loader

146 ज़िलों में हर छठा आदमी कोरोना संक्रमित

ऐसे समय जब देश के कोने-कोने से कोरोना संक्रमण फैलने की खबरें आ रही हैं और इससे रोज़ाना प्रभावित होने वाले लोगों की तादाद लगातार बढ़ रही है, सरकार 146 ज़िलों को लेकर ज़्यादा चिंतित है। ये वे ज़िले हैं जिनमें कोरोना संक्रमित लोगों की तादाद 15 प्रतिशत से अधिक है, यानी हर छठा आदमी इस महामारी की चपेट में आ गया है। 
केंद्रीय स्वास्थ्य सचिव राजेश भूषण ने कहा कि इसके अलावा 247 ज़िले ऐसे हैं, जहाँ कोरोना से प्रभावित होने वालों की तादाद पाँच से 15 प्रतिशत है, यानी कुल मिला कर 393 ज़िले कोरोना की चपेट में किसी न किसी रूप में ज़रूर हैं।

55% लोगों को कोरोना

जनगणना विभाग के मुताबिक, भारत में 741 ज़िले हैं, यानी कुल आबादी के लगभग 55 से 60 प्रतिशत लोग कोरोना की चपेट में आ चुके हैं। 

राजेश भूषण ने कहा, हमें 146 ज़िलों को लेकर चिंता है। हमने इन ज़िलों के प्रशासन से विस्तार से बात की है कि कोरोना फैलने से रोकने के लिए हमें क्या करना चाहिए। ये वे ज़िले हैं जहाँ कोरोना संक्रमण के सबसे ज़्यादा मामले हैं और स्वास्थ्य सेवाओं पर काफी बोझ है। 

ख़ास ख़बरें

18 से ऊपर के लिए राज्य खरीदें टीके

उन्होंने कहा कि टीकाकरण का अगला चरण 1 मई से शुरू होगा। उन्होंने कहा कि राज्य सरकारों को टीका आपूर्ति की जानकारी 15 दिन पहले ही दे दी जाएगी। उन्हें टीका खुराकों की उपलब्धता के बारे में पूरी जानकारी दे दी जाएगी और भविष्य में मिलने वाले खुराकों के बारे में भी बताया जाएगा। 

केंद्र सरकार ने 18 साल से ज़्यादा उम्र के सभी लोगों को कोरोना टीका देने का एलान तो कर दिया, पर इसका पूरा बोझ राज्यों पर डाल दिया है। केंद्रीय स्वास्थ्य सचिव ने साफ शब्दों में कहा, 

18 साल से ज़्यादा की उम्र के लोगों को जो टीका लगेंगे वे राज्य सरकारें निजी क्षेत्र के खुले बाज़ार से खरीद कर देंगी।

टीका के बाद भी संक्रमण

केंद्र सरकार ने टीका लगवाने के बाद भी कोरोना संक्रमण की आशंका से इनकार नहीं किया है, पर यह कहा है कि ऐसे मामले बहुत ही कम हैं।

सरकारी एजेन्सी इंडियन कौंसिल ऑफ़ मेडिकल रिसर्च (आईसीएमआर) के महानिदेशक बलराम भार्गव ने कहा, दो टीकों से गंभीर बीमारी और मौत कम हुए हैं। इससे संक्रमण रुका है। उन्होंने कहा, टीके लगने के बाद भी संक्रमण हो सकता है, इसे ब्रेकथ्रू इनफेक्शन कहते हैं। यह इनकी संख्या 10 हज़ार में दो-चार ही हैं। 

corona increases in 146 districts despite vaccination - Satya Hindi

उन्होंने इसका कारण बताते हुए कहा, 'इसकी वजह वे स्वास्थ्य कर्मी व अग्रिम पंक्ति के कर्मचारी हैं, जिन्हें पहले दौर में ही टीके की खुराकें दी गईं थीं, उन्हें संक्रमण का ख़तरा अधिक है।' 

उन्होंने यह भी कहा कि कोरोना संक्रमण की दूसरी लहर आने की वजह से भी कोरोना टीका लगाने वालों को संक्रमण हो रहा है। 

