loader
धनंजय मुंडे। फ़ोटो साभार: फ़ेसबुक/धनंजय मुंडे

दुष्कर्म का आरोप लगा तो मंत्री धनंजय मुंडे बोले- संबंध में थे

दुष्कर्म का आरोप लगने पर महाराष्ट्र सरकार में सामाजिक न्याय मंत्री और एनसीपी नेता धनंजय मुंडे ने कहा है कि उनका तो उस महिला से संबंध था। आरोप कथित तौर पर दुष्कर्म पीड़िता की बहन ने लगाया है। अब इस मामले ने तूल पकड़ लिया है क्योंकि बीजेपी ने मंत्री से इस्तीफ़े की माँग कर दी है।

इस बीच धनंजय मुंडे ने इस मामले में सफ़ाई दी है। उन्होंने फ़ेसबुक पोस्ट लिखकर कहा है कि दुष्कर्म का आरोप लगाने वाली महिला और उसकी बहन उन्हें बदनाम और ब्लैकमेल कर रहे हैं। मंत्री ने यह भी कहा है कि इस मामले में उन्होंने नवंबर महीने में पुलिस में शिकायत भी दर्ज कराई थी। 

ताज़ा ख़बरें

महिला की बहन ने 11 जनवरी को मुंबई के ओशिवारा पुलिस स्टेशन में बलात्कार की शिकायत दर्ज कराने का दावा किया। उसने यह भी दावा किया कि वह 1997 से मुंडे को जानती थी। हालाँकि, रिपोर्टों में कहा गया है कि अब तक एफ़आईआर दर्ज नहीं की गई है।

फ़ेसबुक पोस्ट में मुंडे ने दावा किया है कि 2003 से उनका उस महिला के साथ रिश्ता रहा है। उन्होंने कहा कि यह मामला उनके परिवार, पत्नी और दोस्तों को पता था। उन्होंने कहा है कि उस महिला से उनके दो बच्चे भी हैं। उन्होंने दावा किया है कि स्कूल एडमिशन से लेकर सभी दस्तावेजों तक में इन बच्चों का नाम माता-पिता के रूप में है और ये बच्चे उनके साथ रहते हैं। 

'एएनआई' की रिपोर्ट के अनुसार, महिला ने दावा किया है कि मुंडे ने कथित तौर पर उससे शादी करने और बॉलीवुड में एक गायक के रूप में काम करने का वादा किया था। रिपोर्ट के अनुसार, महिला की तरफ़ से पैरवी करने वाले वकील रमेश त्रिपाठी ने कहा है, 'मुंडे ने 2008 में पहली बार उनके साथ बलात्कार किया जब वह घर पर अकेली थीं और उन्होंने इसका एक वीडियो बना लिया। तब से उन्होंने कई बार यही किया है। 2019 में उन्होंने उनसे शादी करने से इनकार कर दिया और कहा कि अगर उन्होंने कुछ भी कहा तो वह वीडियो को सोशल मीडिया पर लीक कर देंगे। पुलिस स्टेशन ने मामले में प्राथमिकी दर्ज करने से इनकार कर दिया। हम कोर्ट जाएँगे। अगर उसके साथ कुछ भी होता है तो मुंडे ज़िम्मेदार होंगे।'

मुंडे ने यह भी आरोप लगाया कि महिला के साथ मिलकर उसकी बहन ने 2019 से ब्लैकमेल करना शुरू कर दिया था। उन्होंने कहा कि मीडिया और सोशल मीडिया पर उन्हें बदनाम किया जा रहा है। वह नवंबर 2020 में बॉम्बे हाई कोर्ट में भी मामले को ले गए थे।

मुंडे सफ़ाई में कुछ भी कहें, लेकिन बीजेपी ने उन्हें निशाना बनाना शुरू कर दिया है। बीजेपी की महिला शाखा ने मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे को पत्र लिखकर मुंडे को कैबिनेट से हटाने की माँग की है। महाराष्ट्र बीजेपी के नेता कीर्ति सोमैया ने ट्वीट कर मुंडे को हटाने की माँग की। उन्होंने एक वीडियो मैसेज के साथ लिखा, '3 महिलाओं के साथ संबंध होने के बाद मंत्री धनंजय मुंडे को महाराष्ट्र मंत्रिमंडल से बाहर रहना चाहिए जब तक कि वह पाक-साफ़ न हो जाएँ।'

बता दें कि धनंजय मुंडे बीजेपी के वरिष्ठ नेता और पूर्व केंद्रीय मंत्री गोपीनाथ मुंडे के भतीजे हैं, जिनकी 2014 में एक सड़क दुर्घटना में मृत्यु हो गई थी। उन्होंने 2013 में बीजेपी छोड़ दी और चचेरे बहन और गोपीनाथ मुंडे की बेटी पंकजा मुंडे के साथ एक कलह के बाद वह एनसीपी में शामिल हो गए।
सत्य हिन्दी ऐप डाउनलोड करें

गोदी मीडिया और विशाल कारपोरेट मीडिया के मुक़ाबले स्वतंत्र पत्रकारिता का साथ दीजिए और उसकी ताक़त बनिए। 'सत्य हिन्दी' की सदस्यता योजना में आपका आर्थिक योगदान ऐसे नाज़ुक समय में स्वतंत्र पत्रकारिता को बहुत मज़बूती देगा। याद रखिए, लोकतंत्र तभी बचेगा, जब सच बचेगा।

नीचे दी गयी विभिन्न सदस्यता योजनाओं में से अपना चुनाव कीजिए। सभी प्रकार की सदस्यता की अवधि एक वर्ष है। सदस्यता का चुनाव करने से पहले कृपया नीचे दिये गये सदस्यता योजना के विवरण और Membership Rules & NormsCancellation & Refund Policy को ध्यान से पढ़ें। आपका भुगतान प्राप्त होने की GST Invoice और सदस्यता-पत्र हम आपको ईमेल से ही भेजेंगे। कृपया अपना नाम व ईमेल सही तरीक़े से लिखें।
सत्य अनुयायी के रूप में आप पाएंगे:
  1. सदस्यता-पत्र
  2. विशेष न्यूज़लेटर: 'सत्य हिन्दी' की चुनिंदा विशेष कवरेज की जानकारी आपको पहले से मिल जायगी। आपकी ईमेल पर समय-समय पर आपको हमारा विशेष न्यूज़लेटर भेजा जायगा, जिसमें 'सत्य हिन्दी' की विशेष कवरेज की जानकारी आपको दी जायेगी, ताकि हमारी कोई ख़ास पेशकश आपसे छूट न जाय।
  3. 'सत्य हिन्दी' के 3 webinars में भाग लेने का मुफ़्त निमंत्रण। सदस्यता तिथि से 90 दिनों के भीतर आप अपनी पसन्द के किसी 3 webinar में भाग लेने के लिए प्राथमिकता से अपना स्थान आरक्षित करा सकेंगे। 'सत्य हिन्दी' सदस्यों को आवंटन के बाद रिक्त बच गये स्थानों के लिए सामान्य पंजीकरण खोला जायगा। *कृपया ध्यान रखें कि वेबिनार के स्थान सीमित हैं और पंजीकरण के बाद यदि किसी कारण से आप वेबिनार में भाग नहीं ले पाये, तो हम उसके एवज़ में आपको अतिरिक्त अवसर नहीं दे पायेंगे।
सर्वाधिक पढ़ी गयी खबरें

अपनी राय बतायें

महाराष्ट्र से और खबरें

ताज़ा ख़बरें

सर्वाधिक पढ़ी गयी खबरें