्रकारिता का साथ दीजिए और उसकी ताक़त बनिए। 'सत्य हिन्दी' की सदस्यता योजना में आपका आर्थिक योगदान ऐसे नाज़ुक समय में स्वतंत्र पत्रकारिता को बहुत मज़बूती देगा। याद रखिए, लोकतंत्र तभी बचेगा, जब सच बचेगा।

नीचे दी गयी विभिन्न सदस्यता योजनाओं में से अपना चुनाव कीजिए। सभी प्रकार की सदस्यता की अवधि एक वर्ष है। सदस्यता का चुनाव करने से पहले कृपया नीचे दिये गये सदस्यता योजना के विवरण को ध्यान से पढ़ें। आपका भुगतान प्राप्त होने की GST Invoice और सदस्यता प्रमाणपत्र हम आपको ईमेल से ही भेजेंगे। कृपया अपना नाम व ईमेल सही तरीक़े से लिखें।
सत्य अनुयायी के रूप में आप पाएंगे:
  1. सदस्यता-पत्र
  2. विशेष न्यूज़लेटर: 'सत्य हिन्दी' की चुनिंदा विशेष कवरेज की जानकारी आपको पहले से मिल जायगी। आपकी ईमेल पर समय-समय पर आपको हमारा विशेष न्यूज़लेटर भेजा जायगा, जिसमें 'सत्य हिन्दी' की विशेष कवरेज की जानकारी आपको दी जायेगी, ताकि हमारी कोई ख़ास पेशकश आपसे छूट न जाय।
  3. 'सत्य हिन्दी' के 3 webinars में भाग लेने का मुफ़्त निमंत्रण। सदस्यता तिथि से 90 दिनों के भीतर आप अपनी पसन्द के किसी 3 webinar में भाग लेने के लिए प्राथमिकता से अपना स्थान आरक्षित करा सकेंगे। 'सत्य हिन्दी' सदस्यों को आवंटन के बाद रिक्त बच गये स्थानों के लिए सामान्य पंजीकरण खोला जायगा। *कृपया ध्यान रखें कि वेबिनार के स्थान सीमित हैं और पंजीकरण के बाद यदि किसी कारण से आप वेबिनार में भाग नहीं ले पाये, तो हम उसके एवज़ में आपको अतिरिक्त अवसर नहीं दे पायेंगे।
सर्वाधिक पढ़ी गयी खबरें

अपनी राय बतायें

उत्तर प्रदेश से और खबरें

ताज़ा ख़बरें

सर्वाधिक पढ़ी गयी खबरें