loader
फ़ोटो साभार: ट्विटर/@AuroraIntel/वीडियो ग्रैब

यूएई में संभावित ड्रोन हमले के विस्फोट में 2 भारतीय मारे गए 

संयुक्त अरब अमीरात यानी यूएई के अबू धाबी में एक संभावित ड्रोन हमले में दो भारतीय मारे गए हैं। अबू धाबी पुलिस के अनुसार हमले में कुल मिलाकर तीन लोगों की मौत हुई है और कम से कम 6 लोग घायल हुए हैं।

पुलिस ने कहा है कि अबू धाबी में सोमवार को एक संभावित ड्रोन हमले से तीन तेल टैंकरों में विस्फोट हुआ और अबू धाबी अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डे के बाहरी क्षेत्रों में आग लग गई। अबू धाबी पुलिस ने मृतकों की पहचान दो भारतीय नागरिकों और एक पाकिस्तानी नागरिक के रूप में की है। इसने घायलों की पहचान नहीं की है। इनके बारे में पुलिस ने कहा है कि उन्हें मामूली या मध्यम दर्जे की चोटें आई हैं। यूएई में भारतीय दूतावास ने कहा है कि 'संयुक्त अरब अमीरात के अधिकारियों ने जानकारी दी है कि एडीएनओसी के भंडारण टैंकों के पास मुसाफा में विस्फोट में 3 लोग हताहत हुए हैं, जिनमें से 2 भारतीय नागरिक भी शामिल हैं। मिशन अधिक जानकारी के लिए संबंधित संयुक्त अरब अमीरात के अधिकारियों के साथ निकट संपर्क में है।'

हूती सैन्य प्रवक्ता याह्या सारी ने बाद में प्रसारक अलमासिरा को बताया कि वे जल्द ही यूएई क्षेत्र में अपने सैन्य अभियान का विवरण देंगे।

एक रिपोर्ट के अनुसार, ये धमाके अबू धाबी नेशनल ऑयल कंपनी के पेट्रोल ले जा रहे टैंकरों में हुए। रिपोर्टों में कहा गया है कि शुरुआती जाँच में सामने आया है कि टैंकरों में आग लगने से ठीक पहले आसमान में ड्रोन जैसी चीज देखी गई थीं। अबू धाबी पुलिस ने भी आशंका जताई है कि तीन तेल टैंकरों व हवाई अड्डे के बाहरी क्षेत्र में आग ड्रोन में विस्फोट के ज़रिए लगी हो।

ताज़ा ख़बरें
हमले के बाद वहाँ आग लगने के वीडियो को सोशल मीडिया पर शेयर किया गया है जिसमें देखा जा सकता है कि धुएँ का गुबार उठ रहा है।
अबू धाबी में हमले की यह घटना तब हुई है जब यूएई के जहाज पर हूतियों ने कब्जा कर लिया था। इस घटना को लेकर संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद ने निंदा की थी और जहाज व उसके क्रू सदस्यों को तुरंत रिहा करने को कहा था। 
दुनिया से और ख़बरें

बता दें कि यमन वर्षों से युद्ध झेल रहा है। यमन राष्ट्रपति अब्दराबुह मंसूर हादी के नेतृत्व वाले सरकारी बलों और हूती विद्रोहियों के बीच संघर्ष में घिर गया है। मार्च 2015 से हादी की सेना के साथ काम करने वाला एक सऊदी नेतृत्व वाला अरब गठबंधन हूतियों के ख़िलाफ़ हवाई, ज़मीनी और समुद्री अभियान चला रहा है।

इस बीच हूती हमलावर रहे हैं। पिछले साल अगस्त में हूती विद्रोहियों ने सऊदी अरब के एयरपोर्ट को निशाना बनाया था। पिछले साल फ़रवरी में भी हूतियों ने सऊदी अरब के एक एयरपोर्ट पर ड्रोन से हमला किया था। यह पहली बार है जब हूतियों ने यूएई के किसी एयरपोर्ट पर हमला किया है।

सत्य हिन्दी ऐप डाउनलोड करें

गोदी मीडिया और विशाल कारपोरेट मीडिया के मुक़ाबले स्वतंत्र पत्रकारिता का साथ दीजिए और उसकी ताक़त बनिए। 'सत्य हिन्दी' की सदस्यता योजना में आपका आर्थिक योगदान ऐसे नाज़ुक समय में स्वतंत्र पत्रकारिता को बहुत मज़बूती देगा। याद रखिए, लोकतंत्र तभी बचेगा, जब सच बचेगा।

नीचे दी गयी विभिन्न सदस्यता योजनाओं में से अपना चुनाव कीजिए। सभी प्रकार की सदस्यता की अवधि एक वर्ष है। सदस्यता का चुनाव करने से पहले कृपया नीचे दिये गये सदस्यता योजना के विवरण और Membership Rules & NormsCancellation & Refund Policy को ध्यान से पढ़ें। आपका भुगतान प्राप्त होने की GST Invoice और सदस्यता-पत्र हम आपको ईमेल से ही भेजेंगे। कृपया अपना नाम व ईमेल सही तरीक़े से लिखें।
सत्य अनुयायी के रूप में आप पाएंगे:
  1. सदस्यता-पत्र
  2. विशेष न्यूज़लेटर: 'सत्य हिन्दी' की चुनिंदा विशेष कवरेज की जानकारी आपको पहले से मिल जायगी। आपकी ईमेल पर समय-समय पर आपको हमारा विशेष न्यूज़लेटर भेजा जायगा, जिसमें 'सत्य हिन्दी' की विशेष कवरेज की जानकारी आपको दी जायेगी, ताकि हमारी कोई ख़ास पेशकश आपसे छूट न जाय।
  3. 'सत्य हिन्दी' के 3 webinars में भाग लेने का मुफ़्त निमंत्रण। सदस्यता तिथि से 90 दिनों के भीतर आप अपनी पसन्द के किसी 3 webinar में भाग लेने के लिए प्राथमिकता से अपना स्थान आरक्षित करा सकेंगे। 'सत्य हिन्दी' सदस्यों को आवंटन के बाद रिक्त बच गये स्थानों के लिए सामान्य पंजीकरण खोला जायगा। *कृपया ध्यान रखें कि वेबिनार के स्थान सीमित हैं और पंजीकरण के बाद यदि किसी कारण से आप वेबिनार में भाग नहीं ले पाये, तो हम उसके एवज़ में आपको अतिरिक्त अवसर नहीं दे पायेंगे।
सर्वाधिक पढ़ी गयी खबरें

अपनी राय बतायें

दुनिया से और खबरें

ताज़ा ख़बरें

सर्वाधिक पढ़ी गयी खबरें