loader

मेरी फ़ैमिली को गोली मार कर उड़ा दो, हमने सुसाइड किया तो कौन जिम्मेदार होगा: रिया

टीवी चैनलों के लिए देश का सबसे अहम और टीआरपी बटोरने का मुद्दा बन चुके फ़िल्म अभिनेता सुशांत सिंह राजपूत की मौत के मामले में उनकी एक्स गर्ल फ़्रेंड रिया चक्रवर्ती के सामने आने के बाद बहस का रूख़ बदल गया है। कुछ टीवी चैनलों पर दिन-रात रिया को सुशांत की मौत का जिम्मेदार ठहराने की कोशिश हो रही है लेकिन ऐसे में रिया ने कई मामलों में साफ-साफ बात करके अपना पक्ष दमदार तरीके से सामने रखा है। 

न्यूज़ चैनल आज तक को दिए गए एक्सक्लूसिव इंटरव्यू में रिया ने इस सवाल के जवाब में कि क्या उनका ड्रग डीलर्स के साथ कोई कनेक्शन है। रिया ने कहा, ‘यही बचा था अब मेरे ऊपर डालने के लिए कि इस लड़की को इतना crucify (परेशान करना) कर दो, मैं तो बोलती हूं कि एक बंदूक ही ले आओ और मेरी फ़ैमिली लाइन से खड़ी हो जाएगी...गोली मार कर उड़ा दो हमें, नहीं तो हम ही सुसाइड कर लेते हैं, फिर कौन जिम्मेदार होगा।’ 

ताज़ा ख़बरें

रिया ने कहा कि वह इन सारे आरोपों को सिरे से खारिज करती हैं और ये पूरी तरह बेबुनियाद हैं। उन्होंने कहा कि वह इसलिए इन आरोपों के बारे में बात नहीं करना चाहतीं क्योंकि ये बातें इस मामले में आगे की जांच को प्रभावित कर सकती हैं। 

रिया ने आज तक से यह भी कहा कि उन्होंने जिंदगी में कभी भी कोई ड्रग्स नहीं ली है और वह अपना ड्रग ट्रस्ट कराने के लिए तैयार हैं। रिया ने एक सवाल के जवाब में कहा कि सुशांत मैरोआना लेते थे और वह उन्हें कंट्रोल करने की कोशिश करती थीं।
रिया ने जितने सहज तरीके से अपनी बातों को रखा है और सीबीआई जांच को लेकर वो जितनी पॉजिटिव दिखाई दी हैं, उसके बाद लोगों का यही कहना है कि इस मामले में न्यूज़ चैनलों को इस फ़िल्म अभिनेत्री का मीडिया ट्रायल करने के बजाय जांच एजेंसियों का अपना काम करने देना चाहिए। क्योंकि बेहूदे मीडिया ट्रायल के ख़िलाफ़ सुशांत की एक्स मैनेजर दिशा सालियान के पिता भी मीडिया पर बुरी तरह भड़क चुके हैं। 
Rhea Chakraborty refuse all allegation in Sushant Singh Rajput death case - Satya Hindi

रिया की ओर से ये सब बातें कहें जाने के बाद सुशांत की बहन श्वेता सिंह कीर्ति ने कहा है, ‘तुम्हारे पास इतनी हिम्मत है कि मेरे भाई की मौत के बाद मीडिया के सामने आकर तुम उसकी छवि बिगाड़ रही हो और तुम्हें लगता है कि भगवान कुछ नहीं देख रहा है कि तुमने क्या किया है। मैं देखना चाहती हूं कि भगवान तुम्हारे साथ क्या करेगा।’ 

सुशांत की बहन ने यह भी लिखा है कि अच्छा होता कि सुशांत इस लड़की से कभी नहीं मिलता। 

हाल ही में सुशांत के पिता ने रिया चक्रवर्ती पर यह आरोप लगाया है कि उसने सुशांत की हत्या की है। उन्होंने कहा, 'वह मेरे बेटे को जहर दे रही थी।' 34 वर्षीय सुशांत 14 जून को मुंबई के बांद्रा में स्थित अपने अपार्टमेंट में मृत पाए गए थे। इस मामले में सीबीआई जांच के लिए चले लंबे घमासान के बाद यह जांच एजेंसी अब रिया से पूछताछ कर रही है। 

