loader

क्या अशोक गहलोत ने बोला 'कांग्रेस' का अंत निश्चित है? 

राजस्थान के मुख़्यमंत्री अशोक गहलोत की प्रेस काॅन्फ्रेंस का एक वीडियो सोशल मीडिया पर ख़ूब वायरल हो रहा है। इस वीडियो में गहलोत कहते हुए दिख रहे हैं कि 'यूपीए का अंत निश्चित है। एनडीए सरकार में आ जाए तो आश्चर्य मत करना।' अशोक गहलोत के इस वीडियो को कई फ़ेसबुक यूजर्स ने शेयर किया है। जिसमें 'सोशल तमाशा', 'मोदी सेना' और 'एक बार मोदी सरकार' जैसे फे़सबुक पेज शामिल हैं।
इसी वीडियो को बीजेपी आईटी सेल के चीफ़ अमित मालवीय ने भी ट्विटर पर शेयर करते हुए लिखा, 'अशोक गहलोत कभी-कभी ही सच बोलते हैं।'
इसके अलावा 'छोटा खलनायक' नाम के एक ट्विटर यूजर ने इस वीडियो को ट्वीट करते हुए लिखा, 'लगता है चित्तौड़गढ़ की प्योर अफ़ीम खाई है गहलोत साहब ने, तभी तो उनके मुंह से सच्ची बात निकल रही है।'
थोड़े ही समय में अशोक गहलोत का ये वीडियो सोशल मीडिया पर आग की तरह फ़ैल गया। बड़े पैमाने पर लोग इस वीडियो पर प्रतिक्रियाएं दे रहे हैं।
congress is going to loose in upcoming election says rajashthan cm ashok gehlot - Satya Hindi
वायरल वीडियो पर लोगों की प्रतिक्रियाएं

वीडियो की सच्चाई

ये बात सच है, कि अशोक गहलोत प्रेस काॅन्फ्रेंस के दौरान बोल गए कि ‘यूपीए निश्चित रूप से अंत की तरफ जा रही है और एनडीए सरकार सत्ता में आ जाएगी।’ लेकिन असल में वह कहना चाहते थे कि एनडीए निश्चित रूप से अंत की तरफ़ जा रहा है और यूपीए सत्ता में आएगा। यानी, जुबान फ़िसलने की वजह से उनके मुँह से गलत शब्द निकल गया। लेकिन वीडियो में यह भी दिखाई दे रहा है कि साथ में खड़े उप मुख्यमंत्री सचिन पायलट ने उन्हें सही किया। 

जिसके बाद उन्होंने फ़ौरन ही अपने शब्दों को सही करते हुए कहा कि एनडीए सरकार का अंत निश्चित है। लेकिन वीडियो के इस भाग को एडिट कर सोशल मीडिया पर अफ़वाह फैलाई गई कि गहलोत के मुँह से पहली बार सच निकला है। जब आप पूरा वीडियो देखेंगे तो आपको पता चलेगा कि असल माजरा कुछ ओर ही है। पूरा वीडियो देखने कि लिए यहाँ क्लिक करें।  

'सत्य हिन्दी'
की ताक़त बनिए

गोदी मीडिया और विशाल कारपोरेट मीडिया के मुक़ाबले स्वतंत्र पत्रकारिता का साथ दीजिए और उसकी ताक़त बनिए। 'सत्य हिन्दी' की सदस्यता योजना में आपका आर्थिक योगदान ऐसे नाज़ुक समय में स्वतंत्र पत्रकारिता को बहुत मज़बूती देगा। याद रखिए, लोकतंत्र तभी बचेगा, जब सच बचेगा।

नीचे दी गयी विभिन्न सदस्यता योजनाओं में से अपना चुनाव कीजिए। सभी प्रकार की सदस्यता की अवधि एक वर्ष है। सदस्यता का चुनाव करने से पहले कृपया नीचे दिये गये सदस्यता योजना के विवरण और Membership Rules & NormsCancellation & Refund Policy को ध्यान से पढ़ें। आपका भुगतान प्राप्त होने की GST Invoice और सदस्यता-पत्र हम आपको ईमेल से ही भेजेंगे। कृपया अपना नाम व ईमेल सही तरीक़े से लिखें।
सत्य अनुयायी के रूप में आप पाएंगे:
  1. सदस्यता-पत्र
  2. विशेष न्यूज़लेटर: 'सत्य हिन्दी' की चुनिंदा विशेष कवरेज की जानकारी आपको पहले से मिल जायगी। आपकी ईमेल पर समय-समय पर आपको हमारा विशेष न्यूज़लेटर भेजा जायगा, जिसमें 'सत्य हिन्दी' की विशेष कवरेज की जानकारी आपको दी जायेगी, ताकि हमारी कोई ख़ास पेशकश आपसे छूट न जाय।
  3. 'सत्य हिन्दी' के 3 webinars में भाग लेने का मुफ़्त निमंत्रण। सदस्यता तिथि से 90 दिनों के भीतर आप अपनी पसन्द के किसी 3 webinar में भाग लेने के लिए प्राथमिकता से अपना स्थान आरक्षित करा सकेंगे। 'सत्य हिन्दी' सदस्यों को आवंटन के बाद रिक्त बच गये स्थानों के लिए सामान्य पंजीकरण खोला जायगा। *कृपया ध्यान रखें कि वेबिनार के स्थान सीमित हैं और पंजीकरण के बाद यदि किसी कारण से आप वेबिनार में भाग नहीं ले पाये, तो हम उसके एवज़ में आपको अतिरिक्त अवसर नहीं दे पायेंगे।
सर्वाधिक पढ़ी गयी खबरें

अपनी राय बतायें

असत्य से और खबरें

ताज़ा ख़बरें

सर्वाधिक पढ़ी गयी खबरें