loader

123 सीटों पर काँटे की टक्कर, कभी भी बदल सकता है मंजर

ऐसे समय जब बिहार विधानसभा चुनाव के लिए मतगणना जारी है और एनडीए व महागठबंधन के बीच काँटे की टक्कर है, स्थिति पेचीदिगियों से भरी हुई है। इस काँटे की टक्कर के बीच यह भी ख़बर मिल रही है कि 123 ऐसी सीटें हैं, जहां एनडीए-महागठबंधन के बीच 3,000 से भी कम वोटों का अंतर है। यह अंतर पाटा जा सकता है और नतीजा किसी भी उम्मीदवार के पक्ष में जा सकता है। यदि ऐसा होता है तो देखते ही देखते मंजर बदल भी सकता है। 
चुनाव आयोग की आधिकारिक वेबसाइट पर जो आँकड़े दिख रहे हैं, उसके मुताबिक़, दोपहर बाद 1 बजे 166 सीटें ऐसी थीं, जिन पर एनडीए-महागबंधन के उम्मीदवारों के बीच पर वोटों का अंतर 5,000 से भी कम था। 3,000 से कम वोटों के अंतर वाले सीटों की संख्या 123 थी तो 2,000 वोटों से कम का अंतर 80 सीटों पर चल रहा था। एक हज़ार से कम का अंतर 49 सीटों पर था। 
सबसे दिलचस्प मामला तो यह है कि 20 सीटों पर वोटों का अंतर 500 से भी कम है। इससे भी मजेदार बात यह है कि 7 सीटें ऐसी हैं जहां वोटों का अंतर 200 से भी कम है।
ख़ास ख़बरें

99 सीटों पर काँटे की टक्कर

  • 7 सीटों पर वोटों का अंतर 200 से कम।
  • 23 सीटों पर वोटों का अंतर 500 से कम।
  • 49 सीटों पर वोटों का अंतर 1,000 से कम।
  • 80 सीटों पर वोटों का अंतर 2,000 से कम।
  • 123 सीटों पर वोटों का अंतर 3,000 से कम।
  • 166 सीटों पर वोटों का अंतर 5,000 से कम। 
जिन सीटों पर 1,000 वोटों से भी कम का अंतर है, उनमें एनडीए 36 सीटों पर आगे चल रहा है। इसके अलावा महागठबंधन 27 और लोक जनशक्ति पार्टी 1 सीट पर आगे है। इसके साथ ही अन्य उम्मीदवार 6 सीटों पर बढ़त बनाए हुए हैं।
बेलागंज में राजद जेडीयू से 113 वोट आगे, आरा में सीपीआई (एमएल) बीजेपी से 126 वोट आगे चल रही थी। इसी तरह फूलपरास में जेडीयू, फतुहा में बीजेपी, सीतामढ़ी में बीजेपी, वारिसनगर में जेडीयू, दिनारा में राजद, बढ़ड़िया से राजद, राजगीर से कांग्रेस मामूली बढ़त पर है। कहलगांव से बीजेपी, पटना साहिब से बीजेपी, गया शहर से भी बीजेपी बेहद मामूली वोटों के अंतर से आगे चल रही है। 
कसबा सीट पर लोजपा के उम्मीदवार कांग्रेस के उम्मीदवार से 5 वोटों से आगे चल रहे थे, छपरा सीट पर राजद के उम्मीदवार बीजेपी के उम्मीदवार से 6 वोटों से आगे थे। मढौरा में जेडीयू उम्मीदवार राजद से 10 वोट आगे, सरायरंजन में जेडीयू उम्मीदवार राजद से 22 वोट आगे चल रहे थे।

