loader

यूपी चुनाव: छठे चरण में बीजेपी को जीत दिला पाएंगे योगी? 

हिंदुस्तान की सियासत की तसवीर तय करने वाले सूबे उत्तर प्रदेश की चुनावी लड़ाई अपने अंतिम दौर में पहुंच चुकी है। 3 मार्च को छठे और 7 मार्च को सातवें और आखिरी चरण के लिए वोटिंग होगी। छठे चरण में 10 जिलों की 57 सीटों पर वोट डाले जाएंगे। इन जिलों में गोरखपुर, अंबेडकर नगर, बलिया, बलरामपुर, बस्ती, देवरिया, कुशीनगर, महाराजगंज, संतकबीरनगर और सिद्धार्थनगर शामिल हैं।

ये हैं चुनावी दिग्गज

इस चरण में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ गोरखपुर शहर, कृषि मंत्री सूर्य प्रताप शाही पत्थरदेवा, बेसिक शिक्षा मंत्री सतीश चंद्र त्रिवेदी इटवा, स्वास्थ्य मंत्री जय प्रताप सिंह बांसी, राज्य मंत्री श्री राम चौहान गोरखपुर खजनी और जयप्रकाश निषाद रुद्रपुर से चुनाव मैदान में हैं। 

इसके अलावा गोरखपुर की चिल्लूपार सीट से सपा के उम्मीदवार विनय शंकर तिवारी, अंबेडकरनगर की जलालपुर सीट से सपा उम्मीदवार राकेश पांडे भी बड़े चुनावी चेहरों में से एक हैं।

ताज़ा ख़बरें

गोरखपुर शहर है हॉट सीट 

योगी आदित्यनाथ के चुनाव मैदान में होने के कारण गोरखपुर शहर निश्चित रूप से सबसे हॉट सीट है। गोरखपुर शहर सीट पर कुल 4.5 लाख मतदाता हैं। इनमें कायस्थ मतदाताओं की संख्या सबसे ज्यादा है। इस सीट पर कायस्थ मतदाता 95,000, ब्राह्मण मतदाता 55,000 और क्षत्रिय मतदाताओं की संख्या 25,000 है। इसके अलावा इस सीट पर 50,000 मुसलिम, 25,000 यादव और 20,000 दलित मतदाता और अन्य जातियों के मतदाताओं की संख्या 30,000 है।

1989 के बाद से अब तक इस सीट पर बीजेपी का कब्जा रहा है। बीते कुछ महीनों में बीजेपी और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का खासा जोर पूर्वांचल पर रहा था। योगी आदित्यनाथ गोरखपुर की गोरक्षनाथ पीठ के महंत हैं। वह यहां से 5 बार सांसद रहे हैं और हिंदू फायर ब्रांड नेता की छवि की वजह से गोरखपुर व आसपास के इलाकों में उनके समर्थकों की एक बड़ी तादाद है।

योगी आदित्यनाथ का यह पहला विधानसभा चुनाव है। देखना होगा कि उनके विधानसभा चुनाव लड़ने से क्या बीजेपी को गोरखपुर जिले और आसपास की सीटों पर कोई फायदा मिलता है।

up election 2022 sixth phase  - Satya Hindi

योगी आदित्यनाथ के खिलाफ सपा ने बीजेपी के पूर्व नेता उपेंद्र दत्त शुक्ला की पत्नी सुभावती शुक्ला को चुनाव मैदान में उतारा है जबकि दलित नेता और आजाद समाज पार्टी के अध्यक्ष चंद्रशेखर आजाद भी यहां योगी आदित्यनाथ को चुनौती दे रहे हैं।

मोदी-योगी का सहारा

छठे और सातवें चरण में बीजेपी को मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से बड़ी उम्मीद है। क्योंकि छठे चरण में गोरखपुर और इसके आसपास के इलाकों में चुनाव हो रहा है जबकि सातवें चरण में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के निर्वाचन क्षेत्र वाराणसी और इसके आसपास के जिलों में मतदान होना है। इन इलाकों में सपा और बीएसपी भी काफी मजबूत रही है लेकिन 2017 के विधानसभा चुनाव में बीजेपी को यहां अच्छी सफलता मिली थी।

