loader
प्रतीकात्मक तसवीर

मुंबई: प्राइवेट डॉक्टर्स को चेतावनी, कोरोना संक्रमितों का इलाज करें, वरना रद्द होगा लाइसेंस

मुंबई में निजी अस्पतालों में काम कर रहे लगभग 25 हज़ार डॉक्टर्स से कहा गया है कि वे कोरोना संक्रमितों का इलाज कर रहे अस्पतालों में तत्काल प्रभाव से अपनी सेवाएं दें। डॉक्टर्स से कहा गया है कि जिस अस्पताल में वे पोस्टेड होंगे, वहां उन्हें कम से कम 15 दिन काम करना होगा, जो लोग ऐसा नहीं करेंगे, उनका प्रैक्टिसिंग लाइसेंस रद्द कर दिया जाएगा। इस बारे में नोटिफ़िकेशन जारी कर दिया गया है। 

ताज़ा ख़बरें

नोटिफ़िकेशन में मेडिकल एजुकेशन एंड रिसर्च (मुंबई) के निदेशक डॉ. टीपी लहाणे के हस्ताक्षर हैं। नोटिफ़िकेशन को महाराष्ट्र मेडिकल काउंसिल के जरिये मुंबई के सभी प्राइवेट डॉक्टर्स को भेज दिया गया है। 

लहाणे ने अंग्रेजी अख़बार ‘मुंबई मिरर’ को बताया कि यह फ़ैसला मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे और स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों से बातचीत के बाद लिया गया है। इस नोटिफ़िकेशन में 55 साल से ज़्यादा उम्र के डॉक्टर्स को छूट दी गई है। 

महाराष्ट्र से और ख़बरें

लहाणे ने अख़बार से कहा कि अगला एक महीना कोरोना संकट के लिहाज से मुंबई के लिए बेहद अहम है और हमें ज़्यादा से ज्यादा स्वास्थ्यकर्मियों की ज़रूरत है। लहाणे ने कहा कि जो डॉक्टर्स महामारी के दौरान काम करने से इनकार करेंगे उन्हें स्थायी तौर पर निलंबित कर दिया जाएगा। 

उन्होंने ‘मुंबई मिरर’ से कहा, ‘हम डॉक्टर्स को प्रोटेक्टिव गियर्स भी देंगे और उन्हें काम के पैसे भी दिए जाएंगे।’ 

कोरोना संकट के दौरान मुंबई सहित देश भर से ऐसी ख़बरें आई हैं कि प्राइवेट अस्पतालों और डॉक्टर्स ने कोरोना संक्रमितों के इलाज से हाथ पीछे खींच लिए हैं। 

सत्य हिन्दी ऐप डाउनलोड करें

'सत्य हिन्दी'
की ताक़त बनिए


गोदी मीडिया और विशाल कारपोरेट मीडिया के मुक़ाबले स्वतंत्र पत्रकारिता का साथ दीजिए और उसकी ताक़त बनिए। 'सत्य हिन्दी' की सदस्यता योजना में आपका आर्थिक योगदान ऐसे नाज़ुक समय में स्वतंत्र पत्रकारिता को बहुत मज़बूती देगा। याद रखिए, लोकतंत्र तभी बचेगा, जब सच बचेगा।

नीचे दी गयी विभिन्न सदस्यता योजनाओं में से अपना चुनाव कीजिए। सभी प्रकार की सदस्यता की अवधि एक वर्ष है। सदस्यता का चुनाव करने से पहले कृपया नीचे दिये गये सदस्यता योजना के विवरण और Membership Rules & NormsCancellation & Refund Policy को ध्यान से पढ़ें। आपका भुगतान प्राप्त होने की GST Invoice और सदस्यता-पत्र हम आपको ईमेल से ही भेजेंगे। कृपया अपना नाम व ईमेल सही तरीक़े से लिखें।
सत्य अनुयायी के रूप में आप पाएंगे:
  1. सदस्यता-पत्र
  2. विशेष न्यूज़लेटर: 'सत्य हिन्दी' की चुनिंदा विशेष कवरेज की जानकारी आपको पहले से मिल जायगी। आपकी ईमेल पर समय-समय पर आपको हमारा विशेष न्यूज़लेटर भेजा जायगा, जिसमें 'सत्य हिन्दी' की विशेष कवरेज की जानकारी आपको दी जायेगी, ताकि हमारी कोई ख़ास पेशकश आपसे छूट न जाय।
  3. 'सत्य हिन्दी' के 3 webinars में भाग लेने का मुफ़्त निमंत्रण। सदस्यता तिथि से 90 दिनों के भीतर आप अपनी पसन्द के किसी 3 webinar में भाग लेने के लिए प्राथमिकता से अपना स्थान आरक्षित करा सकेंगे। 'सत्य हिन्दी' सदस्यों को आवंटन के बाद रिक्त बच गये स्थानों के लिए सामान्य पंजीकरण खोला जायगा। *कृपया ध्यान रखें कि वेबिनार के स्थान सीमित हैं और पंजीकरण के बाद यदि किसी कारण से आप वेबिनार में भाग नहीं ले पाये, तो हम उसके एवज़ में आपको अतिरिक्त अवसर नहीं दे पायेंगे।
सर्वाधिक पढ़ी गयी खबरें

अपनी राय बतायें

महाराष्ट्र से और खबरें

ताज़ा ख़बरें

सर्वाधिक पढ़ी गयी खबरें