loader

जबलपुर के डिप्टी कमिश्नर ने शादी में न्योता 400 को, 80 हो गए कोरोना पॉज़िटिव

ऐसे समय जब मध्य प्रदेश का जबलपुर कोरोना का नया हॉटस्पॉट बनता जा रहा है, एक वरिष्ठ अधिकारी ने नियम क़ानूनों की धज्जियाँ उड़ाते हुए बेटी की शादी का रिशेप्सन रखा। इसके बाद अब तक हुई जाँच में इस रिसेप्शन से जुड़े लोगों में से 80 लोग कोरोना से संक्रमित पाए गए हैं। 
जबलपुर नगर निगम के डिप्टी कमिश्नर राकेश अयाची की बेटी की शादी के आयोजन से शहर में कोरोना की स्थिति विस्फोटक हो गई है। अयाची पर शहर की साफ़ सफाई और कोरोना से बचाव के इंतजाम करने जिम्मा है।
मध्य प्रदेश से और ख़बरें
जबलपुर नगर निगम के डिप्टी कमिश्नर राकेश अयाची ने अनुमति लिए बग़ैर ही शहर के आलीशान होटल गुलज़ार में बेटी की शादी का रिसेप्शन आयोजित किया। इस आयोजन में चार सौ से अधिक लोग शामिल हुए।

आला अफ़सर शामिल

यह कोरोना से जुड़े दिशा-निर्देशों का साफ़ उल्लंघन था, क्योंकि नियम के अनुसार शादी में 50 से अधिक लोग शामिल नहीं हो सकते थे। हद तो तब हो गई जब प्रशासन और पुलिस के आला अधिकारियों ने भी इस आयोजन में शिरकत की। 

यह बात यहीं ख़त्म हो जाती और किसी को इसका पता भी नहीं चलता, पर शादी में शामिल लोगों में से एक के बाद एक कोरोना संक्रमित निकलते चले गए। सात फेरे लगवाने वाले पुजारी से लेकर कैमरामैन, होटल के कर्मचारी, कलेक्ट्रेट के अधिकारियों की ऐसी श्रृंखला बनी कि देखते ही देखते 80 से अधिक लोग कोरोना पाजिटिव पाए गए। इसके बावजूद कार्रवाई के नाम पर प्रशासन हाथ पर हाथ धरे बैठा रहा।

मुख्यमंत्री ने लगाई लताड़

मामले ने तूल तब पकड़ा जब स्थानीय समाचार पत्रों और सोशल मीडिया पर यह मुद्दा गर्माने लगा। बात मुख्यमंत्री शिवराज सिंह तक पहुँची। मुख्यमंत्री ने वीडियो कॉनफ्रेंसिंग के दौरान कलेक्टर भरत यादव को लताड़ लगाते हुए दोषियों के ख़िलाफ़ कार्रवाई करने और शादी के आयोजन में शामिल अधिकारियों की सूची भेजने के निर्देश दिए। 

मुख्यमंत्री के हस्तक्षेप के बाद हरकत में आए प्रशासन ने आनन फानन में डिप्टी कमिश्नर राकेश अयाची और होटल गुलज़ार के मालिक नीटू भाटिया के ख़िलाफ़ धारा 188 के प्रावधानों के तहत मामला दर्ज करा दिया। लेकिन इस बीच होटल के सीसीटीवी फुटेज़ गायब कर दिए गए।

दिशा निर्देशोें की धज्जियाँ उड़ाने वाले आईएएस अधिकारी राकेश अयाची अभी भी अपने पद और स्थान पर बने हुए हैं। कार्रवाई दूसरों पर हुई है, उन पर नहीं।
इस बात की पूरी आशंका है कि इस मामले में कोई ठोस कार्रवाई न  हो और दोषियों को सज़ा मिले। इस शादी के बाद शहर में जिस तरह कोरोना ने तेज़ी पकड़ी है, उससे लोगों की जान सांसत में है।

जबलपुर में जून तक 103 दिनों में जहाँ 405 कोरोना संक्रमित थे, वहीं जुलाई के 31 दिनों में यह संख्या बढ़कर 1369 हो गई है। इस प्रकार जुलाई महीने में रिकॉर्ड 964 लोग संक्रमित हुए हैं।

'सत्य हिन्दी'
की ताक़त बनिए

गोदी मीडिया और विशाल कारपोरेट मीडिया के मुक़ाबले स्वतंत्र पत्रकारिता का साथ दीजिए और उसकी ताक़त बनिए। 'सत्य हिन्दी' की सदस्यता योजना में आपका आर्थिक योगदान ऐसे नाज़ुक समय में स्वतंत्र पत्रकारिता को बहुत मज़बूती देगा। याद रखिए, लोकतंत्र तभी बचेगा, जब सच बचेगा।

नीचे दी गयी विभिन्न सदस्यता योजनाओं में से अपना चुनाव कीजिए। सभी प्रकार की सदस्यता की अवधि एक वर्ष है। सदस्यता का चुनाव करने से पहले कृपया नीचे दिये गये सदस्यता योजना के विवरण और Membership Rules & NormsCancellation & Refund Policy को ध्यान से पढ़ें। आपका भुगतान प्राप्त होने की GST Invoice और सदस्यता-पत्र हम आपको ईमेल से ही भेजेंगे। कृपया अपना नाम व ईमेल सही तरीक़े से लिखें।
सत्य अनुयायी के रूप में आप पाएंगे:
  1. सदस्यता-पत्र
  2. विशेष न्यूज़लेटर: 'सत्य हिन्दी' की चुनिंदा विशेष कवरेज की जानकारी आपको पहले से मिल जायगी। आपकी ईमेल पर समय-समय पर आपको हमारा विशेष न्यूज़लेटर भेजा जायगा, जिसमें 'सत्य हिन्दी' की विशेष कवरेज की जानकारी आपको दी जायेगी, ताकि हमारी कोई ख़ास पेशकश आपसे छूट न जाय।
  3. 'सत्य हिन्दी' के 3 webinars में भाग लेने का मुफ़्त निमंत्रण। सदस्यता तिथि से 90 दिनों के भीतर आप अपनी पसन्द के किसी 3 webinar में भाग लेने के लिए प्राथमिकता से अपना स्थान आरक्षित करा सकेंगे। 'सत्य हिन्दी' सदस्यों को आवंटन के बाद रिक्त बच गये स्थानों के लिए सामान्य पंजीकरण खोला जायगा। *कृपया ध्यान रखें कि वेबिनार के स्थान सीमित हैं और पंजीकरण के बाद यदि किसी कारण से आप वेबिनार में भाग नहीं ले पाये, तो हम उसके एवज़ में आपको अतिरिक्त अवसर नहीं दे पायेंगे।
अमरजीत खरे
सर्वाधिक पढ़ी गयी खबरें

अपनी राय बतायें

मध्य प्रदेश से और खबरें

ताज़ा ख़बरें

सर्वाधिक पढ़ी गयी खबरें