उत्तर प्रदेश से और खबरें

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी 3 दिन तक वाराणसी में रुकेंगे। प्रधानमंत्री 3 मार्च से लेकर 5 मार्च तक चुनावी सभाओं को संबोधित करेंगे। प्रधानमंत्री इस दौरान मिर्जापुर, भदोही, जौनपुर और चंदौली में चुनावी जनसभाओं को संबोधित करेंगे।

पूर्वांचल के इस इलाके में इस बार ओम प्रकाश राजभर की अगुवाई वाली सुहेलदेव भारतीय समाज पार्टी इस बार सपा के साथ है जबकि पिछली बार उसका बीजेपी के साथ गठबंधन था। 

up election 2022 sixth phase  - Satya Hindi

सपा प्रमुख अखिलेश यादव ने भी हर चरण के चुनाव की तरह इस इस चरण में भी जमकर पसीना बहाया है। 

उत्तर प्रदेश में अब तक 292 सीटों पर मतदान हो चुका है और 111 सीटों पर होना बाकी है। पश्चिम से शुरू हुआ चुनाव अवध, बुंदेलखंड से होता हुआ पूर्वांचल तक आ पहुंचा है। अब तक के चरणों में बीजेपी और सपा गठबंधन के बीच जोरदार टक्कर देखने को मिली है। इन दो चरणों में भी इन दोनों के बीच जोरदार सियासी मुकाबला है और जीत हासिल करने के लिए सभी राजनीतिक दिग्गजों ने पूरा जोर लगा दिया है। चुनाव नतीजों की तारीख भी नजदीक आ चुकी है। देखना होगा कि जनता किसके हक में फैसला सुनाती है।

सत्य हिन्दी ऐप डाउनलोड करें

गोदी मीडिया और विशाल कारपोरेट मीडिया के मुक़ाबले स्वतंत्र पत्रकारिता का साथ दीजिए और उसकी ताक़त बनिए। 'सत्य हिन्दी' की सदस्यता योजना में आपका आर्थिक योगदान ऐसे नाज़ुक समय में स्वतंत्र पत्रकारिता को बहुत मज़बूती देगा। याद रखिए, लोकतंत्र तभी बचेगा, जब सच बचेगा।

नीचे दी गयी विभिन्न सदस्यता योजनाओं में से अपना चुनाव कीजिए। सभी प्रकार की सदस्यता की अवधि एक वर्ष है। सदस्यता का चुनाव करने से पहले कृपया नीचे दिये गये सदस्यता योजना के विवरण और Membership Rules & NormsCancellation & Refund Policy को ध्यान से पढ़ें। आपका भुगतान प्राप्त होने की GST Invoice और सदस्यता-पत्र हम आपको ईमेल से ही भेजेंगे। कृपया अपना नाम व ईमेल सही तरीक़े से लिखें।
सत्य अनुयायी के रूप में आप पाएंगे:
  1. सदस्यता-पत्र
  2. विशेष न्यूज़लेटर: 'सत्य हिन्दी' की चुनिंदा विशेष कवरेज की जानकारी आपको पहले से मिल जायगी। आपकी ईमेल पर समय-समय पर आपको हमारा विशेष न्यूज़लेटर भेजा जायगा, जिसमें 'सत्य हिन्दी' की विशेष कवरेज की जानकारी आपको दी जायेगी, ताकि हमारी कोई ख़ास पेशकश आपसे छूट न जाय।
  3. 'सत्य हिन्दी' के 3 webinars में भाग लेने का मुफ़्त निमंत्रण। सदस्यता तिथि से 90 दिनों के भीतर आप अपनी पसन्द के किसी 3 webinar में भाग लेने के लिए प्राथमिकता से अपना स्थान आरक्षित करा सकेंगे। 'सत्य हिन्दी' सदस्यों को आवंटन के बाद रिक्त बच गये स्थानों के लिए सामान्य पंजीकरण खोला जायगा। *कृपया ध्यान रखें कि वेबिनार के स्थान सीमित हैं और पंजीकरण के बाद यदि किसी कारण से आप वेबिनार में भाग नहीं ले पाये, तो हम उसके एवज़ में आपको अतिरिक्त अवसर नहीं दे पायेंगे।
सर्वाधिक पढ़ी गयी खबरें

अपनी राय बतायें

उत्तर प्रदेश से और खबरें

ताज़ा ख़बरें

सर्वाधिक पढ़ी गयी खबरें