loader

केजरीवाल क्यों बोले, सिसोदिया की गिरफ़्तारी की तैयारी?

दिल्ली की नई आबकारी नीति की सीबीआई जाँच की दिल्ली के एलजी विनय कुमार सक्सेना की सिफारिश और उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया का नाम लेकर आरोप लगाए जाने पर सियासत गर्मा गई है। दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने कहा है कि उनको पता चला है कि सीबीआई मनीष सिसोदिया को गिरफ़्तार करने वाली है। केजरीवाल ने यह भी कहा कि उन्होंने तो तीन-चार महीने पहले ही यह बता दिया था।

मुख्यमंत्री ने कहा, 'सीबीआई जल्द ही एक फ़र्ज़ी केस में मनीष सिसोदिया को गिरफ़्तार करने वाली है। मनीष एक कट्टर ईमानदार आदमी हैं, जिन पर झूठे आरोप लगाये जा रहे हैं। अब देश में नया सिस्टम लागू हो गया है। पहले तय किया जाता है किसे जेल भेजना है, फ़िर उसके ख़िलाफ़ फ़र्ज़ी केस बनाया जाता है।'

अरविंद केजरीवाल ने एक बयान जारी कर कहा है, '3-4 महीने पहले जब इनके (केंद्र) लोगों ने बताया कि वे मनीष सिसोदिया को गिरफ़्तार करने वाले हैं तो मैंने कहा कि मनीष ने क्या कर दिया? क्या केस है? तो उन्होंने बताया कि कोई केस नहीं है, कुछ मिला नहीं है, ढूंढ रहे हैं, कुछ बना रहे हैं...।'

केजरीवाल ने कहा कि उन्हें जेल से डर नहीं लगता है। उन्होंने कहा, 'तुम्हें जेल से डर लगता होगा। तुमलोग सावरकर की औलाद हो, जिसने अंग्रेज़ों से माफ़ी मांगी थी। हमें जेल से डर नहीं लगता। हम भगत सिंह को अपना आदर्श मानते हैं जिन्होंने अंग्रेज़ों के सामने झुकने से मना कर दिया और फांसी पर लटक गए।'

इधर, मनीष सिसोदिया ने प्रतिक्रिया में कहा है, "मोदीजी केजरीवाल जी से बहुत डरते हैं। मोदीजी से लोगों का मोहभंग हो गया है। अब केजरीवाल जी से ही देश को उम्मीद है। जैसे जैसे 'आप' का देश भर में प्रभाव बढ़ेगा, अभी और बहुत झूठे केस होंगे। पर अब कोई जेल केजरीवाल जी और 'आप' को नहीं रोक सकती। भविष्य 'आप' का है, भविष्य भारत का है।"

ताज़ा ख़बरें

उनकी यह प्रतिक्रिया तब आई है जब दिल्ली के उपराज्यपाल विनय कुमार सक्सेना ने आज ही अरविंद केजरीवाल के नेतृत्व वाली सरकार की विवादास्पद नई आबकारी नीति की जाँच एजेंसी केंद्रीय जाँच ब्यूरो से कराने की सिफारिश की है।

सक्सेना ने दिल्ली के उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया पर एलजी की मंजूरी के बिना लाइसेंसधारियों को लाभ देने का आरोप लगाया। उन्होंने आगे आरोप लगाया कि आप सरकार ने पंजाब चुनाव के लिए लाइसेंस देने के पैसे का इस्तेमाल किया। एलजी के इस फ़ैसले के बाद उनकी आप सरकार के साथ तनातनी तो बढ़ेगी ही, अब सीबीआई जाँच के आदेश होने पर केजरीवाल की मुश्किलें भी काफी ज़्यादा बढ़ जाएँगी। आप ने आरोप लगाया है कि केंद्र दिल्ली सरकार के काम को रोकना चाहती है।

एलजी की विज्ञप्ति में कहा गया है कि मुख्य सचिव द्वारा 8 जुलाई को दी गई एक रिपोर्ट से क़ानून के कई उल्लंघनों का पता चलता है। इसमें यह भी आरोप लगाया गया है कि शराब लाइसेंसधारियों को टेंडर के बाद अनुचित लाभ देने के लिए जानबूझकर और प्रक्रियात्मक खामियाँ की गई हैं।

