loader

कोरोना: महाराष्ट्र में रिकॉर्ड 25,833 केस, अब तक सबसे ज़्यादा

महाराष्ट्र में कोरोना का संक्रमण एक बार फिर बेहद ख़तरनाक होता दिख रहा है। राज्य में पिछले 24 घंटे में संक्रमण के 25,833 नए मामले सामने आए हैं और 58 लोगों की मौत हुई है। बीते दिन संक्रमण का यह आंकड़ा 23,179 था। इससे पहले राज्य में सबसे ज़्यादा संक्रमण के मामले पिछले साल 11 सितंबर को 24 हज़ार 886 संक्रमण के मामले आए थे। महाराष्ट्र बड़ी मुश्किल से कोरोना संक्रमण पर क़ाबू पा सका था लेकिन यहां कोरोना फिर से बेकाबू होता दिख रहा है। मुंबई में 24 घंटे में 2,877 नए मामले सामने आए और 8 लोगों की मौत हुई। 

केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने कहा है कि देश भर में कोरोना के कुल एक्टिव मामलों में से 60 फ़ीसदी महाराष्ट्र से ही हैं जबकि मौतों के मामलों में यह आंकड़ा 45.4 फ़ीसदी है। केंद्र सरकार कह चुकी है महाराष्ट्र में इस महामारी की दूसरी लहर आ चुकी है। महाराष्ट्र की वजह से गुरूवार को देश भर में कोरोना के मामलों का ग्राफ़ काफी ऊपर गया और एक दिन में 35 हज़ार 871 मामले आए। 

ताज़ा ख़बरें

महाराष्ट्र में अभी कुल एक्टिव केस 1,66,353 हैं। राज्य में 53,138 लोग इस महामारी के कारण जान गवा चुके हैं। दूसरे सूबों की बात करें तो मध्य प्रदेश में बीते 24 घंटों में 917 मामले, गोवा में 98 मामले सामने आए। 

इस वजह से महाराष्ट्र सरकार ने बीते कुछ दिनों में कई इलाक़ों में फिर से लॉकडाउन लगाया है और कुछ जगहों पर प्रतिबंध बढ़ाए हैं। इन शहरों में नागपुर, पुणे, यवतमाम, अकोला आदि शामिल हैं। नागपुर में 21 मार्च तक लॉकडाउन है जबकि पुणे में रात 11 बजे से सुबह 6 बजे तक नाइट कर्फ्यू लगा दिया गया है। 

पुणे में सभी स्कूलों को 31 मार्च तक के लिए बंद कर दिया गया है। इसके अलावा परभणी जिले के प्रशासन ने परभणी से दूसरे शहरों जैसे- मुंबई, औरंगाबाद, पुणे और नांदेड़ में जाने वाली बसों की सेवा बंद कर दी है। 

केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय के मुताबिक़, अब तक वैक्सीन की कुल 3,89,20,259 डोज दी जा चुकी हैं। देश में कोरोना के टीकाकरण को 2 महीने का वक़्त पूरा हो चुका है।  

Corona cases in Maharashtra  - Satya Hindi

कोरोना के बढ़ते मामलों को देखते हुए ही प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने बुधवार को मुख्यमंत्रियों के साथ बैठक की और त्वरित क़दम उठाने की ज़रूरत बताई। प्रधानमंत्री ने कहा कि हमें कोरोना की दूसरी लहर को बढ़ने से जल्द रोकना होगा। प्रधानमंत्री ने वैक्सीन के बर्बाद होने की ख़बरों को लेकर गहरी चिंता जाहिर की। 

महाराष्ट्र से और ख़बरें

प्रधानमंत्री ने छोटे स्तर पर कंटेनमेंट ज़ोन बनाने, प्रतिबंधों को लागू करने जैसे क़दमों को उठाने के लिए भी कहा था। उन्होंने मुख्यमंत्रियों से कहा था कि यदि महामारी को अभी नहीं रोका गया तो यह पूरे देश में फिर से फैल जाएगी।

