loader

युवती की आत्महत्या, आरोपों के घेरे में शिवसेना के मंत्री!

महाराष्ट्र में बंजारा समाज की एक युवती की आत्महत्या को लेकर राजनीति गर्म है। कारण इस युवती की आत्महत्या से प्रदेश के वन मंत्री शिवसेना नेता संजय राठौड़ का नाम जोड़ा जा रहा है। अभी एक महीने पहले ही राज्य सरकार के एक और मंत्री राष्ट्रवादी कांग्रेस के नेता धंनजय मुंडे पर भी एक महिला ने बलात्कार के आरोप लगाए थे। लिहाज़ा विपक्षी भारतीय जनता पार्टी युवती के आत्महत्या प्रकरण पर सरकार के ख़िलाफ़ आक्रामक है। 

इस मामले में मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे का भी बयान आया है। उन्होंने कहा कि दोषी व्यक्ति के ख़िलाफ़ कार्रवाई होगी, लेकिन बिना जाँच किसी को दोषी कहना उचित नहीं होगा। ठाकरे के बयान के बाद संजय राठौड़ के इस्तीफ़े की अटकलों पर विराम लगता दिखाई दे रहा है।

ताज़ा ख़बरें

वैसे, इस मामले में उप मुख्यमंत्री अजीत पवार ने कहा है कि पुलिस मामले की जाँच कर रही है। संजय राठौड़ विदर्भ क्षेत्र में शिवसेना के प्रभावी नेता हैं और पिछली सरकार में भी मंत्री थे। चार बार से लगातार चुनाव जीत रहे राठौड़ की बंजारा समाज पर अच्छी पकड़ बतायी जाती है और शायद यही कारण है कि समाज के कई नेता भी उनके बचाव में खड़े हो गए हैं। 

शनिवार को यवतमाल में बंजारा समाज समन्वय समिति की बैठक हुई जिसमें कहा गया कि राठौड़ को बदनाम करने का षडयंत्र किया जा रहा है जिसे बर्दाश्त नहीं किया जाएगा। ज़रूरत पड़ी तो समाज सड़क पर उतरकर आंदोलन भी करेगा। 

वहीं पूर्व मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस, बीजेपी प्रदेश अध्यक्ष चंद्रकांत पाटिल, विरोधी पक्ष नेता प्रवीण दरेकर, पंकजा मुंडे, चित्रा वाघ समेत बीजेपी के अनेक नेता इस मामले में नए नए बयान दे कर मुख्यमंत्री व सरकार को घेर रहे हैं। आरोप लगा रहे हैं कि सबूतों के बावजूद मंत्री के ख़िलाफ़ कार्रवाई नहीं हो रही है।
मामले की हक़ीक़त क्या है? क्या सच बाहर आएगा? आएगा भी या नहीं यह अभी से नहीं कहा जा सकता।

लेकिन एक कटु सत्य है कि हमारे देश में इस तरह के प्रकरण मीडिया में सुर्खियाँ तो बटोर लेते हैं लेकिन उनका सच सामने नहीं आता। 

राजस्थान के कैबिनेट मंत्री महिपाल मदेरणा और भँवरी देवी मामले को छोड़ दें तो शायद ही कोई ऐसा प्रकरण हो जिसमें नेता को सज़ा मिली हो। राजनीतिक गलियारों में ऐसे क़िस्से अक्सर गूँजते रहते हैं। मंत्री व शिवसेना नेता संजय राठौड़ का नाम जिस मामले से जुड़ रहा है वह है टिकटॉक स्टार पूजा चव्हाण की आत्महत्या। 

महाराष्ट्र से और ख़बरें
बंजारा समाज की यह लड़की पुणे में अंग्रेज़ी सीख कर कैरियर की नयी बुलंदियों को छूने का ख्वाब देख रही थी और अचानक एक दिन जिस इमारत में रहती थी उसकी तीसरी मंजिल से कूद कर अपनी जान दे दी। इस प्रकरण में कथित रूप से 12 ऑडियो क्लिप्स सोशल मीडिया से लेकर वाट्सऐप पर वायरल हो रहे हैं। इन ऑडियो में कहा जा रहा है कि मंत्री व शिवसेना नेता संजय राठौड़ अपने किसी कार्यकर्ता को एक लड़की को समझाने की बात कह रहे हैं। कार्यकर्ता टेप में बता रहा है कि लड़की गर्भवती हो चुकी है और उस वजह से वह बहुत परेशान है।
बीड ज़िले की रहने वाली 22 वर्ष की पूजा टिकटॉक स्टार थी। बंजारा समाज की यह लड़की अपनी लोकप्रियता के चलते अनेक कार्यक्रमों में दिखाई देती थी। पुणे के हडपसर में स्पोकन इंग्लिश की क्लास में पढ़ती थी।

