loader

लखीमपुर खीरी के लिए निकलीं प्रियंका गांधी हिरासत में

लखीमपुर खीरी के लिए निकलीं कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा को सोमवार तड़के साढ़े पाँच बजे हिरासत में ले लिया गया है। लखीमपुर खीरी में रविवार को हुई हिंसा में 8 लोग मारे गए थे। इसमें से चार किसान थे और किसानों का आरोप है कि केंद्रीय मंत्री के बेटे ने उन्हें कार से कुचला। इसी घटना को लेकर प्रियंका रात 1 बजे रवाना हुई थीं। लेकिन उत्तर प्रदेश पुलिस ने उन्हें हरगांव थाना क्षेत्र में रोका। फिर उन्हें सीतापुर ज़िले के एक गेस्ट हाउस में ले जाया गया है।

यूपी कांग्रेस ने ट्वीट कर कहा है कि प्रियंका गांधी को पुलिस ने गिरफ़्तार किया है और लोगों से समर्थन में इलाक़े में पहुँचने को कहा।

उत्तर प्रदेश के लखीमपुर ज़िले में प्रदर्शन करने जा रहे किसानों को कथित रूप से कार से रौंद कर मार देने का आरोप लगा है। आरोप है कि लखीमपुर सांसद व केंद्रीय गृह राज्य मंत्री अजय मिश्रा टेनी के बेटे मोनू की कार से यह हादसा हुआ है। रिपोर्ट है कि 4 किसानों की मौत कार से कुचलकर हुई है जबकि चार अन्य लोगों की मौत हिंसा में हुई है। कई अन्य घायल हुए हैं। प्रियंका मारे गए उन किसानों के परिवारों से मिलने जा रही थीं। लेकिन पुलिस द्वारा उन्हें लखनऊ में ही रोकने की कोशिश की गई।

ताज़ा ख़बरें

कांग्रेस ने एक वीडियो ट्वीट किया है जिसमें दिखता है कि पुलिस वालों पर प्रियंका नाराज़ हो रही हैं। वह पुलिसकर्मी से कहती हैं, 'वारंट निकालो, ऑर्डर निकालो। नहीं तो मैं यहां से नहीं हिल रही हूं। और अगर आप मुझे उस कार में डाल देंगे तो मैं अपहरण का आरोप लगाऊंगी। और आरोप पुलिस पर नहीं बल्कि आप पर होगा।'

उनके बगल में खड़े कांग्रेस नेता दीपेंद्र हुड्डा ने पुलिसकर्मी से सवाल किया कि वह प्रियंका गांधी वाड्रा के ख़िलाफ़ हाथ कैसे उठा सकते हैं। हुड्डा कहते हैं, 'मैं गवाही देने जा रहा हूँ। मैंने इसे देखा है।' 

एक अन्य ट्वीट में कांग्रेस ने कहा है, 'श्रीमती प्रियंका गांधी जी के कपड़े खींचे जा रहे हैं। पुलिस के द्वारा भोर के अंधेरे में उनके हाथ मोड़े जा रहे हैं। मुख्यमंत्री जी ! तानाशाही लाख कर लो, हम अन्याय और नफरत के खिलाफ कुर्बानी देने वाले लोग हैं। झुकेंगे नहीं, लड़ेंगे...।'

बता दें कि कांग्रेस नेता लखनऊ में अपने घर से पैदल निकलीं और फिर बाद में एक कार में सवार हो गईं। यूपी कांग्रेस के ट्विटर हैंडल के मुताबिक़ लखनऊ से लखीमपुर खीरी जाने वाले रास्ते में टोल प्लाजा पर भारी पुलिस बल तैनात किया गया है। 

युवा कांग्रेस के नेता श्रीनिवास बी वी ने भी दावा किया है कि उत्तर प्रदेश पुलिस ने प्रियंका गांधी को गिरफ़्तार कर लिया है। उन्होंने इस संदर्भ में एक वीडियो पोस्ट किया है। 
प्रियंका को हिरासत में लिए जाने की ख़बरों के बाद राहुल गांधी ने अपनी बहन के समर्थन में ट्वीट करते हुए कहा कि वे किसानों को जीत दिलाएंगे। राहुल गांधी ने कहा कि उन्हें पता है कि प्रियंका पीछे नहीं हटेंगी। 

