loader

किस भारतीय ने लिखा राष्ट्रपति बाइडन का पहला भाषण?

अमेरिकी राष्ट्रपति जो बाइडन ने शपथ ग्रहण के तुरन्त बाद कैपिटल हिल में उसी जगह से अपना पहला भाषण दिया, जिसकी बहुत ही तारीफ हो रही है। लीक से हट कर और सबको साथ लेकर चलने का आश्वासन देने वाले उनके जिस भाषण की अमेरिका ही नहीं, पूरी दुनिया में तारीफ़ हो रही है, उसे भारतीय मूल के व्यक्ति ने लिखा था। 

'तेलंगाना बिड्डा'

यह भाषण लिखने वाले विनय रेड्डी जो बाइडन के वरिष्ठ सलाहकार और भाषण लिखने वाली टीम के निदेशक हैं। अमेरिका में पले-बढ़े विनय रेड्डी की जड़ें तेलंगाना के करीम नगर ज़िले में हैं। छोटे से गाँव पोथीरेड्डीपेट के निवासियों को अपने इस 'बिड्डा' (बेटे) के इस ऊंचाई तक पहुँचने पर बहुत ही फ़ख़्र है। 

पूरे गाँव को फ़ख़्र

वे आज भी याद करते हैं कि किस तरह उस्मानिया विश्वविद्यालय से एमबीबीएस करने के बाद नारायण रेड्डी अमेरिका चले गए। नारायण रेड्डी के तीन बेटों में एक विनय का जन्म अमेरिका में ही हुआ, उनकी पालन-पोषण अमेरिकी राज्य ओहायो के डेटन शहर में हुआ और उन्होंने ओहायो विश्वविद्यालय से क़ानून की पढ़ाई की। 

विनय के भतीजे चोल्लेती साई रेड्डी ने टाइम्स ऑफ इंडिया से कहा, 

"मैं बहुत खुश हूं कि मेरे चाचा राष्ट्रपति जो बाइडन के स्पीच राइटर हैं। मेरा पूरा परिवार बहुत ही गौरान्वित है।"


चोल्लेती साई रेड्डी, विनय रेड्डी के भतीजे

साई रेड्डी के पिता चोल्लेती राधाकृष्ण रेड्डी के मुताबिक़, विनय एक बार किशोर उम्र में गाँव गए थे और मंदिर जाकर पूजा की थी। उन्होंने कहा, "वे जहाँ तक पहुँच चुके हैं, हमें उस पर बहुत गौरव है।" 

छोटे से गाँव से अमेरिका का सफ़र

इस गाँव के सरपंच थातीकोंडा पुल्लचारी का कहना है कि उन्होंन 1980 के दशक में विनय रेड्डी के दादा तिरुपति रेड्डी के साथ काम किया है। जब विनय के पिता नारायण रेड्डी का जन्म हुआ, तिरुपति रेड्डी गाँव के प्रधान थे। 

चार साल से सामाजिक विभाजन के शिकार देश के राष्ट्रपति ने अपने पहले ही भाषण में लोगों को नए युग की शुरुआत के प्रति आश्वस्त करने के लिए जो भाषण दिया, उसे लिखने के लिए भारतीय मूल के व्यक्ति को यूं ही नहीं चुना। 

विनय रेड्डी अमेरिका के पर्यावरण सुरक्षा एजेंसी और स्वास्थ्य विभाग में भाषण लिखने का काम कर चुके हैं। वे जो बाइडन के प्रचार टीम में शुरू से ही हैं और प्रचार के दौरान भी उनके भाषण वही तैयार करते थे। उन्होंने उप राष्ट्रपति कमला हैरिस के लिए अनुवाद का काम भी किया है।

बाइडन की टीम में विनय रेड्डी शुरू से ही हैं। जब बाइडन ओबामा प्रशासन में दूसरी बार उप राष्ट्रपति बने और 2012 से 2016 तक इस पद पर रहे, विनय उनके साथ लगातार बने रहे। वे उस चुनाव में बाइडन की प्रचार टीम का भी हिस्सा थे। 

आज विनय व्हाइ हाउस के स्पीच डाइरेक्टर हैं। 

Joe biden inauguration speech written by vinay reddy - Satya Hindi

विनय रेड्डी ने क्या लिखा राष्ट्रपति के पहले भाषण में?

