loader

विदेशों से आ रहे हैं भड़काऊ फ़ोन, देश की अखंडता को दी जा रही है चुनौती

उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ में बीते तीन दिनों से पत्रकारों के पास विदेश के अलग-अलग नंबरों से फ़ोन आ रहे हैं। फ़ोन पर बाबरी मसजिद गिराने, राम मंदिर बनाने, मुसलमानों के साथ भेदभाव का हवाला देते हुए भड़काऊ बातें कही जा रही हैं। फ़ोन करने वाला भारत में खालिस्तान तो कभी मुसलमानों के लिए अलग देश बनाने की बात करते हुए 15 अगस्त को न मनाने की अपील भी करता है।

भड़काऊ बातें

पहले जहाँ इन फ़ोन कॉल में मुसलमानों की बात की जा रही थी, वहीं सोमवार को ‘खालिस्तान जिंदाबाद’ के नारे सुनाए जाने लगे। महिला और पुरुष दोनों की आवाज़ में अलग-अलग फ़ोन नंबरों से ये रिकार्डेड मैसेज सुनाए जा रहे हैं। पुरुष अपना नाम युसुफ तो महिला खुद को आलिया बताती है।
उत्तर प्रदेश से और खबरें
हालांकि पहले तो इस तरह के फ़ोन काल केवल राजधानी में प्रमुख पत्रकारों को आए। पर बाद में कुछ आम नागरिकों को भी फ़ोन किया गया। ये सिलसिला शनिवार सुबह से शुरू हुआ था।

पुलिस को दी सूचना 

अमेरिका व अन्य देशों के नंबरों से आने वाले इन फ़ोन कॉल्स से लखनऊ के पत्रकारों में हड़कंप मच गया और कई लोगों ने पुलिस को इसकी सूचना दी। मामले की जाँच कर रहे पुलिस अधिकारियों का कहना है कि विदेशी नंबरों वाले बल्क कॉल पैकेज से ऐसे ज़हरील कॉल्स दिल्ली, नोएडा, ग़ाज़ियाबाद के पत्रकारों को भी आए।  

स्वतंत्रता दिवस के पहले भड़काऊ संदेश वाले इस मामले को लेकर यूपी और दिल्ली की पुलिस ने एफ़आईआर दर्ज की है, जाँच भी शुरू हो गयी है। इसके बावजूद फ़ोन का सिलसिला बंद नहीं हुआ है।

अमेरिका और जॉर्जिया से आए फोन

मामले की जाँच कर रहे लोगों ने बताया कि कुछ नंबर अमेरिका तो कुछ यूक्रेन के समीप के देश जॉर्जिया से आ रहे हैं। शनिवार के बाद ये कॉल अब सोशल मीडिया पर भी तेज़ी से वायरल हो रहे हैं।

रिकार्डेड कॉल में देश के प्रधानमंत्री के ख़िलाफ़ भी ज़हर उगला गया है। राष्ट्रीय एकता, अखंडता को चुनौती दी गई। मुसलिम समाज को भड़काने के प्रयास किये गये हैं।
सोमवार को इसी तरह के विदेशी नंबर से एक वॉट्सऐप ग्रुप बनाकर लोगों को उससे जुड़ने की अपील की गयी है। हालांकि इस ग्रुप को खोलने पर जो मैसेज है, उसे अश्लील बताया जा रहा है।

पुलिस ने जारी किया नंबर

साजिश की जानकारी से सुरक्षा एजेंसियों को अवगत कराने के लिए पत्रकारों ने सारी जानकारियाँ सोशल मीडिया पर डाल दीं। लखनऊ की हजरत गंज कोतवाली के साथ ही दिल्ली में भी शिकायत दर्ज की गयी हैं।

लखनऊ पुलिस कमिश्नर ने एक मोबाइल नंबर 9454401508 जारी करते हुए कहा है कि यदि किसी के पास ऐसे कॉल आते हैं तो वह कॉल डिटेल इस नंबर पर भेज दे।

'सत्य हिन्दी'
की ताक़त बनिए

गोदी मीडिया और विशाल कारपोरेट मीडिया के मुक़ाबले स्वतंत्र पत्रकारिता का साथ दीजिए और उसकी ताक़त बनिए। 'सत्य हिन्दी' की सदस्यता योजना में आपका आर्थिक योगदान ऐसे नाज़ुक समय में स्वतंत्र पत्रकारिता को बहुत मज़बूती देगा। याद रखिए, लोकतंत्र तभी बचेगा, जब सच बचेगा।

नीचे दी गयी विभिन्न सदस्यता योजनाओं में से अपना चुनाव कीजिए। सभी प्रकार की सदस्यता की अवधि एक वर्ष है। सदस्यता का चुनाव करने से पहले कृपया नीचे दिये गये सदस्यता योजना के विवरण और Membership Rules & NormsCancellation & Refund Policy को ध्यान से पढ़ें। आपका भुगतान प्राप्त होने की GST Invoice और सदस्यता-पत्र हम आपको ईमेल से ही भेजेंगे। कृपया अपना नाम व ईमेल सही तरीक़े से लिखें।
सत्य अनुयायी के रूप में आप पाएंगे:
  1. सदस्यता-पत्र
  2. विशेष न्यूज़लेटर: 'सत्य हिन्दी' की चुनिंदा विशेष कवरेज की जानकारी आपको पहले से मिल जायगी। आपकी ईमेल पर समय-समय पर आपको हमारा विशेष न्यूज़लेटर भेजा जायगा, जिसमें 'सत्य हिन्दी' की विशेष कवरेज की जानकारी आपको दी जायेगी, ताकि हमारी कोई ख़ास पेशकश आपसे छूट न जाय।
  3. 'सत्य हिन्दी' के 3 webinars में भाग लेने का मुफ़्त निमंत्रण। सदस्यता तिथि से 90 दिनों के भीतर आप अपनी पसन्द के किसी 3 webinar में भाग लेने के लिए प्राथमिकता से अपना स्थान आरक्षित करा सकेंगे। 'सत्य हिन्दी' सदस्यों को आवंटन के बाद रिक्त बच गये स्थानों के लिए सामान्य पंजीकरण खोला जायगा। *कृपया ध्यान रखें कि वेबिनार के स्थान सीमित हैं और पंजीकरण के बाद यदि किसी कारण से आप वेबिनार में भाग नहीं ले पाये, तो हम उसके एवज़ में आपको अतिरिक्त अवसर नहीं दे पायेंगे।
सर्वाधिक पढ़ी गयी खबरें

अपनी राय बतायें

उत्तर प्रदेश से और खबरें

ताज़ा ख़बरें

सर्वाधिक पढ़ी गयी खबरें