केंद्र और राज्य सरकारें लोगों से लगातार इस बात की अपील कर रही हैं कि वे क़तई ढिलाई न करें। कोरोना से जुड़े नियमों का पालन करें। मसलन, मास्क ढंग से पहनकर ही घर से बाहर निकलें, सोशल डिस्टेंसिंग का ध्यान रखें और सैनिटाइजर का इस्तेमाल करें। लेकिन इसके बावजूद कई शहरों में लोग जबरदस्त लापरवाही करते दिखते हैं।

दुनिया फिर खौफ़ में

पूरी दुनिया फिर से कोरोना की चपेट में आती दिख रही है। हर रोज़ संक्रमण के मामले 5 लाख से ज़्यादा हो गए हैं। ब्राज़ील में तो एक दिन में 90 हज़ार से भी ज़्यादा संक्रमण के मामले आए हैं। अमेरिका में संक्रमण के 62 हज़ार से ज़्यादा मामले आए। फ्रांस में क़रीब 38 हज़ार, इटली में 23 हज़ार, पोलैंड में 25 हज़ार, तुर्की में 18 हज़ार और जर्मनी में 16 हज़ार पॉजिटिव केस आए हैं। कुछ अन्य देशों में भी संक्रमण तेज़ी से बढ़ने लगा है। इस वजह से लोगों में इस महामारी का ख़ौफ़ फिर से बढ़ने लगा है। 

सत्य हिन्दी ऐप डाउनलोड करें

गोदी मीडिया और विशाल कारपोरेट मीडिया के मुक़ाबले स्वतंत्र पत्रकारिता का साथ दीजिए और उसकी ताक़त बनिए। 'सत्य हिन्दी' की सदस्यता योजना में आपका आर्थिक योगदान ऐसे नाज़ुक समय में स्वतंत्र पत्रकारिता को बहुत मज़बूती देगा। याद रखिए, लोकतंत्र तभी बचेगा, जब सच बचेगा।

नीचे दी गयी विभिन्न सदस्यता योजनाओं में से अपना चुनाव कीजिए। सभी प्रकार की सदस्यता की अवधि एक वर्ष है। सदस्यता का चुनाव करने से पहले कृपया नीचे दिये गये सदस्यता योजना के विवरण और Membership Rules & NormsCancellation & Refund Policy को ध्यान से पढ़ें। आपका भुगतान प्राप्त होने की GST Invoice और सदस्यता-पत्र हम आपको ईमेल से ही भेजेंगे। कृपया अपना नाम व ईमेल सही तरीक़े से लिखें।
सत्य अनुयायी के रूप में आप पाएंगे:
  1. सदस्यता-पत्र
  2. विशेष न्यूज़लेटर: 'सत्य हिन्दी' की चुनिंदा विशेष कवरेज की जानकारी आपको पहले से मिल जायगी। आपकी ईमेल पर समय-समय पर आपको हमारा विशेष न्यूज़लेटर भेजा जायगा, जिसमें 'सत्य हिन्दी' की विशेष कवरेज की जानकारी आपको दी जायेगी, ताकि हमारी कोई ख़ास पेशकश आपसे छूट न जाय।
  3. 'सत्य हिन्दी' के 3 webinars में भाग लेने का मुफ़्त निमंत्रण। सदस्यता तिथि से 90 दिनों के भीतर आप अपनी पसन्द के किसी 3 webinar में भाग लेने के लिए प्राथमिकता से अपना स्थान आरक्षित करा सकेंगे। 'सत्य हिन्दी' सदस्यों को आवंटन के बाद रिक्त बच गये स्थानों के लिए सामान्य पंजीकरण खोला जायगा। *कृपया ध्यान रखें कि वेबिनार के स्थान सीमित हैं और पंजीकरण के बाद यदि किसी कारण से आप वेबिनार में भाग नहीं ले पाये, तो हम उसके एवज़ में आपको अतिरिक्त अवसर नहीं दे पायेंगे।
सर्वाधिक पढ़ी गयी खबरें

अपनी राय बतायें

महाराष्ट्र से और खबरें

ताज़ा ख़बरें

सर्वाधिक पढ़ी गयी खबरें