loader

खुद को किंग मेकर समझने वाले लोग अपने मंसूबों में सफल नहीं होंगे: राउत 

शिवसेना के नेता और कैबिनेट मंत्री एकनाथ शिंदे और कुछ विधायकों के गायब होने के बाद शिवसेना के मुख्य प्रवक्ता संजय राउत ने बीजेपी पर हमला बोला है। 

संजय राउत ने कहा कि बीजेपी को याद रखना चाहिए कि महाराष्ट्र राजस्थान और मध्य प्रदेश जैसा नहीं है। मध्य प्रदेश में कांग्रेस की सरकार गिर गई थी और इसका आरोप बीजेपी पर लगा था। 

राउत ने कहा कि महाराष्ट्र में कोई भूकंप नहीं आएगा। संजय राउत ने कहा कि कुछ लोग अपने आपको किंग मेकर समझते हैं लेकिन वे लोग अपने मंसूबों में सफल नहीं होंगे। इस बीच बीजेपी नेता प्रवीण दरेकर ने कहा है कि अगर जरूरत पड़ी तो बीजेपी महाराष्ट्र में सरकार बनाने का दावा पेश करेगी। 

ताज़ा ख़बरें

एकनाथ शिंदे शिवसेना के 11 विधायकों के साथ गुजरात के सूरत में एक होटल में मौजूद हैं। मीडिया में आ रही ख़बरों में विधायकों की संख्या 15 से 20 तक बताई गई है। सियासी संकट को देखते हुए शिवसेना प्रमुख और मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने भी अपने विधायकों व आला नेताओं के साथ आपात बैठक की है।

संजय राउत ने इस बात को स्वीकार किया है कि शिवसेना के कुछ विधायकों और एकनाथ शिंदे से संपर्क नहीं हो पा रहा है। 

हलचल तेज 

महाराष्ट्र में हुए इस सियासी घटनाक्रम के बाद दिल्ली से मुंबई तक हलचल बेहद तेज हो गई है। महा विकास आघाडी सरकार के तीनों दल शिवसेना, एनसीपी और कांग्रेस ने अपने विधायकों को एकजुट करना शुरू कर दिया है।

Maharashtra political crisis Shiv Sena leader Eknath Shinde - Satya Hindi

वापस आने का भरोसा

एकनाथ शिंदे शिवसेना के पुराने नेताओं में शुमार हैं। संजय राउत ने कहा कि एकनाथ शिंदे वापस आ जाएंगे और वह उनके पुराने मित्र हैं। उन्होंने आरोप लगाया कि शिवसेना के जो विधायक सूरत के होटल में एकनाथ शिंदे के साथ हैं वह वापस आना चाहते हैं लेकिन उन्हें आने नहीं दिया जा रहा है। 

राउत ने कहा कि इस मामले में उनकी मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे और एनसीपी प्रमुख शरद पवार से भी बातचीत चल रही है। उन्होंने कहा कि महाराष्ट्र में सब कुछ ठीक हो जाएगा।

महाराष्ट्र से और खबरें

26 विधायकों के नाम आए

इंडिया टुडे के मुताबिक़, एकनाथ शिंदे के साथ सूरत के होटल में 26 विधायक मौजूद हैं। इनके नाम तानाजी सावंत, बालाजी कल्याणकर,  प्रकाश आनंदराव अबितकर, एकनाश शिंदे, अब्दुल सत्तार, संजय पांडुरंग, श्रीनिवास वनगा, महेश शिंदे, संजय रायमुलकर, विश्वनाथ भोएर, संदीपन राव भुमरे, शांताराम मोरे, रमेश बोर्नारे, अनिल बाबर, चिन्मनराव पाटिल, शंभूराज देसाई, महेंद्र दलवी, शाहजी पाटिल, प्रदीप जायसवाल, महेंद्र थोर्वे, किशोर पाटिल, ज्ञानराज चौगुले, बालाजी किनिकर, भारतशेत गोगावले, संजय गायकवाड़ और सुहास कांडे हैं। इनमें कई विधायक ठाकरे सरकार में मंत्री भी हैं। 

महाराष्ट्र प्रदेश कांग्रेस के अध्यक्ष नाना पटोले ने इस सियासी संकट पर कहा कि सत्य की जीत होगी जबकि महाराष्ट्र के पूर्व मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस को बीजेपी हाईकमान ने दिल्ली बुलाया है।

महाराष्ट्र में राज्यसभा चुनाव के बाद विधान परिषद के चुनाव में भी महा विकास आघाडी सरकार में शामिल दलों के विधायकों ने क्रॉस वोटिंग की है। इसके बाद ही यह आशंका है कि महा विकास आघाडी सरकार के दलों में सब कुछ ठीक-ठाक नहीं है।

सत्य हिन्दी ऐप डाउनलोड करें

गोदी मीडिया और विशाल कारपोरेट मीडिया के मुक़ाबले स्वतंत्र पत्रकारिता का साथ दीजिए और उसकी ताक़त बनिए। 'सत्य हिन्दी' की सदस्यता योजना में आपका आर्थिक योगदान ऐसे नाज़ुक समय में स्वतंत्र पत्रकारिता को बहुत मज़बूती देगा। याद रखिए, लोकतंत्र तभी बचेगा, जब सच बचेगा।

नीचे दी गयी विभिन्न सदस्यता योजनाओं में से अपना चुनाव कीजिए। सभी प्रकार की सदस्यता की अवधि एक वर्ष है। सदस्यता का चुनाव करने से पहले कृपया नीचे दिये गये सदस्यता योजना के विवरण और Membership Rules & NormsCancellation & Refund Policy को ध्यान से पढ़ें। आपका भुगतान प्राप्त होने की GST Invoice और सदस्यता-पत्र हम आपको ईमेल से ही भेजेंगे। कृपया अपना नाम व ईमेल सही तरीक़े से लिखें।
सत्य अनुयायी के रूप में आप पाएंगे:
  1. सदस्यता-पत्र
  2. विशेष न्यूज़लेटर: 'सत्य हिन्दी' की चुनिंदा विशेष कवरेज की जानकारी आपको पहले से मिल जायगी। आपकी ईमेल पर समय-समय पर आपको हमारा विशेष न्यूज़लेटर भेजा जायगा, जिसमें 'सत्य हिन्दी' की विशेष कवरेज की जानकारी आपको दी जायेगी, ताकि हमारी कोई ख़ास पेशकश आपसे छूट न जाय।
  3. 'सत्य हिन्दी' के 3 webinars में भाग लेने का मुफ़्त निमंत्रण। सदस्यता तिथि से 90 दिनों के भीतर आप अपनी पसन्द के किसी 3 webinar में भाग लेने के लिए प्राथमिकता से अपना स्थान आरक्षित करा सकेंगे। 'सत्य हिन्दी' सदस्यों को आवंटन के बाद रिक्त बच गये स्थानों के लिए सामान्य पंजीकरण खोला जायगा। *कृपया ध्यान रखें कि वेबिनार के स्थान सीमित हैं और पंजीकरण के बाद यदि किसी कारण से आप वेबिनार में भाग नहीं ले पाये, तो हम उसके एवज़ में आपको अतिरिक्त अवसर नहीं दे पायेंगे।
सर्वाधिक पढ़ी गयी खबरें

अपनी राय बतायें

महाराष्ट्र से और खबरें

ताज़ा ख़बरें

सर्वाधिक पढ़ी गयी खबरें