loader

करतारपुर कॉरिडोर का उद्घाटन, पीएम मोदी ने पहले जत्थे को किया रवाना

करतारपुर गुरुद्वारे के लिये बने कॉरिडोर का प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने शनिवार को उद्घाटन किया। प्रधानमंत्री ने भारत से गुरुद्वारे के दर्शन को जाने वाले पहले जत्थे को हरी झंडी दिखाकर रवाना किया। पहले जत्थे में 550 श्रद्धालु शामिल हैं। इस कॉरिडोर के बनने के बाद अब करतारपुर गुरुद्वारे के दर्शन करना आसान हो जायेगा। यह गुरुद्वारा पाकिस्तान के नरोवाल जिले की शंकरगढ़ तहसील में मौजूद है। 

मोदी शनिवार सुबह सुल्तानपुर लोधी इलाक़े में स्थित गुरुद्वारा बेर साहिब पहुंचे। इसके बाद डेरा नानक में आयोजित जनसभा में मोदी ने कॉरिडोर को बनाने में सहयोग करने वाले सभी लोगों को धन्यवाद दिया। मोदी ने कहा, ‘मैं इस पवित्र धरती पर आकर ख़ुद को धन्य महसूस कर रहा हूँ। जैसी अनूभूति आप सभी को कारसेवा के समय होती है, वैसी ही मुझे भी हो रही है। मैं दुनिया भर में बसे सिख भाई-बहनों को इस मौक़े पर बहुत-बहुत बधाई देता हूँ।’ 

ताज़ा ख़बरें
भारत और पाकिस्तान ही नहीं दुनिया भर के सिख तीर्थयात्रियों के लिये करतारपुर गुरुद्वारे का बहुत महत्व है। आज तक भारत के सिख तीर्थयात्रियों को एक लंबी दूरी तय करने के बाद करतारपुर गुरुद्वारे तक पहुंचना होता था। लेकिन पाकिस्तान और भारत के बीच सहमति बनी कि भारत-पाक सीमा पर एक कॉरिडोर बनाया जाये, जिससे होकर भारत के श्रद्धालु करतारपुर गुरुद्वारे तक पहुंच सकेंगे। इसके बाद इस कॉरिडोर को बनाये जाने का काम शुरू हुआ और आज इसका उद्घाटन हुआ है। 
कार्यक्रम में मौजूद नरेंद्र मोदी, सुखबीर बादल, सनी देओल व अन्य।

प्रधानमंत्री ने इस दौरान इंटीग्रेटेड चेक पोस्ट कॉरिडोर का उद्घाटन भी किया। उन्होंने सिख संगत को संबोधित करते हुए कहा कि गुरुनानक देव के 550वें प्रकाश पर्व से पहले करतारपुर कॉरिडोर का बनना बहुत ख़ुशी की बात है। उन्होंने कॉरिडोर को बनाने में सहयोग देने के लिये पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान ख़ान और वहाँ के श्रमिकों को भी धन्यवाद दिया।

मोदी ने कहा कि गुरु नानक देव जी सिर्फ़ सिख पंथ की और भारत की धरोधर नहीं बल्कि पूरी मानवता के लिये प्रेरणा पुंज है। गुरु नानक देव गुरु होने के साथ-साथ एक विचार हैं और जीवन का आधार हैं। इस दौरान पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह, पंजाब के पूर्व उप मुख्यमंत्री सुखबीर बादल सहित कई अन्य लोग मौजूद रहे। 

हालाँकि करतारपुर के कॉरिडोर के उद्धाटन से पहले पाकिस्तान की एक नापाक हरक़त के कारण दोनों देशों के बीच फिर तनाव बढ़ गया था। पाकिस्तान की सरकार के आधिकारिक ट्विटर हैंडल से करतारपुर गुरुद्वारे का थीम सांग रिलीज किया गया था। इस गाने में तीन खालिस्तानी आतंकवादियों का पोस्टर दिखाया गया और पोस्टर में रेफ़रेंडम 2020 लिखा गया है। पोस्टर में खालिस्तानी आतंकवादी जरनैल सिंह भिंडरावाला, अमरीक सिंह खालसा और मेजर जनरल शबेग सिंह को दिखाया गया है। भारत की ओर से विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता रवीश कुमार ने इस वीडियो को लेकर सख़्त एतराज जताया था और इस वीडियो को हटाये जाने की माँग की थी। 
सर्वाधिक पढ़ी गयी खबरें

अपनी राय बतायें

देश से और खबरें

ताज़ा ख़बरें

सर्वाधिक पढ़ी गयी खबरें