इससे पहले लखीमपुर खीरी जाने के दौरान रास्ते में प्रियंका गांधी वाड्रा ने रविवार की घटना के बारे में ट्वीट कर कहा, 'भाजपा देश के किसानों से कितनी नफ़रत करती है? उन्हें जीने का हक नहीं है? यदि वे आवाज उठाएँगे तो उन्हें गोली मार दोगे, गाड़ी चढ़ाकर रौंद दोगे? बहुत हो चुका। ये किसानों का देश है, भाजपा की क्रूर विचारधारा की जागीर नहीं है। किसान सत्याग्रह मजबूत होगा और किसान की आवाज और बुलंद होगी।'

चंद्रशेखर, सतीश चंद मिश्रा को रोका

किसानों की मौत के बाद कई किसान नेता और राजनेता लखीमपुर खीरी जाने के लिए निकले हैं और निकलने वाले हैं। लखीमपुर खीरी जा रहे भीम आर्मी प्रमुख चंद्रशेखर को पुलिस ने खैराबाद टोल प्लाजा पर रोक दिया। इनके अलावा रिपोर्ट है कि पुलिस ने बसपा नेता सतीश चंद मिश्रा को नज़रबंद कर दिया है। इस बीच किसान नेता राकेश टिकैत भी लखीमपुर खीरी के लिए रवाना हो चुके हैं। टिकैत का काफिला पुलिस की बैरिकेडिंग तोड़ता हुआ आगे बढ़ा। 

इस बीच ख़बर है कि पंजाब के मुख्यमंत्री चरणजीत सिंह चन्नी, समाजवादी पार्टी के नेता अखिलेश यादव, राष्ट्रीय लोकदल के नेता जयंत चौधरी भी लखीमपुर खीरी पहुँचने वाले हैं। समझा जाता है कि पुलिस उन्हें भी रोकने की पूरी कोशिश करेगी। 

सत्य हिन्दी ऐप डाउनलोड करें

गोदी मीडिया और विशाल कारपोरेट मीडिया के मुक़ाबले स्वतंत्र पत्रकारिता का साथ दीजिए और उसकी ताक़त बनिए। 'सत्य हिन्दी' की सदस्यता योजना में आपका आर्थिक योगदान ऐसे नाज़ुक समय में स्वतंत्र पत्रकारिता को बहुत मज़बूती देगा। याद रखिए, लोकतंत्र तभी बचेगा, जब सच बचेगा।

नीचे दी गयी विभिन्न सदस्यता योजनाओं में से अपना चुनाव कीजिए। सभी प्रकार की सदस्यता की अवधि एक वर्ष है। सदस्यता का चुनाव करने से पहले कृपया नीचे दिये गये सदस्यता योजना के विवरण और Membership Rules & NormsCancellation & Refund Policy को ध्यान से पढ़ें। आपका भुगतान प्राप्त होने की GST Invoice और सदस्यता-पत्र हम आपको ईमेल से ही भेजेंगे। कृपया अपना नाम व ईमेल सही तरीक़े से लिखें।
सत्य अनुयायी के रूप में आप पाएंगे:
  1. सदस्यता-पत्र
  2. विशेष न्यूज़लेटर: 'सत्य हिन्दी' की चुनिंदा विशेष कवरेज की जानकारी आपको पहले से मिल जायगी। आपकी ईमेल पर समय-समय पर आपको हमारा विशेष न्यूज़लेटर भेजा जायगा, जिसमें 'सत्य हिन्दी' की विशेष कवरेज की जानकारी आपको दी जायेगी, ताकि हमारी कोई ख़ास पेशकश आपसे छूट न जाय।
  3. 'सत्य हिन्दी' के 3 webinars में भाग लेने का मुफ़्त निमंत्रण। सदस्यता तिथि से 90 दिनों के भीतर आप अपनी पसन्द के किसी 3 webinar में भाग लेने के लिए प्राथमिकता से अपना स्थान आरक्षित करा सकेंगे। 'सत्य हिन्दी' सदस्यों को आवंटन के बाद रिक्त बच गये स्थानों के लिए सामान्य पंजीकरण खोला जायगा। *कृपया ध्यान रखें कि वेबिनार के स्थान सीमित हैं और पंजीकरण के बाद यदि किसी कारण से आप वेबिनार में भाग नहीं ले पाये, तो हम उसके एवज़ में आपको अतिरिक्त अवसर नहीं दे पायेंगे।
सर्वाधिक पढ़ी गयी खबरें

अपनी राय बतायें

उत्तर प्रदेश से और खबरें

ताज़ा ख़बरें

सर्वाधिक पढ़ी गयी खबरें