loader

हरियाणा के मुख्यमंत्री के पास नागरिकता साबित करने का काग़ज़ नहीं?

क्या आप जानते हैं कि हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर के पास अपनी नागरिकता प्रमाणित करने लायक कोई काग़ज़ नहीं है। सूचना के अधिकार के तहत पूछे गए एक सवाल के जवाब में यह बात सामने आई है। एनडीटीवी ने यह ख़बर छापी है। 

हरियाणा के पानीपत में रहने वाले आरटीआई कार्यकर्ता पी. पी. राठी ने एक आरटीआई आवेदन देकर पूछा था कि मुख्यमंत्री, उनके कैबिनेट सहयोगी और राज्यपाल सत्यदेव नारायण आर्य के पास उनकी नागरिकता से जुडा क्या दस्तावेज हैं?
हरियाणा से और खबरें
एनडीटीवी के अनुसार, हरियाणा सरकार की जन सूचना अधिकारी पूनम राठी ने एक आरटीआई सवाल के जवाब में कहा कि 'उनके पास रिकॉर्ड में ऐसा कोई दस्तावेज़ नहीं है, जिससे इन लोगों की नागरिकता प्रमाणित होती हो।' उन्होंने कहा, 'मुमकिन है कि नागरिकता के दस्तावेज़ चुनाव आयोग के पास हों।'
RTI : Haryana CM has no paper to prove nationality - Satya Hindi
मनोहर लाल खट्टर ने हरियाणा में विधानसभा चुनाव प्रचार के दौरान कहा था कि उनकी सरकार नेशनल सिटीजन्स रजिस्टर (एनआरसी) लागू करेगी। 

'सत्य हिन्दी'
की ताक़त बनिए


गोदी मीडिया और विशाल कारपोरेट मीडिया के मुक़ाबले स्वतंत्र पत्रकारिता का साथ दीजिए और उसकी ताक़त बनिए। 'सत्य हिन्दी' की सदस्यता योजना में आपका आर्थिक योगदान ऐसे नाज़ुक समय में स्वतंत्र पत्रकारिता को बहुत मज़बूती देगा। याद रखिए, लोकतंत्र तभी बचेगा, जब सच बचेगा।

नीचे दी गयी विभिन्न सदस्यता योजनाओं में से अपना चुनाव कीजिए। सभी प्रकार की सदस्यता की अवधि एक वर्ष है। सदस्यता का चुनाव करने से पहले कृपया नीचे दिये गये सदस्यता योजना के विवरण और Membership Rules & NormsCancellation & Refund Policy को ध्यान से पढ़ें। आपका भुगतान प्राप्त होने की GST Invoice और सदस्यता-पत्र हम आपको ईमेल से ही भेजेंगे। कृपया अपना नाम व ईमेल सही तरीक़े से लिखें।
सत्य अनुयायी के रूप में आप पाएंगे:
  1. सदस्यता-पत्र
  2. विशेष न्यूज़लेटर: 'सत्य हिन्दी' की चुनिंदा विशेष कवरेज की जानकारी आपको पहले से मिल जायगी। आपकी ईमेल पर समय-समय पर आपको हमारा विशेष न्यूज़लेटर भेजा जायगा, जिसमें 'सत्य हिन्दी' की विशेष कवरेज की जानकारी आपको दी जायेगी, ताकि हमारी कोई ख़ास पेशकश आपसे छूट न जाय।
  3. 'सत्य हिन्दी' के 3 webinars में भाग लेने का मुफ़्त निमंत्रण। सदस्यता तिथि से 90 दिनों के भीतर आप अपनी पसन्द के किसी 3 webinar में भाग लेने के लिए प्राथमिकता से अपना स्थान आरक्षित करा सकेंगे। 'सत्य हिन्दी' सदस्यों को आवंटन के बाद रिक्त बच गये स्थानों के लिए सामान्य पंजीकरण खोला जायगा। *कृपया ध्यान रखें कि वेबिनार के स्थान सीमित हैं और पंजीकरण के बाद यदि किसी कारण से आप वेबिनार में भाग नहीं ले पाये, तो हम उसके एवज़ में आपको अतिरिक्त अवसर नहीं दे पायेंगे।
सर्वाधिक पढ़ी गयी खबरें

अपनी राय बतायें

हरियाणा से और खबरें

ताज़ा ख़बरें

सर्वाधिक पढ़ी गयी खबरें