देश से और ख़बरें

इससे पहले जुलाई महीने में सुशांत के पिता ने पटना में रिया चक्रवर्ती के ख़िलाफ़ एफ़आईआर दर्ज कराई थी। उन्होंने रिया के ख़िलाफ़ सुशांत को आत्महत्या के लिए उकसाने, आर्थिक ठगी करने और मानसिक रूप से परेशान करने का आरोप लगाया था।

इस मामले में अब तक रिया चक्रवर्ती, संजना सांघी, मुकेश छाबड़ा, आदित्‍य चोपड़ा, कास्‍टिंग डायरेक्‍टर शानू शर्मा, संजय लीला भंसाली, शेखर कपूर, महेश भट्ट, रूमी जाफरी जैसे फ़िल्मी जगत से जुड़े 50 से ज्यादा लोगों से पूछताछ हो चुकी है।

पैसे का नहीं हुआ था लेन-देन

सुशांत के पिता के रिया पर सुशांत के अकाउंट से 15 करोड़ रुपये ट्रांसफ़र करने के आरोपों के बीच यह भी ख़बर आई थी कि सुशांत और रिया के बैंक खातों में आपस में कोई फ़ंड ट्रांसफर नहीं हुआ था। ग्रांट थॉर्नटन नाम की कंपनी ने हाल ही में मुंबई पुलिस को फ़ॉरेंसिक ऑडिट रिपोर्ट सौंपी थी। 

ग्रांट थॉर्नटन ने सुशांत के पिछले पांच साल के बैंक खातों की जांच की है। कंपनी ने साथ ही रिया, उसके घरवालों और सुशांत के बीच रजिस्टर्ड तीन कंपनियों के बैंक खातों का भी ऑडिट किया है। 

ऑडिट रिपोर्ट के मुताबिक़, सुशांत और रिया के किसी भी खाते में किसी भी तरह के फ़ंड का कोई ट्रांसफ़र नहीं हुआ है। 

सत्य हिन्दी ऐप डाउनलोड करें

गोदी मीडिया और विशाल कारपोरेट मीडिया के मुक़ाबले स्वतंत्र पत्रकारिता का साथ दीजिए और उसकी ताक़त बनिए। 'सत्य हिन्दी' की सदस्यता योजना में आपका आर्थिक योगदान ऐसे नाज़ुक समय में स्वतंत्र पत्रकारिता को बहुत मज़बूती देगा। याद रखिए, लोकतंत्र तभी बचेगा, जब सच बचेगा।

नीचे दी गयी विभिन्न सदस्यता योजनाओं में से अपना चुनाव कीजिए। सभी प्रकार की सदस्यता की अवधि एक वर्ष है। सदस्यता का चुनाव करने से पहले कृपया नीचे दिये गये सदस्यता योजना के विवरण और Membership Rules & NormsCancellation & Refund Policy को ध्यान से पढ़ें। आपका भुगतान प्राप्त होने की GST Invoice और सदस्यता-पत्र हम आपको ईमेल से ही भेजेंगे। कृपया अपना नाम व ईमेल सही तरीक़े से लिखें।
सत्य अनुयायी के रूप में आप पाएंगे:
  1. सदस्यता-पत्र
  2. विशेष न्यूज़लेटर: 'सत्य हिन्दी' की चुनिंदा विशेष कवरेज की जानकारी आपको पहले से मिल जायगी। आपकी ईमेल पर समय-समय पर आपको हमारा विशेष न्यूज़लेटर भेजा जायगा, जिसमें 'सत्य हिन्दी' की विशेष कवरेज की जानकारी आपको दी जायेगी, ताकि हमारी कोई ख़ास पेशकश आपसे छूट न जाय।
  3. 'सत्य हिन्दी' के 3 webinars में भाग लेने का मुफ़्त निमंत्रण। सदस्यता तिथि से 90 दिनों के भीतर आप अपनी पसन्द के किसी 3 webinar में भाग लेने के लिए प्राथमिकता से अपना स्थान आरक्षित करा सकेंगे। 'सत्य हिन्दी' सदस्यों को आवंटन के बाद रिक्त बच गये स्थानों के लिए सामान्य पंजीकरण खोला जायगा। *कृपया ध्यान रखें कि वेबिनार के स्थान सीमित हैं और पंजीकरण के बाद यदि किसी कारण से आप वेबिनार में भाग नहीं ले पाये, तो हम उसके एवज़ में आपको अतिरिक्त अवसर नहीं दे पायेंगे।
सर्वाधिक पढ़ी गयी खबरें

अपनी राय बतायें

देश से और खबरें

ताज़ा ख़बरें

सर्वाधिक पढ़ी गयी खबरें