loader

महाराष्ट्र के बाद तमिलनाडु सरकार ने भी लॉकडाउन को 31 मई तक बढ़ाया

कोरोना संक्रमण के तेज़ी से फैलने के बीच महाराष्ट्र सरकार के बाद अब तमिलनाडु सरकार ने भी 31 मई तक लॉकडाउन को बढ़ा दिया है। पंजाब और मिज़ोरम ने अपने-अपने राज्यों में पहले ही 31 मई तक के लिए लॉकडाउन को बढ़ा दिया है जबकि तेलंगाना ने इसे 29 मई तक के लिए बढ़ाया है। लॉकडाउन 3.0 आज ही यानी 17 मई को ख़त्म हो रहा है। देश भर में पहला लॉकडाउन 21 दिनों के लिए 25 मार्च से लागू किया गया था। फिर इसे 15 अप्रैल से बढ़ा कर 3 मई तक किया गया और बाद में 4 मई से 17 मई तक के लिए किया गया था।

ताज़ा ख़बरें

महाराष्ट्र सरकार का यह फ़ैसला ऐसे समय में आया है जब राज्य में 30 हज़ार से ज़्यादा लोगों के संक्रमण का मामला आ चुका है। पिछले 24 घंटे में 67 लोगों की मौत हुई है और राज्य में अत तब इस वायरस के संक्रमण से मरने वालों की संख्या 1135 हो गई है। यह लगातार तीसरा दिन है जब राज्य में 1500 से ज्यादा कोरोना के मामले सामने आए हैं। अकेले मुंबई में 18555 कोरोना संक्रमित हो गए हैं जबकि यहाँ मरने वालों की संख्या 696 हो गई है।

बता दें कि तमिलनाडु में 10 हज़ार 585 संक्रमण के मामले आ चुके हैं और 74 लोगों की मौत हुई। देश में तमिलनाडु तीसरे स्थान पर है। दूसरे स्थान पर गुजरात है जहाँ 10 हज़ार 988 संक्रमण के मामले आ चुके हैं और 625 लोगों की मौत हो चुकी है। देश भर में कोरोना संक्रमित लोगों की संख्या बढ़कर 90 हज़ार 927 हो गई है और मरने वालों की संख्या 2872 पहुँच चुकी है।
महाराष्ट्र से और ख़बरें
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने विशेष आर्थिक पैकेज की घोषणा के दिन ही कहा था कि लॉकडाउन को बढ़ाया जाएगा यानी 18 मई से लॉकडाउन 4.0 शुरू होगा। हालाँकि इसके साथ ही उन्होंने यह भी कहा था कि रेड ज़ोन या कंटेनमेंट ज़ोन से बाहर के क्षेत्रों में और ढील दी जाएगी। इसी के तहत 18 मई से नए दिशा-निर्देश लागू होंगे। प्रधानमंत्री ने इस नये दिशा-निर्देश के लिए राज्यों से सुझाव माँगे थे। 
देश भर के लिए नये दिशा-निर्देश आज जारी किए जा सकते हैं। माना जा रहा है कि लॉकडाउन को 2 हफ़्ते के लिए आगे बढ़ा जा सकता है। हालाँकि सरकार की तरफ़ से अभी इस बारे में कुछ साफ़ नहीं किया गया है। बता दें कि देश भर में 90 हज़ार से ज़्यादा कोरोना संक्रमण के मामले आ चुके हैं और 2800 से ज़्यादा लोगों की मौत हो चुकी है। 
Satya Hindi Logo सत्य हिंदी सदस्यता योजना जल्दी आने वाली है।
सर्वाधिक पढ़ी गयी खबरें

अपनी राय बतायें

महाराष्ट्र से और खबरें

ताज़ा ख़बरें

सर्वाधिक पढ़ी गयी खबरें