एनडीए को बढ़त

ताजा जानकारी के मुताबिक एनडीए 127 सीटों पर आगे चल रही है। महागठबंधन ने 103 सीटों पर बढ़त बना रखी है। बीजेपी राज्य की सबसे बड़ी पार्टी बनकर उभर है। बीजेपी फिलहाल 73 सीटों पर आगे चल रही है। दूसरी ओर, आरजेडी दूसरी बड़ी पार्टी बन कर उभरी है। आरजेडी फिलहाल 64 सीटों पर आगे चल रही है।
bihar assembly election : nda leads in more tug of war seats than great alliance - Satya Hindi
चुनाव आयोग की आधिकारिक वेबसाइट पर विस्तृत जानकारी दी गई है। 
bihar assembly election : nda leads in more tug of war seats than great alliance - Satya Hindi

मनोज झा : गिनती धीमी जानबूझ कर

राष्ट्रीय जनता दल के सांसद व प्रवक्ता मनोज झा ने उम्मीद जताई है कि महागठबंधन निश्चित तौर पर चुनाव जीतेगा।  उन्होंने कहा कि उन्हें जानकारी है कि इस समय ही महागठबंधन को 124 सीटों पर बढ़त हासिल है, जो दिख नहीं रहा है।' इसके साथ ही उन्होंने यह आरोप भी लगाया है कि 'वोटों की गिनती जानबूझ कर धीमी रखी गई है।' झा ने महागठबंधन के उम्मीदवारों से कहा है वे मतगणना केंद्र से जीत का सर्टिफिकेट लेकर ही बाहर निकलें। 

सत्य हिन्दी ऐप डाउनलोड करें

गोदी मीडिया और विशाल कारपोरेट मीडिया के मुक़ाबले स्वतंत्र पत्रकारिता का साथ दीजिए और उसकी ताक़त बनिए। 'सत्य हिन्दी' की सदस्यता योजना में आपका आर्थिक योगदान ऐसे नाज़ुक समय में स्वतंत्र पत्रकारिता को बहुत मज़बूती देगा। याद रखिए, लोकतंत्र तभी बचेगा, जब सच बचेगा।

नीचे दी गयी विभिन्न सदस्यता योजनाओं में से अपना चुनाव कीजिए। सभी प्रकार की सदस्यता की अवधि एक वर्ष है। सदस्यता का चुनाव करने से पहले कृपया नीचे दिये गये सदस्यता योजना के विवरण और Membership Rules & NormsCancellation & Refund Policy को ध्यान से पढ़ें। आपका भुगतान प्राप्त होने की GST Invoice और सदस्यता-पत्र हम आपको ईमेल से ही भेजेंगे। कृपया अपना नाम व ईमेल सही तरीक़े से लिखें।
सत्य अनुयायी के रूप में आप पाएंगे:
  1. सदस्यता-पत्र
  2. विशेष न्यूज़लेटर: 'सत्य हिन्दी' की चुनिंदा विशेष कवरेज की जानकारी आपको पहले से मिल जायगी। आपकी ईमेल पर समय-समय पर आपको हमारा विशेष न्यूज़लेटर भेजा जायगा, जिसमें 'सत्य हिन्दी' की विशेष कवरेज की जानकारी आपको दी जायेगी, ताकि हमारी कोई ख़ास पेशकश आपसे छूट न जाय।
  3. 'सत्य हिन्दी' के 3 webinars में भाग लेने का मुफ़्त निमंत्रण। सदस्यता तिथि से 90 दिनों के भीतर आप अपनी पसन्द के किसी 3 webinar में भाग लेने के लिए प्राथमिकता से अपना स्थान आरक्षित करा सकेंगे। 'सत्य हिन्दी' सदस्यों को आवंटन के बाद रिक्त बच गये स्थानों के लिए सामान्य पंजीकरण खोला जायगा। *कृपया ध्यान रखें कि वेबिनार के स्थान सीमित हैं और पंजीकरण के बाद यदि किसी कारण से आप वेबिनार में भाग नहीं ले पाये, तो हम उसके एवज़ में आपको अतिरिक्त अवसर नहीं दे पायेंगे।
सर्वाधिक पढ़ी गयी खबरें

अपनी राय बतायें

बिहार से और खबरें

ताज़ा ख़बरें

सर्वाधिक पढ़ी गयी खबरें