loader

कोरोना: पुणे में 13 जुलाई से 10 दिन के लिए पूरी तरह लॉकडाउन

महाराष्ट्र के पुणे में अब इतने ज़्यादा कोरोना संक्रमण के मामले आने लगे हैं कि पूरी तरह लॉकडाउन का फ़ैसला लिया गया है। महाराष्ट्र सरकार ने घोषणा की है कि पुणे और उसके आसपास के पिंपरी-चिंचवाड़ ज़िले में 13-23 जुलाई तक पूरी तरह लॉकडाउन रहेगा। यानी ज़रूरी सामान और सेवाएँ ही जारी रहेंगी। 

पुणे में गुरुवार को 1,803 नए कोरोना संक्रमण के मामले आए हैं। यह एक दिन में अब तक का सबसे ज़्यादा है। शहर में कोरोना संक्रमित लोगों की संख्या बढ़कर अब 34,399 हो गई है। गुरुवार को 34 लोगों की मौत की रिपोर्ट आई। वहाँ अब तक 978 लोगों की मौत हो चुकी है। औद्योगिक शहर पिंपरी-चिंचवाड़ में भी गुरुवार को 573 नए कोरोनो वायरस संक्रमण के मामले आए। इसके साथ ही वहाँ 6,982 संक्रमण के मामले हो गए हैं। 

ताज़ा ख़बरें
पुणे ज़िले के कलेक्टर नवल किशोर राम ने कहा है कि पुणे ज़िले के ग्रामीण क्षेत्रों में 22 गाँवों की पहचान की गई है, जहाँ यह तालाबंदी लागू की जाएगी।

बता दें कि महाराष्ट्र देश में सबसे ज़्यादा संक्रमित राज्य है। राज्य में 2 लाख 30 हज़ार 599 पॉजिटिव केस आ चुके हैं। अब तक 9 हज़ार 667 लोगों की मौत हो चुकी है। 1 लाख 27 हज़ार 259 मरीज़ ठीक हो चुके हैं लेकिन अभी भी 93 हज़ार 673 लोग संक्रमित हैं।

तेज़ी से संक्रमण बढ़ने के मद्देनज़र ही उत्तर प्रदेश सरकार ने राज्य में 55 घंटे का लॉकडाउन भी लगा दिया है। यह लॉकडाउन शुक्रवार रात 10 बजे से शुरू होगा और सोमवार सुबह 5 बजे तक चलेगा। इस दौरान सभी ऑफ़िस, बाज़ार और व्यापारिक प्रतिष्ठान बंद रहेंगे, हालांकि ज़रूरी सामानों की आपूर्ति होती रहेगी। 

उत्तर प्रदेश सरकार ने शुक्रवार को सख़्त क़दम उठाते हुए कहा है कि प्रदेश में मास्क पहनना हर व्यक्ति के लिए ज़रूरी है और कोई व्यक्ति सार्वजनिक स्थान पर बिना मास्क के पाया गया तो उस पर 500 रुपये का जुर्माना लगाया जाएगा। पहले यह जुर्माना 100 रुपये था। बता दें कि उत्तर प्रदेश में 32 हज़ार 362 संक्रमण के मामले आ चुके हैं और अब तक 862 लोगों की मौत हुई है। 

महाराष्ट्र से और ख़बरें

फ़िलहाल पूरे देश में कोरोना संक्रमण काफ़ी तेज़ी से बढ़ रहा है। शुक्रवार को देश में 26 हज़ार से भी ज़्यादा नये संक्रमण के मामले आए। यह संख्या एक दिन में सबसे ज़्यादा है। नये संक्रमण के मामले अभी बढ़ते ही जा रहे हैं। पूरे देश में अब तक 7 लाख 93 हज़ार 802 पॉजिटिव केस आ चुके हैं और 21 हज़ार 604 मरीज़ों की मौत हो गई है। देश भर में 4 लाख 95 हज़ार मरीज़ ठीक हुए हैं और फ़िलहाल 2 लाख 76 हज़ार लोग संक्रमित हैं।

'सत्य हिन्दी'
की ताक़त बनिए

गोदी मीडिया और विशाल कारपोरेट मीडिया के मुक़ाबले स्वतंत्र पत्रकारिता का साथ दीजिए और उसकी ताक़त बनिए। 'सत्य हिन्दी' की सदस्यता योजना में आपका आर्थिक योगदान ऐसे नाज़ुक समय में स्वतंत्र पत्रकारिता को बहुत मज़बूती देगा। याद रखिए, लोकतंत्र तभी बचेगा, जब सच बचेगा।

नीचे दी गयी विभिन्न सदस्यता योजनाओं में से अपना चुनाव कीजिए। सभी प्रकार की सदस्यता की अवधि एक वर्ष है। सदस्यता का चुनाव करने से पहले कृपया नीचे दिये गये सदस्यता योजना के विवरण और Membership Rules & NormsCancellation & Refund Policy को ध्यान से पढ़ें। आपका भुगतान प्राप्त होने की GST Invoice और सदस्यता-पत्र हम आपको ईमेल से ही भेजेंगे। कृपया अपना नाम व ईमेल सही तरीक़े से लिखें।
सत्य अनुयायी के रूप में आप पाएंगे:
  1. सदस्यता-पत्र
  2. विशेष न्यूज़लेटर: 'सत्य हिन्दी' की चुनिंदा विशेष कवरेज की जानकारी आपको पहले से मिल जायगी। आपकी ईमेल पर समय-समय पर आपको हमारा विशेष न्यूज़लेटर भेजा जायगा, जिसमें 'सत्य हिन्दी' की विशेष कवरेज की जानकारी आपको दी जायेगी, ताकि हमारी कोई ख़ास पेशकश आपसे छूट न जाय।
  3. 'सत्य हिन्दी' के 3 webinars में भाग लेने का मुफ़्त निमंत्रण। सदस्यता तिथि से 90 दिनों के भीतर आप अपनी पसन्द के किसी 3 webinar में भाग लेने के लिए प्राथमिकता से अपना स्थान आरक्षित करा सकेंगे। 'सत्य हिन्दी' सदस्यों को आवंटन के बाद रिक्त बच गये स्थानों के लिए सामान्य पंजीकरण खोला जायगा। *कृपया ध्यान रखें कि वेबिनार के स्थान सीमित हैं और पंजीकरण के बाद यदि किसी कारण से आप वेबिनार में भाग नहीं ले पाये, तो हम उसके एवज़ में आपको अतिरिक्त अवसर नहीं दे पायेंगे।
सर्वाधिक पढ़ी गयी खबरें

अपनी राय बतायें

महाराष्ट्र से और खबरें

ताज़ा ख़बरें

सर्वाधिक पढ़ी गयी खबरें