दिल्ली के उपराज्यपाल के आरोपों पर आप नेता सौरभ भारद्वाज ने आरोप लगाया है कि केंद्र दिल्ली सरकार के काम में बाधा डालने के लिए हर तरह की कोशिश कर रहा है। उन्होंने कहा, 'हम कह रहे थे कि 2016 की स्थिति वापस आ जाएगी, हमें रोकने के लिए सीबीआई, आयकर, ईडी द्वारा पूछताछ शुरू की जाएगी। वे हमारे काम में बाधा डालने के लिए हर तरह की कोशिश कर रहे हैं। वे हमारे स्वास्थ्य मंत्री सत्येंद्र जैन के बाद उप मुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया के पीछे पड़े थे।'

दिल्ली से और ख़बरें

आप नेता ने आरोप लगाया कि दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल की बढ़ती प्रतिष्ठा से केंद्र को ख़तरा है। उन्होंने एएनआई को बताया, 'हम कह रहे थे, खासकर पंजाब की जीत के बाद, कि बीजेपी की केंद्र सरकार हमसे डरी हुई है। आने वाले दिनों में कई पूछताछ शुरू की जाएगी।'

बता दें कि केजरीवाल सरकार के एक और मंत्री सत्येंद्र जैन जेल में हैं। उन पर मनी लॉन्ड्रिंग करने समेत कई तरह के आरोप लगे हैं। ईडी ने उन्हें गिरफ्तार किया है। 

सत्य हिन्दी ऐप डाउनलोड करें

गोदी मीडिया और विशाल कारपोरेट मीडिया के मुक़ाबले स्वतंत्र पत्रकारिता का साथ दीजिए और उसकी ताक़त बनिए। 'सत्य हिन्दी' की सदस्यता योजना में आपका आर्थिक योगदान ऐसे नाज़ुक समय में स्वतंत्र पत्रकारिता को बहुत मज़बूती देगा। याद रखिए, लोकतंत्र तभी बचेगा, जब सच बचेगा।

नीचे दी गयी विभिन्न सदस्यता योजनाओं में से अपना चुनाव कीजिए। सभी प्रकार की सदस्यता की अवधि एक वर्ष है। सदस्यता का चुनाव करने से पहले कृपया नीचे दिये गये सदस्यता योजना के विवरण और Membership Rules & NormsCancellation & Refund Policy को ध्यान से पढ़ें। आपका भुगतान प्राप्त होने की GST Invoice और सदस्यता-पत्र हम आपको ईमेल से ही भेजेंगे। कृपया अपना नाम व ईमेल सही तरीक़े से लिखें।
सत्य अनुयायी के रूप में आप पाएंगे:
  1. सदस्यता-पत्र
  2. विशेष न्यूज़लेटर: 'सत्य हिन्दी' की चुनिंदा विशेष कवरेज की जानकारी आपको पहले से मिल जायगी। आपकी ईमेल पर समय-समय पर आपको हमारा विशेष न्यूज़लेटर भेजा जायगा, जिसमें 'सत्य हिन्दी' की विशेष कवरेज की जानकारी आपको दी जायेगी, ताकि हमारी कोई ख़ास पेशकश आपसे छूट न जाय।
  3. 'सत्य हिन्दी' के 3 webinars में भाग लेने का मुफ़्त निमंत्रण। सदस्यता तिथि से 90 दिनों के भीतर आप अपनी पसन्द के किसी 3 webinar में भाग लेने के लिए प्राथमिकता से अपना स्थान आरक्षित करा सकेंगे। 'सत्य हिन्दी' सदस्यों को आवंटन के बाद रिक्त बच गये स्थानों के लिए सामान्य पंजीकरण खोला जायगा। *कृपया ध्यान रखें कि वेबिनार के स्थान सीमित हैं और पंजीकरण के बाद यदि किसी कारण से आप वेबिनार में भाग नहीं ले पाये, तो हम उसके एवज़ में आपको अतिरिक्त अवसर नहीं दे पायेंगे।
सर्वाधिक पढ़ी गयी खबरें

अपनी राय बतायें

दिल्ली से और खबरें

ताज़ा ख़बरें

सर्वाधिक पढ़ी गयी खबरें