loader

गोवा: कांग्रेस के बाद ममता की एनसीपी में सेंध, पूर्व सीएम को तोड़ा 

पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने कांग्रेस के बाद अब एनसीपी में सेंध लगा दी है। गोवा में एनसीपी के एकमात्र विधायक चर्चिल अलेमाओ एनसीपी से इस्तीफ़ा देकर टीएमसी में शामिल हो गए हैं। 

ममता बनर्जी दो दिन के गोवा दौरे पर पहुंची हैं। ममता की पूरी कोशिश राज्य में सरकार बनाने की है और बीते दिनों में टीएमसी ने यहां अपने चुनाव प्रचार को तेज़ किया है। 

ममता बनर्जी से शायद यह उम्मीद एनसीपी मुखिया शरद पवार को भी नहीं रही होगी कि वे उन्हें गोवा में झटका दे सकती हैं। जबकि ममता ने कुछ दिन पहले ही शरद पवार से महाराष्ट्र जाकर मुलाक़ात की थी। 

ताज़ा ख़बरें

बड़े नेता हैं अलेमाओ 

चर्चिल अलेमाओ गोवा के मुख्यमंत्री भी रह चुके हैं। वह राज्य सरकार में पीडब्ल्यूडी जैसे अहम विभाग के मंत्री रहने के अलावा सांसद भी रह चुके हैं। उन्होंने दो बार अपनी पार्टी भी बनाई थी और वह कांग्रेस के साथ भी रहे हैं। 

अलेमाओ पर 300 करोड़ रुपये के भ्रष्टाचार के मामले में संगीन आरोप लगे थे। उन पर आरोप था कि उन्होंने सड़कों की मरम्मत के निर्माण को लेकर टेंडर नोटिस निकालने में अपने पद का इस्तेमाल करते हुए फर्जीवाड़ा किया था जिससे उनके चहेते ठेकेदारों को फ़ायदा मिल सके। हालांकि अदालत ने उन्हें इस आरोप से बरी कर दिया था।  

NCP MLA Churchill Alemao joins TMC  - Satya Hindi

मिशन में जुटे फलेरो 

ममता ने इससे पहले गोवा के पूर्व मुख्यमंत्री और कांग्रेस नेता लुइजिन्हो फलेरो को भी टीएमसी में शामिल कर लिया था और उन्हें राज्यसभा भी भेजा था। फलेरो गोवा में टीएमसी का विस्तार करने में जुटे हैं। वह राज्य की राजनीति के बड़े चेहरों को टीएमसी के साथ लाने के काम में जुटे हैं।  

एमजीपी के साथ हुआ गठबंधन 

टीएमसी को बीजेपी के एक पुराने सहयोगी दल का साथ मिल गया है। सहयोगी का नाम है- महाराष्‍ट्रवादी गोमांतक पार्टी (एमजीपी)। एमजीपी के अध्यक्ष सुदीन धवलीकर हैं, जिन्होंने 2017 में बीजेपी की सरकार बनाने में मदद की थी। लेकिन बीजेपी ने एमजीपी के ही दो विधायकों को तोड़ लिया था और इसके बाद सुदीन धवलीकर को सरकार से बाहर का रास्ता दिखा दिया था। 

एमजीपी और टीएमसी चुनाव में मिलकर उतरेंगे। 40 सीटों वाली गोवा विधानसभा में एमजीपी 9 सीटों पर चुनाव लड़ सकती है। 

गोवा से और ख़बरें

केजरीवाल ने भी लगाया जोर 

टीएमसी के अलावा आम आदमी पार्टी भी यहां जोर-शोर से मैदान में उतरी है। पार्टी के मुखिया अरविंद केजरीवाल लगातार गोवा का दौरा कर रहे हैं। माना जा रहा है कि टीएमसी और आम आदमी पार्टी यहां कांग्रेस को नुक़सान पहुंचा सकते हैं। आम आदमी पार्टी ने साफ कर दिया है कि वह टीएमसी के साथ गठबंधन नहीं करेगी। 

जीएफ़पी कांग्रेस के साथ 

कुछ दिन पहले ही गोवा फ़ॉरवर्ड पार्टी (जीएफ़पी) ने कांग्रेस के साथ मिलकर चुनाव लड़ने का एलान किया था। गोवा फ़ॉरवर्ड पार्टी इससे पहले बीजेपी के साथ थी लेकिन इस बार उसने कांग्रेस के साथ मिलकर चुनाव लड़ने का फ़ैसला किया है। जीएफ़पी को तगड़ा झटका तब लगा था जब इसके कार्यकारी अध्यक्ष किरन कांडोलकर टीएमसी में शामिल हो गए थे। 

सत्य हिन्दी ऐप डाउनलोड करें

गोदी मीडिया और विशाल कारपोरेट मीडिया के मुक़ाबले स्वतंत्र पत्रकारिता का साथ दीजिए और उसकी ताक़त बनिए। 'सत्य हिन्दी' की सदस्यता योजना में आपका आर्थिक योगदान ऐसे नाज़ुक समय में स्वतंत्र पत्रकारिता को बहुत मज़बूती देगा। याद रखिए, लोकतंत्र तभी बचेगा, जब सच बचेगा।

नीचे दी गयी विभिन्न सदस्यता योजनाओं में से अपना चुनाव कीजिए। सभी प्रकार की सदस्यता की अवधि एक वर्ष है। सदस्यता का चुनाव करने से पहले कृपया नीचे दिये गये सदस्यता योजना के विवरण और Membership Rules & NormsCancellation & Refund Policy को ध्यान से पढ़ें। आपका भुगतान प्राप्त होने की GST Invoice और सदस्यता-पत्र हम आपको ईमेल से ही भेजेंगे। कृपया अपना नाम व ईमेल सही तरीक़े से लिखें।
सत्य अनुयायी के रूप में आप पाएंगे:
  1. सदस्यता-पत्र
  2. विशेष न्यूज़लेटर: 'सत्य हिन्दी' की चुनिंदा विशेष कवरेज की जानकारी आपको पहले से मिल जायगी। आपकी ईमेल पर समय-समय पर आपको हमारा विशेष न्यूज़लेटर भेजा जायगा, जिसमें 'सत्य हिन्दी' की विशेष कवरेज की जानकारी आपको दी जायेगी, ताकि हमारी कोई ख़ास पेशकश आपसे छूट न जाय।
  3. 'सत्य हिन्दी' के 3 webinars में भाग लेने का मुफ़्त निमंत्रण। सदस्यता तिथि से 90 दिनों के भीतर आप अपनी पसन्द के किसी 3 webinar में भाग लेने के लिए प्राथमिकता से अपना स्थान आरक्षित करा सकेंगे। 'सत्य हिन्दी' सदस्यों को आवंटन के बाद रिक्त बच गये स्थानों के लिए सामान्य पंजीकरण खोला जायगा। *कृपया ध्यान रखें कि वेबिनार के स्थान सीमित हैं और पंजीकरण के बाद यदि किसी कारण से आप वेबिनार में भाग नहीं ले पाये, तो हम उसके एवज़ में आपको अतिरिक्त अवसर नहीं दे पायेंगे।
सर्वाधिक पढ़ी गयी खबरें

अपनी राय बतायें

गोवा से और खबरें

ताज़ा ख़बरें

सर्वाधिक पढ़ी गयी खबरें