loader

आडवाणी, जोशी के बाद महाजन भी नाराज़, नहीं लड़ेंगी चुनाव

टिकट की बाट जोह रहीं लोकसभा अध्यक्ष और मध्य प्रदेश बीजेपी की बेहद ताक़तवर नेता सुमित्रा महाजन ने ‘थककर’ शुक्रवार दोपहर इंदौर से चुनाव नहीं लड़ने का एलान कर दिया। सुमित्रा महाजन ‘ताई’ के नाम से जानी जाती हैं। वह इंदौर सीट से लगातार आठ बार से सांसद हैं। इससे पहले वरिष्ठ नेता लाल कृष्ण आडवाणी, मुरली मनोहर जोशी को भी पार्टी ने टिकट नहीं दिया था। 

बीजेपी में प्लस 75 वाले फॉर्मूले के तहत इस बार उनका टिकट लटका हुआ था। हालाँकि ताई चुनाव प्रचार आरंभ कर चुकी थीं। लेकिन पार्टी से मिले हालिया संकेतों के बाद शुक्रवार को उन्होंने एक पत्र (किसी को भी संबोधित नहीं, बस लिखा है प्रकाशनार्थ) लिखकर चुनाव नहीं लड़ने की घोषणा कर दी। 
lk advani sumitra mahajan murli manohar joshi - Satya Hindi
सुमित्रा महाजन का पत्र
लोकसभा स्पीकर ने कहा कि उन्होंने पार्टी के वरिष्ठ लोगों से इस संदर्भ में चर्चा की थी और उन्हीं पर निर्णय छोड़ दिया था लेकिन लगता है कि पार्टी के मन में अभी भी कुछ असमंजस है। पत्र में उन्होंने लिखा है कि अब वह लोकसभा चुनाव नहीं लड़ेंगी, इसलिए पार्टी अपना निर्णय मुक्त मन से करे, निसंकोच होकर करे।
सत्य हिन्दी ऐप डाउनलोड करें

'सत्य हिन्दी'
की ताक़त बनिए


गोदी मीडिया और विशाल कारपोरेट मीडिया के मुक़ाबले स्वतंत्र पत्रकारिता का साथ दीजिए और उसकी ताक़त बनिए। 'सत्य हिन्दी' की सदस्यता योजना में आपका आर्थिक योगदान ऐसे नाज़ुक समय में स्वतंत्र पत्रकारिता को बहुत मज़बूती देगा। याद रखिए, लोकतंत्र तभी बचेगा, जब सच बचेगा।

नीचे दी गयी विभिन्न सदस्यता योजनाओं में से अपना चुनाव कीजिए। सभी प्रकार की सदस्यता की अवधि एक वर्ष है। सदस्यता का चुनाव करने से पहले कृपया नीचे दिये गये सदस्यता योजना के विवरण और Membership Rules & NormsCancellation & Refund Policy को ध्यान से पढ़ें। आपका भुगतान प्राप्त होने की GST Invoice और सदस्यता-पत्र हम आपको ईमेल से ही भेजेंगे। कृपया अपना नाम व ईमेल सही तरीक़े से लिखें।
सत्य अनुयायी के रूप में आप पाएंगे:
  1. सदस्यता-पत्र
  2. विशेष न्यूज़लेटर: 'सत्य हिन्दी' की चुनिंदा विशेष कवरेज की जानकारी आपको पहले से मिल जायगी। आपकी ईमेल पर समय-समय पर आपको हमारा विशेष न्यूज़लेटर भेजा जायगा, जिसमें 'सत्य हिन्दी' की विशेष कवरेज की जानकारी आपको दी जायेगी, ताकि हमारी कोई ख़ास पेशकश आपसे छूट न जाय।
  3. 'सत्य हिन्दी' के 3 webinars में भाग लेने का मुफ़्त निमंत्रण। सदस्यता तिथि से 90 दिनों के भीतर आप अपनी पसन्द के किसी 3 webinar में भाग लेने के लिए प्राथमिकता से अपना स्थान आरक्षित करा सकेंगे। 'सत्य हिन्दी' सदस्यों को आवंटन के बाद रिक्त बच गये स्थानों के लिए सामान्य पंजीकरण खोला जायगा। *कृपया ध्यान रखें कि वेबिनार के स्थान सीमित हैं और पंजीकरण के बाद यदि किसी कारण से आप वेबिनार में भाग नहीं ले पाये, तो हम उसके एवज़ में आपको अतिरिक्त अवसर नहीं दे पायेंगे।
संजीव श्रीवास्तव
सर्वाधिक पढ़ी गयी खबरें

अपनी राय बतायें

चुनाव 2019 से और खबरें

ताज़ा ख़बरें

सर्वाधिक पढ़ी गयी खबरें