loader

यूपी: गंगवार बोले- बरेली में ऑक्सीजन की किल्लत, कालाबाज़ारी भी हो रही

कोरोना संकट से जूझ रहे उत्तर प्रदेश में सरकार की ओर से हालात के सामान्य होने के दावों के बीच बरेली से सांसद और केंद्रीय मंत्री संतोष गंगवार के एक पत्र से खलबली का माहौल है। गंगवार ने मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को पत्र लिखकर कहा है कि बरेली में ऑक्सीजन की कमी है और वेंटिलेटर्स सहित कई चिकित्सा उपकरणों की कालाबाजारी हो रही है। गंगवार का यह पत्र निश्चित रूप से गंभीर है क्योंकि वह कई बार के सांसद हैं और बेहद संजीदा राजनेता माने जाते हैं।

गंगवार ने पत्र में लिखा है कि स्वास्थ्य विभाग के अफ़सर फ़ोन नहीं उठाते, जिससे कोरोना के मरीजों के लिए हालात मुश्किल बनते जा रहे हैं। उन्होंने लिखा है कि बरेली के अस्पतालों में ऑक्सीजन प्लांट्स और कोरोना के मरीजों को रेफ़र किए जाने की प्रक्रिया को और सरल बनाए जाने की ज़रूरत है। बरेली में बीते कुछ दिनों में कोरोना मरीजों की संख्या बढ़ी है और एक्टिव मामलों की संख्या 6,387 हो गयी है। 

ताज़ा ख़बरें

इस पत्र के बारे में पूछे जाने पर गंगवार ने पत्रकारों से कहा कि उन्हें आम लोगों की ओर से कुछ सुझाव मिले थे और उन्होंने सिर्फ़ इन सुझावों को मुख्यमंत्री तक भेजा है। 

यूपी में कोरोना को लेकर बने हालात पर देखिए चर्चा- 
गंगवार ने पत्रकारों से कहा है कि उनके मुताबिक़ आम लोगों के द्वारा उठाए गए सवाल ठीक हैं और इस बारे में जांच कर इन पर फ़ैसला लिया जा सकता है। उन्होंने कहा कि ऑक्सीजन की कमी का हल खोजा जा सकता है लेकिन कालाबाज़ारी नहीं होनी चाहिए। 
Santosh gangwar letter to Yogi Adityanath For Oxygen Shortage  - Satya Hindi

योगी ने कहा था अफ़वाह

याद दिला दें कि कुछ दिन पहले ही मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने राज्य के अस्पतालों में ऑक्सीजन की कमी होने की बात को नकारा था और कहा था कि जो लोग इसे लेकर अफ़वाह फैला रहे हैं, उनके ख़िलाफ़ संपत्ति जब्त करने सहित अन्य सख़्त क़दम उठाए जाएंगे। 

योगी ने अफ़सरों से यह भी कहा था कि इस तरह की अफ़वाहें फ़ैलाने वालों के ख़िलाफ़ नेशनल सिक्योरिटी एक्ट के तहत कार्रवाई की जानी चाहिए। हालांकि उन्होंने स्वीकार किया था कि कालाबाज़ारी और जमाखोरी दो बड़े मुद्दे हैं और सरकार इन पर सख़्ती से अमल करेगी। 

प्रियंका ने दी थी चुनौती

योगी के इस बयान पर कांग्रेस महासचिव और उत्तर प्रदेश कांग्रेस की प्रभारी प्रियंका गांधी वाड्रा ने प्रतिक्रिया दी थी। प्रियंका ने कहा था कि पूरे राज्य में ऑक्सीजन इमरजेंसी जैसी स्थिति है। प्रियंका ने कहा था कि अगर योगी आदित्यनाथ उनके ख़िलाफ़ केस दर्ज करना चाहें तो वे ऐसा कर सकते हैं लेकिन उन्हें हालात को देखते हुए लोगों की जान बचानी चाहिए। 

उत्तर प्रदेश से और ख़बरें

उत्तर प्रदेश में पिछले 24 घंटे में कोरोना संक्रमण के 23,333 नए मामले सामने आए हैं और इस दौरान 34,636 मरीज ठीक हुए हैं। उत्तर प्रदेश में लखनऊ, वाराणसी, कानपुर नगर और आगरा इस संक्रमण से खासे प्रभावित हैं। राज्य सरकार का दावा है कि प्रदेश में रेमडेसिविर इंजेक्शन की उपलब्धता सुनिश्चित कराई जा रही है और ऑक्सीजन बेड्स बढ़ाए जा रहे हैं। 

उत्तर प्रदेश सरकार के मुताबिक़, राज्य में अब तक 1,09,37,928 लोगों को वैक्सीन की पहली डोज तथा पहली डोज लेने वाले लोगों में से 27,84,232 लोगों को दूसरी डोज दी जा चुकी है। 

सत्य हिन्दी ऐप डाउनलोड करें

गोदी मीडिया और विशाल कारपोरेट मीडिया के मुक़ाबले स्वतंत्र पत्रकारिता का साथ दीजिए और उसकी ताक़त बनिए। 'सत्य हिन्दी' की सदस्यता योजना में आपका आर्थिक योगदान ऐसे नाज़ुक समय में स्वतंत्र पत्रकारिता को बहुत मज़बूती देगा। याद रखिए, लोकतंत्र तभी बचेगा, जब सच बचेगा।

नीचे दी गयी विभिन्न सदस्यता योजनाओं में से अपना चुनाव कीजिए। सभी प्रकार की सदस्यता की अवधि एक वर्ष है। सदस्यता का चुनाव करने से पहले कृपया नीचे दिये गये सदस्यता योजना के विवरण और Membership Rules & NormsCancellation & Refund Policy को ध्यान से पढ़ें। आपका भुगतान प्राप्त होने की GST Invoice और सदस्यता-पत्र हम आपको ईमेल से ही भेजेंगे। कृपया अपना नाम व ईमेल सही तरीक़े से लिखें।
सत्य अनुयायी के रूप में आप पाएंगे:
  1. सदस्यता-पत्र
  2. विशेष न्यूज़लेटर: 'सत्य हिन्दी' की चुनिंदा विशेष कवरेज की जानकारी आपको पहले से मिल जायगी। आपकी ईमेल पर समय-समय पर आपको हमारा विशेष न्यूज़लेटर भेजा जायगा, जिसमें 'सत्य हिन्दी' की विशेष कवरेज की जानकारी आपको दी जायेगी, ताकि हमारी कोई ख़ास पेशकश आपसे छूट न जाय।
  3. 'सत्य हिन्दी' के 3 webinars में भाग लेने का मुफ़्त निमंत्रण। सदस्यता तिथि से 90 दिनों के भीतर आप अपनी पसन्द के किसी 3 webinar में भाग लेने के लिए प्राथमिकता से अपना स्थान आरक्षित करा सकेंगे। 'सत्य हिन्दी' सदस्यों को आवंटन के बाद रिक्त बच गये स्थानों के लिए सामान्य पंजीकरण खोला जायगा। *कृपया ध्यान रखें कि वेबिनार के स्थान सीमित हैं और पंजीकरण के बाद यदि किसी कारण से आप वेबिनार में भाग नहीं ले पाये, तो हम उसके एवज़ में आपको अतिरिक्त अवसर नहीं दे पायेंगे।
सर्वाधिक पढ़ी गयी खबरें

अपनी राय बतायें

उत्तर प्रदेश से और खबरें

ताज़ा ख़बरें

सर्वाधिक पढ़ी गयी खबरें