loader

जहांगीरपुरी हिंसाः अंतरराष्ट्रीय स्तर पर हो रहा है विरोध

दिल्ली के जहांगीरपुरी इलाके में शनिवार को हनुमान जयंती जुलूस के दौरान हिंसा पर दुनियाभर से प्रतिक्रियाएं आ रही हैं। इस हिंसा पर अमेरिका की दिग्गज टेनिस खिलाड़ी मार्टिना नवरातिलोवा ने भी प्रतिक्रिया दी है। 18 ग्रैंड स्लैम सिंगल्स जीतने वाली मार्टिना नवरातिलोवा ने जहांगीरपुरी हिंसा पर ट्वीट कर सीधे पीएम मोदी से सवाल पूछा है।

मार्टिना ने पत्रकार राना अयूब के ट्वीट को रीट्वीट करते हुए लिखा, "निश्चित रूप से यह मंजूर नहीं है, है ना मोदी?" मार्टिना का ये ट्वीट अब सोशल मीडिया पर खूब वायरल हो रहा है, जिस पर यूजर्स जमकर अपनी प्रतिक्रियाएं भी दे रहे हैं। 

राना अयूब ने एक वीडियो ट्वीट किया था, जिसमें कुछ युवक हनुमान जयंती के जुलूस के दौरान हथियार लहराते देखे जा सकते हैं। जहांगीरपुरी की घटना के बारे में एआईएमआईएम प्रमुख असदुद्दीन ओवैसी ने तीखी प्रतिक्रिया देते हुए केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह और दिल्ली के सीएम केजरीवाल पर सीधा हमला किया था। ओवैसी के ट्वीट पर भी विदेशों से काफी प्रतिक्रिया आई। लोगों ने मोदी सरकार को नाकाम सरकार करार दिया। लोगों ने लिखा कि भारत में अल्पसंख्यकों के साथ अगर यही बर्ताव होता रहा तो दुनिया भर में भारत की साख नहीं बचेगी। कुछ लोगों ने कहा कि दक्षिणपंथी समूह भारत को लगातार कमजोर कर रहे हैं। वो देश को बांट रहे हैं। उन्हें नहीं पता कि इसका नतीजा क्या निकलेगा।
बता दें कि दिल्ली के जहांगीरपुरी में शनिवार को हनुमान जयंती पर शोभा यात्रा के दौरान साम्प्रदायिक हिंसा हुई थी। फरवरी 2020 के दंगों के बाद से दिल्ली में पहली सांप्रदायिक भड़क में, 16 अप्रैल को शहर के जहांगीरपुरी इलाके में एक हनुमान जयंती जुलूस के दौरान पथराव और झड़प के कारण 8 पुलिसकर्मी और एक नागरिक घायल हो गए थे। इसके बाद, वहां भारी पुलिस बल तैनात किया गया है ताकि कोई और अप्रिय घटना न हो। पुलिस का फ्लैग मार्च भी हो रहा है।

इस मामले में पुलिस ने अब तक 21 लोगों और दो नाबालिगों को गिरफ्तार किया है। साथ ही आरोपियों के कब्जे से 2 तमंचे और 5 तलवारें बरामद की गई हैं। दो आरोपी व्यक्तियों- मोहम्मद असलम और अंसार को एफआईआर में आरोपी के रूप में दर्ज किया गया है। जहां उन्हें एक दिन की पुलिस हिरासत में भेजा गया, वहीं 12 अन्य आरोपियों को 14 दिनों की न्यायिक हिरासत में भेज दिया गया।यह मामला अपराध शाखा को ट्रांसफर कर दिया गया था जो जिला पुलिस की मदद से आगे की जांच करेगी। रविवार की रात, दिल्ली पुलिस आयुक्त राकेश अस्थाना ने सब-इंस्पेक्टर मेदा लाल से मुलाकात की। जो गोली लगने से घायल हो गए थे। उन्हें विभाग से हर संभव सहायता का आश्वासन दिया।

सत्य हिन्दी ऐप डाउनलोड करें

गोदी मीडिया और विशाल कारपोरेट मीडिया के मुक़ाबले स्वतंत्र पत्रकारिता का साथ दीजिए और उसकी ताक़त बनिए। 'सत्य हिन्दी' की सदस्यता योजना में आपका आर्थिक योगदान ऐसे नाज़ुक समय में स्वतंत्र पत्रकारिता को बहुत मज़बूती देगा। याद रखिए, लोकतंत्र तभी बचेगा, जब सच बचेगा।

नीचे दी गयी विभिन्न सदस्यता योजनाओं में से अपना चुनाव कीजिए। सभी प्रकार की सदस्यता की अवधि एक वर्ष है। सदस्यता का चुनाव करने से पहले कृपया नीचे दिये गये सदस्यता योजना के विवरण और Membership Rules & NormsCancellation & Refund Policy को ध्यान से पढ़ें। आपका भुगतान प्राप्त होने की GST Invoice और सदस्यता-पत्र हम आपको ईमेल से ही भेजेंगे। कृपया अपना नाम व ईमेल सही तरीक़े से लिखें।
सत्य अनुयायी के रूप में आप पाएंगे:
  1. सदस्यता-पत्र
  2. विशेष न्यूज़लेटर: 'सत्य हिन्दी' की चुनिंदा विशेष कवरेज की जानकारी आपको पहले से मिल जायगी। आपकी ईमेल पर समय-समय पर आपको हमारा विशेष न्यूज़लेटर भेजा जायगा, जिसमें 'सत्य हिन्दी' की विशेष कवरेज की जानकारी आपको दी जायेगी, ताकि हमारी कोई ख़ास पेशकश आपसे छूट न जाय।
  3. 'सत्य हिन्दी' के 3 webinars में भाग लेने का मुफ़्त निमंत्रण। सदस्यता तिथि से 90 दिनों के भीतर आप अपनी पसन्द के किसी 3 webinar में भाग लेने के लिए प्राथमिकता से अपना स्थान आरक्षित करा सकेंगे। 'सत्य हिन्दी' सदस्यों को आवंटन के बाद रिक्त बच गये स्थानों के लिए सामान्य पंजीकरण खोला जायगा। *कृपया ध्यान रखें कि वेबिनार के स्थान सीमित हैं और पंजीकरण के बाद यदि किसी कारण से आप वेबिनार में भाग नहीं ले पाये, तो हम उसके एवज़ में आपको अतिरिक्त अवसर नहीं दे पायेंगे।
सर्वाधिक पढ़ी गयी खबरें

अपनी राय बतायें

देश से और खबरें

ताज़ा ख़बरें

सर्वाधिक पढ़ी गयी खबरें