loader

बंगाल: चुनावी रण में बीजेपी-टीएमसी के बीच चले सियासी तीर

पश्चिम बंगाल के सियासी रण में बीजेपी और टीएमसी के बीच जबरदस्त घमासान जारी है। अभी बंगाल में सिर्फ़ दो ही चरणों का मतदान हुआ है और आठ चरणों की वोटिंग बाक़ी है। दूसरे चरण में जिस तरह नंदीग्राम में बीजेपी और टीएमसी आमने-सामने आ गए, उससे साफ है कि आने वाले चरणों में यह सियासी लड़ाई और तेज़ होगी। 

पश्चिम बंगाल में शुक्रवार को सीतलकुची सहित कई जगहों पर आयोजित जनसभाओं में अमित शाह ने कहा कि पिछले दो चरण में जिन 60 सीटों पर मतदान हुआ है, बीजेपी उनमें से 50 सीटों पर जीत हासिल करेगी। शाह ने दावा किया कि बीजेपी उत्तरी बंगाल में भी सभी 50 सीटें जीतेगी। 

शाह ने कहा, “दीदी हम तुम्हारे खेलों से नहीं डरते हैं और हर बीजेपी कार्यकर्ता आपकी दी हुई चुनौतियों से लड़ने के लिए तैयार है।” उन्होंने वादा किया कि बंगाल में बीजेपी की सरकार बनने पर सातवां वेतन आयोग लागू किया जाएगा। 

ताज़ा ख़बरें

शाह ने चेताया और कहा, “टीएमसी के कार्यकर्ता ये नहीं सोचें कि वे बच जाएंगे। ऐसे सभी गुंडों को जिन्होंने भ्रष्टाचार किया है और बीजेपी के कार्यकर्ताओं की हत्या की है, हम सरकार में आने पर उन्हें जेल में डालेंगे, फिर चाहे वे कोयला माफिया हों, रेत माफिया हों या गौ तस्करी करने वाले।” उन्होंने कहा कि दीदी नंदीग्राम में चुनाव हार रही हैं। 

वाराणसी में देंगे चुनौती

दूसरी ओर ममता ने कूच बिहार, अलीपुर दुआर सहित कई जगहों पर चुनावी रैलियां कीं। ममता ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी अपने गृह मंत्री को कंट्रोल करें उसके बाद उन्हें कंट्रोल करने की कोशिश करें। 

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के गुरूवार को एक चुनावी रैली में यह कहने पर कि ममता बनर्जी नंदीग्राम में हार रही हैं और वह दूसरी सीट से चुनाव लड़ने पर विचार कर रही हैं, टीएमसी ने कहा है कि मोदी अपने लिए 2024 में सुरक्षित सीट देख लें क्योंकि उन्हें वाराणसी में चुनौती दी जाएगी। 

BJP TMC campaign in bengal election 2021 - Satya Hindi
BJP TMC campaign in bengal election 2021 - Satya Hindi
ममता ने भी मोदी की इस टिप्पणी पर कहा कि वह नंदीग्राम में जीत हासिल करेंगी। ममता ने एआईएमआईएम सांसद असदउद्दीन ओवैसी पर भी हमला बोला और कहा कि हैदराबाद से आए एक आदमी ने बीजेपी से पैसे ले लिए हैं, लोग उन्हें यहां नहीं आने दें। ओवैसी की पार्टी भी बंगाल में कुछ सीटों पर चुनावी जोर-आजमाइश कर रही है। 
बंगाल चुनाव पर देखिए चर्चा- 

चुनाव आयोग से मिले टीएमसी नेता

शुक्रवार को ही टीएमसी का एक प्रतिनिधिमंडल चुनाव आयोग से मिला और मतदान के दौरान केंद्रीय बलों पर पक्षपात करने का आरोप लगाया। प्रतिनिधिमंडल में पूर्व वित्त मंत्री यशवंत सिन्हा सहित कई नेता शामिल थे। 

