loader

दिल्ली: नेगेटिव आया सीएम केजरीवाल का कोरोना टेस्ट

दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल का कोरोना टेस्ट नेगेटिव आया है। केजरीवाल को रविवार को बुखार के साथ गले में खराश की भी परेशानी हुई थी। इसके बाद उन्होंने रविवार दोपहर के बाद से ही सभी बैठकों को रद्द कर दिया था और ख़ुद को आइसोलेट कर लिया था। 

मंगलवार सुबह उनका कोरोना टेस्ट किया गया था। शाम को इसकी रिपोर्ट आई। केजरीवाल को डायबिटीज की भी समस्या है। सभी राजनीतिक दलों के नेताओं ने केजरीवाल के जल्द स्वस्थ होने की कामना की थी। 

ताज़ा ख़बरें
इस बीच, दिल्ली के उप मुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने मंगलवार को कहा है कि कोरोना संक्रमण के मामले इसी रफ़्तार के साथ बढ़ते रहे तो 31 जुलाई तक राजधानी में संक्रमण के मामलों की संख्या 5.5 लाख तक पहुंच सकती है। 

सिसोदिया ने कहा, ‘इसीलिए, दिल्ली की कैबिनेट ने यह फ़ैसला लिया था कि अभी कुछ समय तक जब तक कोरोना का संकट है, तब तक दिल्ली सरकार के अस्पतालों के बेड्स को दिल्ली वालों के लिए ही रिजर्व करके रखा जाए।’ 

दिल्ली से और ख़बरें

दिल्ली के अस्पतालों के बेड्स को दिल्ली वालों के लिए ही रिजर्व रखे जाने के केजरीवाल सरकार के फ़ैसले को उप राज्यपाल अनिल बैजल पलट चुके हैं। लेकिन सिसोदिया का बयान चिंता पैदा करता है क्योंकि इतनी बड़ी संख्या में अगर लोग कोरोना संक्रमित होते हैं या इस आंकड़े के आधी संख्या में भी लोग संक्रमित हुए तो हालात कितने भयावह होंगे, इसका अंदाजा भी लगाना मुश्किल है।

मंगलवार को ही दिल्ली सरकार के स्वास्थ्य मंत्री सत्येंद्र जैन ने भी कहा है कि राजधानी में कोरोना का कम्युनिटी स्प्रेड शुरू हो गया है लेकिन केंद्र सरकार जब इसे आधिकारिक तौर पर घोषित करेगी तभी इसे माना जाएगा। उन्होंने कहा कि राजधानी में लगभग आधे केस ऐसे आ रहे हैं जिसमें लोगों को यह नहीं पता चल रहा है कि उन्हें कोरोना वायरस का संक्रमण कहां से हुआ है और यही कम्युनिटी स्प्रेड है। स्वास्थ्य मंत्री के बयान का सीधा मतलब है कि इन हालात में दिल्ली में कोरोना संक्रमण के मामले और बढ़ सकते हैं। 

Satya Hindi Logo सत्य हिंदी सदस्यता योजना जल्दी आने वाली है।
सर्वाधिक पढ़ी गयी खबरें

अपनी राय बतायें

दिल्ली से और खबरें

ताज़ा ख़बरें

सर्वाधिक पढ़ी गयी खबरें