loader
शरद पवार

मंत्री धनंजय मुंडे के ख़िलाफ़ रेप का आरोप गंभीर: शरद पवार

एनसीपी प्रमुख शरद पवार ने महाराष्ट्र के सामाजिक न्याय मंत्री और एनसीपी नेता धनंजय मुंडे पर दुष्कर्म के आरोप को गंभीर बताया है। पवार ने गुरुवार को कहा कि पार्टी जितनी जल्दी हो सके इस मुद्दे पर चर्चा कर फ़ैसला लेगी। इस बीच दुष्कर्म के इस मामले में एक नया मोड़ आ गया है। जिस महिला ने धनंजय मुंडे पर आरोप लगाया है अब उसके बारे में एक बीजेपी नेता ने कहा है कि उस महिला ने उनको भी हनीट्रैप और ब्लैकमेल करने की कोशिश की थी। दुष्कर्म का आरोप लगाए जाने पर धनंजय मुंडे ने भी कहा है कि उनको ब्लैकमेल किया जा रहा है।

इस मामले में आरोप कथित तौर पर दुष्कर्म पीड़िता की बहन ने लगाया है। हालाँकि धनंजय मुंडे सफ़ाई दे चुके हैं, लेकिन बीजेपी ने उनको मंत्री पद से हटाए जाने की माँग कर सरकार पर दबाव बनाने की कोशिश की है। 

ताज़ा ख़बरें

इसी बीच शरद पवार का बयान आया है। उन्होने कहा है, 'मुझे लगता है कि उनके ख़िलाफ़ आरोप गंभीर है। स्वाभाविक रूप से, हमें इस मुद्दे पर एक पार्टी के रूप में चर्चा करनी होगी। मैं अपने प्रमुख सहयोगियों के साथ विस्तार से चर्चा करूँगा और उन्हें विश्वास में लूँगा।'

पवार ने संवाददाताओं से कहा कि मुंडे ने बुधवार को उनसे मुलाक़ात की और आरोप के संबंध में विस्तृत जानकारी दी। उन्होंने कहा कि पार्टी सहयोगियों के विचारों को जानने के बाद आगे क़दम उठाया जाएगा।

धनंजय मुंडे इस मामले में सफ़ाई में कह चुके हैं कि उनका तो आरोप लगाने वाली उस महिला की बहन के साथ संबंध था। उन्होंने फ़ेसबुक पोस्ट लिखकर कहा है कि 2003 से उनका उस महिला के साथ रिश्ता रहा है। उन्होंने कहा कि यह मामला उनके परिवार, पत्नी और दोस्तों को पता था। उन्होंने यह भी कहा है कि उस महिला से उनके दो बच्चे भी हैं। उन्होंने दावा किया है कि स्कूल एडमिशन से लेकर सभी दस्तावेजों तक में इन बच्चों का नाम माता-पिता के रूप में है और ये बच्चे उनके साथ रहते हैं। 

फ़ेसबुक पोस्ट में मुंडे ने दावा किया है कि दुष्कर्म का आरोप लगाने वाली महिला और उसकी बहन उन्हें बदनाम और ब्लैकमेल कर रहे हैं।

मंत्री ने यह भी कहा है कि इस मामले में उन्होंने नवंबर महीने में पुलिस में शिकायत भी दर्ज कराई थी। वह नवंबर 2020 में बॉम्बे हाई कोर्ट में भी मामले को ले गए थे।

sharad pawar says rape charges on dhananjay munde is serious - Satya Hindi
धनंजय मुंडे

दुष्कर्म के मामले में महिला की बहन ने 11 जनवरी को मुंबई के ओशिवारा पुलिस स्टेशन में बलात्कार की शिकायत दर्ज कराने का दावा किया। उसने यह भी दावा किया कि वह 1997 से मुंडे को जानती थी। हालाँकि, रिपोर्टों में कहा गया है कि अब तक एफ़आईआर दर्ज नहीं की गई। एक रिपोर्ट के अनुसार, महिला ने दावा किया है कि मुंडे ने कथित तौर पर उससे शादी करने और बॉलीवुड में एक गायक के रूप में काम दिलाने का वादा किया था। 

बीजेपी नेता का महिला पर आरोप

महिला द्वारा दुष्कर्म का आरोप लगाए जाने के मामले में एक नया मोड़ तब आ गया जब बीजेपी नेता कृष्णा हेगड़े ने आरोप लगा दिया कि जिस महिला ने मुंडे पर आरोप लगाया है उसी ने उनसे संबंध बनाने और ब्लैकमेल करने की कोशिश की थी। उन्होंने कहा कि महिला ने उन्हें 2010 से लेकर पाँच साल तक निशाना बनाने की कोशिश की थी। हेगड़े ने मुंबई पुलिस को भेजे एक पत्र में जाँच की माँग की है। 

sharad pawar says rape charges on dhananjay munde is serious - Satya Hindi
कृष्णा हेगड़ेफ़ोटो साभार: कृष्णाहेगड़े डॉट कॉम