विनय रेड्डी के लिख भाषण में जो बाइडन ने अपने पहले भाषण में एकता पर ज़ोर देते हुए कहा कि देश में एकजुटता की ज़रूरत है। उन्होंने पूर्व राष्ट्रपति अब्राहम लिंकन को उद्धृत करते हुए कहा कि हमें एकता की सबसे अधिक ज़रूरत है। उन्होंने कहा कि अब समय आ गया है कि हम पूरे देश को एकजुट करें और सही अर्थों में इसे संयुक्त राज्य अमेरिका बनाएं। 

बाइडन ने कहा, "लोकतंत्र में अलग-अलग मत होते हैं, अमेरिका में भी हैं। लेकिन अमेरिका की यह खूबी है कि विचारों के अंतर से फूट नहीं पड़ती है, एक-दूसरे के ख़िलाफ नहीं हो जाते हैं। हम सब अलग-अलग विचारों के साथ मिल कर एक साथ रहते हैं।" 

क्या कहा बाइडन ने?

यह बड़ी बात थी कि डोनल्ड ट्रंप और उनके समर्थको के इतने भड़काऊ कृत्यों के बावजूद बाइडन के भाषण में थोड़ी भी कटुता नहीं थी। बाइडन ने कहा, "लोकतंत्र में अलग-अलग मत होते हैं, अमेरिका में भी हैं। लेकिन अमेरिका की यह खूबी है कि विचारों के अंतर से फूट नहीं पड़ती है, एक-दूसरे के ख़िलाफ नहीं हो जाते हैं। हम सब अलग-अलग विचारों के साथ मिल कर एक साथ रहते हैं।" 

जो बाइडन ने एकता पर ज़ोर देते हुए कहा, "मैं आप सब को आश्वस्त करता हूँ कि मैं सबका राष्ट्रपति बनूँगा, सबको साथ लेकर चलूँगा।"

और यह भाषण भले ही जो बाइडन पढ़ रहे थे, पर इसे लिखा था भारतीय मूल के अमेरिकी नागरिक विनय रेड्डी ने। 

सत्य हिन्दी ऐप डाउनलोड करें

'सत्य हिन्दी'
की ताक़त बनिए


गोदी मीडिया और विशाल कारपोरेट मीडिया के मुक़ाबले स्वतंत्र पत्रकारिता का साथ दीजिए और उसकी ताक़त बनिए। 'सत्य हिन्दी' की सदस्यता योजना में आपका आर्थिक योगदान ऐसे नाज़ुक समय में स्वतंत्र पत्रकारिता को बहुत मज़बूती देगा। याद रखिए, लोकतंत्र तभी बचेगा, जब सच बचेगा।

नीचे दी गयी विभिन्न सदस्यता योजनाओं में से अपना चुनाव कीजिए। सभी प्रकार की सदस्यता की अवधि एक वर्ष है। सदस्यता का चुनाव करने से पहले कृपया नीचे दिये गये सदस्यता योजना के विवरण और Membership Rules & NormsCancellation & Refund Policy को ध्यान से पढ़ें। आपका भुगतान प्राप्त होने की GST Invoice और सदस्यता-पत्र हम आपको ईमेल से ही भेजेंगे। कृपया अपना नाम व ईमेल सही तरीक़े से लिखें।
सत्य अनुयायी के रूप में आप पाएंगे:
  1. सदस्यता-पत्र
  2. विशेष न्यूज़लेटर: 'सत्य हिन्दी' की चुनिंदा विशेष कवरेज की जानकारी आपको पहले से मिल जायगी। आपकी ईमेल पर समय-समय पर आपको हमारा विशेष न्यूज़लेटर भेजा जायगा, जिसमें 'सत्य हिन्दी' की विशेष कवरेज की जानकारी आपको दी जायेगी, ताकि हमारी कोई ख़ास पेशकश आपसे छूट न जाय।
  3. 'सत्य हिन्दी' के 3 webinars में भाग लेने का मुफ़्त निमंत्रण। सदस्यता तिथि से 90 दिनों के भीतर आप अपनी पसन्द के किसी 3 webinar में भाग लेने के लिए प्राथमिकता से अपना स्थान आरक्षित करा सकेंगे। 'सत्य हिन्दी' सदस्यों को आवंटन के बाद रिक्त बच गये स्थानों के लिए सामान्य पंजीकरण खोला जायगा। *कृपया ध्यान रखें कि वेबिनार के स्थान सीमित हैं और पंजीकरण के बाद यदि किसी कारण से आप वेबिनार में भाग नहीं ले पाये, तो हम उसके एवज़ में आपको अतिरिक्त अवसर नहीं दे पायेंगे।
सर्वाधिक पढ़ी गयी खबरें

अपनी राय बतायें

दुनिया से और खबरें

ताज़ा ख़बरें

सर्वाधिक पढ़ी गयी खबरें