loader

नूपुर का सिर कलम करने का वीडियो बनाने वाला अरेस्ट, पर साध्वी अब तक आजाद

कश्मीर के एक यूट्यूबर को वीडियो पोस्ट करने के आरोप में गिरफ्तार किया गया है, जिसमें उसे निलंबित बीजेपी प्रवक्ता के पुतले का सिर कलम करते हुए दिखाया गया है। पुलिस ने कहा कि वीडियो से जनता में भय और भय पैदा हो गया था। हालांकि ऐसी ही एक हरकत खुद को साध्वी अन्नपूर्णा उर्फ पूजा शकुन पांडे ने हाल ही में की थी, जब उसने महात्मा गांधी के पुतले पर गोलियां चलाई थीं। उसका फोटो और वीडियो वायरल हुआ था। अलीगढ़ पुलिस ने उस आरोप में आजतक कभी उसे गिरफ्तार नहीं किया। यह साध्वी खुद को गोडसे भक्त भी बताती है।
जम्मू-कश्मीर पुलिस ने शनिवार को एक बयान में कहा, "कश्मीर के YouTuber फैसल वानी को गिरफ्तार कर लिया गया है। उसने YouTube पर एक आपत्तिजनक वीडियो अपलोड किया था। इससे पहले फैसल वानी ने उस वीडियो को शनिवार को हटा दिया और अपने यूट्यूब चैनल पर माफीनामा पोस्ट किया।

ताजा ख़बरें
फैसल वानी ने ताजा वीडियो में कहा, "शुक्रवार को मैंने नूपुर शर्मा के बारे में एक वीएफएक्स वीडियो बनाया जो पूरे भारत में वायरल हो गया। और मेरे जैसा एक निर्दोष व्यक्ति विवाद में फंस गया। उन्होंने यह भी कहा कि उनका इरादा दूसरे धर्मों के लोगों की भावनाओं को ठेस पहुंचाने का नहीं था। वानी ने कहा कि उन्होंने अपना वो वीडियो हटा दिया था।

अपनी माफी में, वानी ने कहा, मुझे आशा है कि आप मेरे अन्य वीडियो की तरह इस वीडियो को भी वायरल करेंगे। इस तरह सभी को पता चल जाएगा कि मुझे अपने कार्यों के लिए खेद है।

बीजेपी ने नूपुर शर्मा को निलंबित कर दिया और पैगंबर मुहम्मद पर उनकी विवादास्पद टिप्पणी पर दिल्ली भाजपा मीडिया इकाई नवीन जिंदल को निष्कासित कर दिया। शर्मा और जिंदल की टिप्पणी को लेकर कोलकाता के पास हावड़ा सहित कुछ शहरों में देश भर में प्रदर्शनों और कुछ शहरों में झड़पों के बाद दो लोग मारे गए और दर्जनों गिरफ्तार किए गए।

दो हफ्ते पहले की गई टिप्पणियों ने भारत और विदेशों में गुस्से को जन्म दिया, कई पश्चिम एशियाई देशों ने सार्वजनिक माफी की मांग की, भारतीय दूतों को बुलाया और भारतीय उत्पादों के बहिष्कार का आह्वान किया।

भारत ने उन्हें शरारती तत्वों के विचार बताया था, लेकिन इससे भारत में मुस्लिम समूहों के बीच गुस्सा शांत नहीं हुआ है, जो दोनों नेताओं को गिरफ्तार करने की मांग कर रहे हैं।

Nupur's beheading video maker arrested, but Sadhvi still free - Satya Hindi
महात्मा गांधी के पुतले पर गोली चलाती साध्वी (फाइल फोटो)

साध्वी कब गिरफ्तार होगी

फैसल वानी ने तो गलत किया, उसे गिरफ्तार कर लिया। जबकि महात्मा गांधी पर गोली चलाने वाली और गांधी जी के हत्यारे गोडसे का गुणगान करने वाली साध्वी अन्नपूर्णा उर्फ पूजा शकुन पांडे  को आज तक गिरफ्तार नहीं किया गया। दो दिन पहले उसके खिलाफ तब एफआईआर दर्ज हुई थी, जब उसने नमाज पर पाबंदी लगाने की मांग कर दी थी। पूजा अलीगढ़ में रहती है और वहीं पर उसके खिलाफ केस दर्ज किया गया है। दूसरा केस दर्ज होने पर भी गिरफ्तारी नहीं हुई है।

यह साध्वी खुद को अखिल भारत हिंदू महासभा का राष्ट्रीय सचिव भी बताती है। पांडे को पिछले दो वर्षों में अलीगढ़ पुलिस द्वारा विवादास्पद कृत्यों और बयानों के लिए दो बार गिरफ्तार किया जा चुका है, लेकिन दोनों मामलों में उन्हें जमानत मिल गई।

सत्य हिन्दी ऐप डाउनलोड करें

गोदी मीडिया और विशाल कारपोरेट मीडिया के मुक़ाबले स्वतंत्र पत्रकारिता का साथ दीजिए और उसकी ताक़त बनिए। 'सत्य हिन्दी' की सदस्यता योजना में आपका आर्थिक योगदान ऐसे नाज़ुक समय में स्वतंत्र पत्रकारिता को बहुत मज़बूती देगा। याद रखिए, लोकतंत्र तभी बचेगा, जब सच बचेगा।

नीचे दी गयी विभिन्न सदस्यता योजनाओं में से अपना चुनाव कीजिए। सभी प्रकार की सदस्यता की अवधि एक वर्ष है। सदस्यता का चुनाव करने से पहले कृपया नीचे दिये गये सदस्यता योजना के विवरण और Membership Rules & NormsCancellation & Refund Policy को ध्यान से पढ़ें। आपका भुगतान प्राप्त होने की GST Invoice और सदस्यता-पत्र हम आपको ईमेल से ही भेजेंगे। कृपया अपना नाम व ईमेल सही तरीक़े से लिखें।
सत्य अनुयायी के रूप में आप पाएंगे:
  1. सदस्यता-पत्र
  2. विशेष न्यूज़लेटर: 'सत्य हिन्दी' की चुनिंदा विशेष कवरेज की जानकारी आपको पहले से मिल जायगी। आपकी ईमेल पर समय-समय पर आपको हमारा विशेष न्यूज़लेटर भेजा जायगा, जिसमें 'सत्य हिन्दी' की विशेष कवरेज की जानकारी आपको दी जायेगी, ताकि हमारी कोई ख़ास पेशकश आपसे छूट न जाय।
  3. 'सत्य हिन्दी' के 3 webinars में भाग लेने का मुफ़्त निमंत्रण। सदस्यता तिथि से 90 दिनों के भीतर आप अपनी पसन्द के किसी 3 webinar में भाग लेने के लिए प्राथमिकता से अपना स्थान आरक्षित करा सकेंगे। 'सत्य हिन्दी' सदस्यों को आवंटन के बाद रिक्त बच गये स्थानों के लिए सामान्य पंजीकरण खोला जायगा। *कृपया ध्यान रखें कि वेबिनार के स्थान सीमित हैं और पंजीकरण के बाद यदि किसी कारण से आप वेबिनार में भाग नहीं ले पाये, तो हम उसके एवज़ में आपको अतिरिक्त अवसर नहीं दे पायेंगे।
सर्वाधिक पढ़ी गयी खबरें

अपनी राय बतायें

देश से और खबरें

ताज़ा ख़बरें

सर्वाधिक पढ़ी गयी खबरें