'इंडिया टुडे' की रिपोर्ट के अनुसार, बीजेपी नेता ने आगे दावा किया है कि महिला ने रौब दिखाया और उत्पीड़न 2015 तक जारी रहा लेकिन उन्होंने उससे मिलने से इनकार कर दिया। हेगड़े ने कहा कि उन्होंने स्पष्ट रूप से उससे कहा कि उन्हें उसके साथ किसी भी तरह के संबंध में कोई दिलचस्पी नहीं है। हेगड़े ने पुलिस को बताया,

मेरे सूत्रों के माध्यम से मुझे पता चला कि वह एक संदिग्ध व्यक्ति है जो हनी ट्रैप कर रही है। मैंने उससे मिलने से पूरी तरह परहेज किया।


कृष्णा हेगड़े, बीजेपी नेता

इससे पहले बीजेपी नेताओं ने महिला द्वारा मुंडे पर दुष्कर्म का आरोप लगाए जाने के बाद निशाना बनाना शुरू कर दिया था। बीजेपी की महिला शाखा ने मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे को पत्र लिखकर मुंडे को कैबिनेट से हटाने की माँग की। महाराष्ट्र बीजेपी के नेता कीर्ति सोमैया ने ट्वीट कर मुंडे को हटाने की माँग की। उन्होंने एक वीडियो मैसेज के साथ लिखा, '3 महिलाओं के साथ संबंध होने के बाद मंत्री धनंजय मुंडे को महाराष्ट्र मंत्रिमंडल से बाहर रहना चाहिए जब तक कि वह पाक-साफ़ न हो जाएँ।'

बता दें कि धनंजय मुंडे बीजेपी के वरिष्ठ नेता और पूर्व केंद्रीय मंत्री गोपीनाथ मुंडे के भतीजे हैं, जिनकी 2014 में एक सड़क दुर्घटना में मृत्यु हो गई थी। उन्होंने 2013 में बीजेपी छोड़ दी और चचेरे बहन और गोपीनाथ मुंडे की बेटी पंकजा मुंडे के साथ एक कलह के बाद वह एनसीपी में शामिल हो गए।

सत्य हिन्दी ऐप डाउनलोड करें

'सत्य हिन्दी'
की ताक़त बनिए


गोदी मीडिया और विशाल कारपोरेट मीडिया के मुक़ाबले स्वतंत्र पत्रकारिता का साथ दीजिए और उसकी ताक़त बनिए। 'सत्य हिन्दी' की सदस्यता योजना में आपका आर्थिक योगदान ऐसे नाज़ुक समय में स्वतंत्र पत्रकारिता को बहुत मज़बूती देगा। याद रखिए, लोकतंत्र तभी बचेगा, जब सच बचेगा।

नीचे दी गयी विभिन्न सदस्यता योजनाओं में से अपना चुनाव कीजिए। सभी प्रकार की सदस्यता की अवधि एक वर्ष है। सदस्यता का चुनाव करने से पहले कृपया नीचे दिये गये सदस्यता योजना के विवरण और Membership Rules & NormsCancellation & Refund Policy को ध्यान से पढ़ें। आपका भुगतान प्राप्त होने की GST Invoice और सदस्यता-पत्र हम आपको ईमेल से ही भेजेंगे। कृपया अपना नाम व ईमेल सही तरीक़े से लिखें।
सत्य अनुयायी के रूप में आप पाएंगे:
  1. सदस्यता-पत्र
  2. विशेष न्यूज़लेटर: 'सत्य हिन्दी' की चुनिंदा विशेष कवरेज की जानकारी आपको पहले से मिल जायगी। आपकी ईमेल पर समय-समय पर आपको हमारा विशेष न्यूज़लेटर भेजा जायगा, जिसमें 'सत्य हिन्दी' की विशेष कवरेज की जानकारी आपको दी जायेगी, ताकि हमारी कोई ख़ास पेशकश आपसे छूट न जाय।
  3. 'सत्य हिन्दी' के 3 webinars में भाग लेने का मुफ़्त निमंत्रण। सदस्यता तिथि से 90 दिनों के भीतर आप अपनी पसन्द के किसी 3 webinar में भाग लेने के लिए प्राथमिकता से अपना स्थान आरक्षित करा सकेंगे। 'सत्य हिन्दी' सदस्यों को आवंटन के बाद रिक्त बच गये स्थानों के लिए सामान्य पंजीकरण खोला जायगा। *कृपया ध्यान रखें कि वेबिनार के स्थान सीमित हैं और पंजीकरण के बाद यदि किसी कारण से आप वेबिनार में भाग नहीं ले पाये, तो हम उसके एवज़ में आपको अतिरिक्त अवसर नहीं दे पायेंगे।
सर्वाधिक पढ़ी गयी खबरें

अपनी राय बतायें

महाराष्ट्र से और खबरें

ताज़ा ख़बरें

सर्वाधिक पढ़ी गयी खबरें