बता दें कि पहली बार कोरोना संक्रमण के मामले रिकॉर्ड 3 लाख से ज़्यादा आए हैं। दुनिया में अब तक किसी भी देश में एक दिन में इतना ज़्यादा संक्रमण के मामले नहीं आए थे जितने भारत में आए हैं। बुधवार को 24 घंटे में 3 लाख 14 हज़ार 835 पॉजिटिव केस आए। इस दौरान 2104 लोगों की मौत हुई।

corona increases in 146 districts despite vaccination - Satya Hindi

रोज़ बढ़ रहे हैं आँकड़े

एक दिन में यह आँकड़ा सबसे ज़्यादा है। मंगलवार को एक दिन में 2 लाख 95 हज़ार 41 पॉजिटिव केस आए और 2023 लोगों की मौत हुई थी। यह लगातार आठवाँ दिन है जब कोरोना पॉजिटिव केस के 2 लाख से ज़्यादा मामले आए। 

स्वास्थ्य विभाग ने गुरुवार को जो बुधवार के आँकड़े जारी किए हैं उसके अनुसार अब तक 1 करोड़ 59 लाख 30 हज़ार से ज़्यादा संक्रमण के मामले आ चुके हैं। अब तक 1 लाख 84 हज़ार से ज़्यादा मौतें हो चुकी हैं। 1 करोड़ 34 लाख से ज़्यादा कोरोना मरीज़ ठीक हो चुके हैं। देश में फ़िलहाल 22 लाख 91 हज़ार सक्रिय मामले हैं।

सत्य हिन्दी ऐप डाउनलोड करें

गोदी मीडिया और विशाल कारपोरेट मीडिया के मुक़ाबले स्वतंत्र पत्रकारिता का साथ दीजिए और उसकी ताक़त बनिए। 'सत्य हिन्दी' की सदस्यता योजना में आपका आर्थिक योगदान ऐसे नाज़ुक समय में स्वतंत्र पत्रकारिता को बहुत मज़बूती देगा। याद रखिए, लोकतंत्र तभी बचेगा, जब सच बचेगा।

नीचे दी गयी विभिन्न सदस्यता योजनाओं में से अपना चुनाव कीजिए। सभी प्रकार की सदस्यता की अवधि एक वर्ष है। सदस्यता का चुनाव करने से पहले कृपया नीचे दिये गये सदस्यता योजना के विवरण और Membership Rules & NormsCancellation & Refund Policy को ध्यान से पढ़ें। आपका भुगतान प्राप्त होने की GST Invoice और सदस्यता-पत्र हम आपको ईमेल से ही भेजेंगे। कृपया अपना नाम व ईमेल सही तरीक़े से लिखें।
सत्य अनुयायी के रूप में आप पाएंगे:
  1. सदस्यता-पत्र
  2. विशेष न्यूज़लेटर: 'सत्य हिन्दी' की चुनिंदा विशेष कवरेज की जानकारी आपको पहले से मिल जायगी। आपकी ईमेल पर समय-समय पर आपको हमारा विशेष न्यूज़लेटर भेजा जायगा, जिसमें 'सत्य हिन्दी' की विशेष कवरेज की जानकारी आपको दी जायेगी, ताकि हमारी कोई ख़ास पेशकश आपसे छूट न जाय।
  3. 'सत्य हिन्दी' के 3 webinars में भाग लेने का मुफ़्त निमंत्रण। सदस्यता तिथि से 90 दिनों के भीतर आप अपनी पसन्द के किसी 3 webinar में भाग लेने के लिए प्राथमिकता से अपना स्थान आरक्षित करा सकेंगे। 'सत्य हिन्दी' सदस्यों को आवंटन के बाद रिक्त बच गये स्थानों के लिए सामान्य पंजीकरण खोला जायगा। *कृपया ध्यान रखें कि वेबिनार के स्थान सीमित हैं और पंजीकरण के बाद यदि किसी कारण से आप वेबिनार में भाग नहीं ले पाये, तो हम उसके एवज़ में आपको अतिरिक्त अवसर नहीं दे पायेंगे।
सर्वाधिक पढ़ी गयी खबरें

अपनी राय बतायें

देश से और खबरें

ताज़ा ख़बरें

सर्वाधिक पढ़ी गयी खबरें