loader

बीजेपी कहती है मेक इन इंडिया करती है बाय फ़्रॉम चाइना: राहुल गांधी 

कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने मंगलवार को एक ग्राफ़ ट्वीट कर यूपीए सरकार के दौरान और बीजेपी के नेतृत्व वाली एनडीए सरकार के दौरान चीन से हुए आयात की तुलना की है। ट्वीट में उन्होंने लिखा है, ‘आंकड़े झूठ नहीं बोलते, बीजेपी कहती है - मेक इन इंडिया (भारत में बनाओ), बीजेपी करती है - बाय फ़्रॉम चाइना (चीन से ख़रीदो)। 

ग्राफ़ में दिखाया गया है कि 2014 में केंद्र में एनडीए की सरकार बनने के बाद चीन से आयात तेजी से बढ़ा है और 2018 में यह ऊंचाई तक पहुंच गया। 

गलवान में भारतीय जवानों की शहादत और भारत की सीमा में चीन की घुसपैठ को लेकर भी राहुल गांधी इन दिनों मोदी सरकार पर ख़ासे हमलावर हैं। 

ताज़ा ख़बरें

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के इस बयान पर कि भारत की सीमाओं में कोई घुसपैठ नहीं हुई है, राहुल गांधी ने हाल ही में उन पर तीख़ा हमला बोला था और दो सवाल पूछे थे। राहुल ने गलवान पर ट्वीट करते हुए कहा था कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने भारतीय क्षेत्र को चीनी आक्रमण के सामने आत्मसमर्पण कर दिया है। राहुल ने पहला सवाल पूछा था कि अगर धरती चीन की थी तो हमारे सैनिक क्यों मारे गए और दूसरा सवाल यह कि वे कहां मारे गए। 

देश से और ख़बरें
राहुल गांधी ने मोदी सरकार से सवाल पूछा था, 'क्या भारतीय ज़मीन पर चीन ने क़ब्ज़ा किया है?’ राहुल ने इससे पहले पूछा था, ‘चीन ने हमारे जवानों को मारा है, चीन ने हमारी ज़मीन ली है, तब इस तनाव के वक्त चीन प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की तारीफ क्यों कर रहा है।’ भारत-चीन सीमा विवाद पर देखिए वरिष्ठ पत्रकार आशुतोष का वीडियो - 

पेट्रोल-डीजल की कीमतों पर हमलावर

राहुल ने कुछ दिन पहले कोरोना महामारी और पेट्रोल-डीजल की बढ़ती कीमतों को लेकर मोदी सरकार पर जबरदस्त हमला बोला था। राहुल ने ट्वीट कर कहा था, ‘मोदी सरकार ने कोरोना महामारी और पेट्रोल-डीज़ल की क़ीमतें ‘अनलॉक’ कर दी हैं।’ 

राहुल ने अपने ट्वीट में एक ग्राफ़ भी अटैच किया था जिसमें दिखाया गया था कि 1 जून को शुरू हुए अनलॉक के बाद किस तरह पेट्रोल और डीजल की कीमतों में बेतहाशा बढ़ोतरी हुई है। साथ ही ग्राफ़ में यह भी दिखाया गया था कि 1 जून के बाद कितनी तेज़ी से कोरोना संक्रमण के मामले बढ़े हैं। 

Satya Hindi Logo सत्य हिंदी सदस्यता योजना जल्दी आने वाली है।
सर्वाधिक पढ़ी गयी खबरें

अपनी राय बतायें

देश से और खबरें

ताज़ा ख़बरें

सर्वाधिक पढ़ी गयी खबरें