सिन्हा ने चुनाव आयोग में शिकायत दर्ज कराने के बाद पत्रकारों से कहा कि नरेंद्र मोदी और अमित शाह दिल्ली से आदेश देकर बंगाल में मतदाताओं को प्रभावित कर रहे हैं। सिन्हा ने कहा कि टीएमसी के प्रतिनिधिमंडल ने चुनाव आयोग को बताया कि चुनाव के पहले दो चरण में कई पोलिंग स्टेशनों पर केंद्रीय बलों का व्यवहार पक्षपाती रहा है और बीजेपी समर्थकों ने टीएमसी के समर्थकों पर हमला किया है। 

पश्चिम बंगाल से और ख़बरें

उन्होंने कहा कि चुनाव आयोग यह सुनिश्चित करे कि आगे के चरणों में मतदान के दौरान ऐसा न हो। बंगाल में कुल 8 चरणों में विधानसभा का चुनाव होना है। सिन्हा ने कहा कि टीएमसी ने ईवीएम में गड़बड़ी का मुद्दा भी उठाया है। 

ममता ने गुरुवार को आरोप लगाया था कि राज्य में स्वतंत्र व निष्पक्ष चुनाव नहीं हो रहे हैं। उन्होंने राज्यपाल जगदीप धनखड़ और चुनाव आयोग से इसकी शिकायत की थी और इसके बाद वे एक बूथ पर धरने पर बैठ गई थीं। व्हील चेयर पर बैठे हुए ही वह कई बूथों तक पहुंचीं थीं। 

सत्य हिन्दी ऐप डाउनलोड करें

गोदी मीडिया और विशाल कारपोरेट मीडिया के मुक़ाबले स्वतंत्र पत्रकारिता का साथ दीजिए और उसकी ताक़त बनिए। 'सत्य हिन्दी' की सदस्यता योजना में आपका आर्थिक योगदान ऐसे नाज़ुक समय में स्वतंत्र पत्रकारिता को बहुत मज़बूती देगा। याद रखिए, लोकतंत्र तभी बचेगा, जब सच बचेगा।

नीचे दी गयी विभिन्न सदस्यता योजनाओं में से अपना चुनाव कीजिए। सभी प्रकार की सदस्यता की अवधि एक वर्ष है। सदस्यता का चुनाव करने से पहले कृपया नीचे दिये गये सदस्यता योजना के विवरण और Membership Rules & NormsCancellation & Refund Policy को ध्यान से पढ़ें। आपका भुगतान प्राप्त होने की GST Invoice और सदस्यता-पत्र हम आपको ईमेल से ही भेजेंगे। कृपया अपना नाम व ईमेल सही तरीक़े से लिखें।
सत्य अनुयायी के रूप में आप पाएंगे:
  1. सदस्यता-पत्र
  2. विशेष न्यूज़लेटर: 'सत्य हिन्दी' की चुनिंदा विशेष कवरेज की जानकारी आपको पहले से मिल जायगी। आपकी ईमेल पर समय-समय पर आपको हमारा विशेष न्यूज़लेटर भेजा जायगा, जिसमें 'सत्य हिन्दी' की विशेष कवरेज की जानकारी आपको दी जायेगी, ताकि हमारी कोई ख़ास पेशकश आपसे छूट न जाय।
  3. 'सत्य हिन्दी' के 3 webinars में भाग लेने का मुफ़्त निमंत्रण। सदस्यता तिथि से 90 दिनों के भीतर आप अपनी पसन्द के किसी 3 webinar में भाग लेने के लिए प्राथमिकता से अपना स्थान आरक्षित करा सकेंगे। 'सत्य हिन्दी' सदस्यों को आवंटन के बाद रिक्त बच गये स्थानों के लिए सामान्य पंजीकरण खोला जायगा। *कृपया ध्यान रखें कि वेबिनार के स्थान सीमित हैं और पंजीकरण के बाद यदि किसी कारण से आप वेबिनार में भाग नहीं ले पाये, तो हम उसके एवज़ में आपको अतिरिक्त अवसर नहीं दे पायेंगे।
सर्वाधिक पढ़ी गयी खबरें

अपनी राय बतायें

पश्चिम बंगाल से और खबरें

ताज़ा ख़बरें

सर्वाधिक पढ़ी गयी खबरें