loader

झारखंड : पहले चरण के मतदान में दबाव में है बीजेपी, वोटिंग जारी

झारखंड विधानसभा चुनाव के लिए पहले चरण का मतदान जारी है। आज 13 सीटों पर चुनाव हैं। इन सीटों पर विपक्ष का पलड़ा भारी लगता है। इसकी वजह यह है कि इन सीटों पर बीजेपी के सामने झामुमो-कांग्रेस-आरजेडी एकजुट होकर मैदान में उतरी हैं। कुछ सीटों पर तिकोना मुक़ाबला है, लेकिन कुछ जगहों पर बीजेपी को छोड़कर निर्दलीय चुनाव लड़ रहे लोगों ने पार्टी को मुसीबत में डाल रखा है।

13 का समीकरण!

प्रशासन ने पूरी तैयारी कर ली है। सुरक्षा व्यवस्था दुरुस्त कर लिया गया है। शनिवार को जिन 13 सीटों के लिए मतदान है, उनमें से सभी सीटों पर बीजेपी और गठबंधन के उम्मीदवारों के बीच सीधी टक्कर है। ये हैं चतरा, गुमला, विशुनपुर, लोहारदगा, मणिका, लातेहार, पनकी,डाल्टनगंज, विश्रामपुर, छतरौर, हुसैनाबाद, गढ़वा और भवनाथपुर। बीजेपी हुसैनाबाद से निर्दलीय उम्मीदवार विनोद कुमार सिंह का समर्थन कर रही है। बाकी सभी 12 सीटों पर उसने अपने उम्मीदवार उतारे हैं। 

गठबंधन की ओर हर सीट पर एक ही उम्मीदवार है। इन 13 सीटों में से कांग्रेस ने 6, झामुमो ने 4 और आरजेडी ने 3 सीटों पर उम्मीदवार उतारे हैं।  इन सभी सीटों पर बीजेपी के उम्मीदवारों का सीधा मुक़ाबला विपक्षी गठबंधन के उम्मीदवार से है, यानी विपक्षी वोट बँट नहीं रहा है। 
इन 13 सीटों में से कांग्रेस 6, झामुमो 4 और आरजेडी ने 3 सीटों पर उम्मीदवार उतारे हैं।  

पहले थे सहयोगी, अब हैं विरोधी!

ऑल इंडिया झारखंड स्टूडेंट्स यूनियन (आजसू) ने पिछले विधानसभा चुनाव बीजेपी के साथ मिल कर लड़ा था। इस बार वह उसके ख़िलाफ़ चुनाव मैदान में है। आजसू ने इस बार लातेहार में अपना उम्मीदवार उतारा है, जो बीजेपी के सामने है। पिछले चुनाव में यह सीट आजसू ने जीती थी। ज़ाहिर है, बीजेपी के लिए लातेहार सीट निकालना आसान नहीं होगा। 

पूर्व मुख्य मंत्री बाबू लाल मरांडी की पार्टी झारखंड विकास पार्टी भी चुनावी मैदान में है। मरांडी की पार्टी अपने बूते चुनाव लड़ रही है। पर्यवेक्षकों का कहना है कि उसके पीछे बीजेपी का परोक्ष समर्थन है क्योंकि वह विपक्षी वोटों को काट सकेगी, जिससे सत्तारूढ़ दल को फ़ायदा होगा। 
कांग्रेस ने रामेश्वर ओरांव को लोहरदगा में उतारा है। कांग्रेस ने अपने उम्मीदवार पनकी, बिश्रामपुर, भवनाथपुर, मणिका और डाल्टनगंज में भी उतारे हैं। झामुमो ने गुमला, लातेहार, गढ़वा और विष्णुपुर में अपने उम्मीदवार उतारे हैं तो आरजेडी चतरा, छतरपुर और हुसैनाबाद में मैदान में है। 

'सत्य हिन्दी'
की ताक़त बनिए

गोदी मीडिया और विशाल कारपोरेट मीडिया के मुक़ाबले स्वतंत्र पत्रकारिता का साथ दीजिए और उसकी ताक़त बनिए। 'सत्य हिन्दी' की सदस्यता योजना में आपका आर्थिक योगदान ऐसे नाज़ुक समय में स्वतंत्र पत्रकारिता को बहुत मज़बूती देगा। याद रखिए, लोकतंत्र तभी बचेगा, जब सच बचेगा।

नीचे दी गयी विभिन्न सदस्यता योजनाओं में से अपना चुनाव कीजिए। सभी प्रकार की सदस्यता की अवधि एक वर्ष है। सदस्यता का चुनाव करने से पहले कृपया नीचे दिये गये सदस्यता योजना के विवरण और Membership Rules & NormsCancellation & Refund Policy को ध्यान से पढ़ें। आपका भुगतान प्राप्त होने की GST Invoice और सदस्यता-पत्र हम आपको ईमेल से ही भेजेंगे। कृपया अपना नाम व ईमेल सही तरीक़े से लिखें।
सत्य अनुयायी के रूप में आप पाएंगे:
  1. सदस्यता-पत्र
  2. विशेष न्यूज़लेटर: 'सत्य हिन्दी' की चुनिंदा विशेष कवरेज की जानकारी आपको पहले से मिल जायगी। आपकी ईमेल पर समय-समय पर आपको हमारा विशेष न्यूज़लेटर भेजा जायगा, जिसमें 'सत्य हिन्दी' की विशेष कवरेज की जानकारी आपको दी जायेगी, ताकि हमारी कोई ख़ास पेशकश आपसे छूट न जाय।
  3. 'सत्य हिन्दी' के 3 webinars में भाग लेने का मुफ़्त निमंत्रण। सदस्यता तिथि से 90 दिनों के भीतर आप अपनी पसन्द के किसी 3 webinar में भाग लेने के लिए प्राथमिकता से अपना स्थान आरक्षित करा सकेंगे। 'सत्य हिन्दी' सदस्यों को आवंटन के बाद रिक्त बच गये स्थानों के लिए सामान्य पंजीकरण खोला जायगा। *कृपया ध्यान रखें कि वेबिनार के स्थान सीमित हैं और पंजीकरण के बाद यदि किसी कारण से आप वेबिनार में भाग नहीं ले पाये, तो हम उसके एवज़ में आपको अतिरिक्त अवसर नहीं दे पायेंगे।
सर्वाधिक पढ़ी गयी खबरें

अपनी राय बतायें

झारखंड से और खबरें

ताज़ा ख़बरें

सर्वाधिक पढ़ी गयी खबरें