पूजा का मानना था कि यदि वह अंग्रेज़ी में अच्छी तरह से बोलना सीख जायेगी तो ग्लैमर की दुनिया में बड़ा मुकाम हासिल कर लेगी। उसकी आत्महत्या के बाद विवादों का दौर शुरू हो गया है। इन आरोपों के बीच पूजा की बहन दिव्या चव्हाण ने इंस्टाग्राम पर पोस्ट शेयर की है। दिव्या ने लिखा है कि उसकी बहन ‘बाघिन’ यानी शेरनी थी। देख रही हूँ पिछले कुछ दिन से कुछ लोग बिना जानकारी के कुछ भी पोस्ट कर रहे हैं। मेरी बहन इतनी कमज़ोर नहीं थी कि वह आत्महत्या कर ले। इस घटना से मुझे पहले ही उसकी आत्महत्या का दुःख है, अपने माँ-पिता को संभालना है। ऐसी पोस्ट शेयर कर हमारी परेशानियाँ नहीं बढ़ाएँ, इससे पूजा को न्याय नहीं मिलेगा। लेकिन इस आत्महत्या को लेकर महाराष्ट्र में राजनीति गर्म है।

सत्य हिन्दी ऐप डाउनलोड करें

'सत्य हिन्दी'
की ताक़त बनिए


गोदी मीडिया और विशाल कारपोरेट मीडिया के मुक़ाबले स्वतंत्र पत्रकारिता का साथ दीजिए और उसकी ताक़त बनिए। 'सत्य हिन्दी' की सदस्यता योजना में आपका आर्थिक योगदान ऐसे नाज़ुक समय में स्वतंत्र पत्रकारिता को बहुत मज़बूती देगा। याद रखिए, लोकतंत्र तभी बचेगा, जब सच बचेगा।

नीचे दी गयी विभिन्न सदस्यता योजनाओं में से अपना चुनाव कीजिए। सभी प्रकार की सदस्यता की अवधि एक वर्ष है। सदस्यता का चुनाव करने से पहले कृपया नीचे दिये गये सदस्यता योजना के विवरण और Membership Rules & NormsCancellation & Refund Policy को ध्यान से पढ़ें। आपका भुगतान प्राप्त होने की GST Invoice और सदस्यता-पत्र हम आपको ईमेल से ही भेजेंगे। कृपया अपना नाम व ईमेल सही तरीक़े से लिखें।
सत्य अनुयायी के रूप में आप पाएंगे:
  1. सदस्यता-पत्र
  2. विशेष न्यूज़लेटर: 'सत्य हिन्दी' की चुनिंदा विशेष कवरेज की जानकारी आपको पहले से मिल जायगी। आपकी ईमेल पर समय-समय पर आपको हमारा विशेष न्यूज़लेटर भेजा जायगा, जिसमें 'सत्य हिन्दी' की विशेष कवरेज की जानकारी आपको दी जायेगी, ताकि हमारी कोई ख़ास पेशकश आपसे छूट न जाय।
  3. 'सत्य हिन्दी' के 3 webinars में भाग लेने का मुफ़्त निमंत्रण। सदस्यता तिथि से 90 दिनों के भीतर आप अपनी पसन्द के किसी 3 webinar में भाग लेने के लिए प्राथमिकता से अपना स्थान आरक्षित करा सकेंगे। 'सत्य हिन्दी' सदस्यों को आवंटन के बाद रिक्त बच गये स्थानों के लिए सामान्य पंजीकरण खोला जायगा। *कृपया ध्यान रखें कि वेबिनार के स्थान सीमित हैं और पंजीकरण के बाद यदि किसी कारण से आप वेबिनार में भाग नहीं ले पाये, तो हम उसके एवज़ में आपको अतिरिक्त अवसर नहीं दे पायेंगे।
संजय राय
सर्वाधिक पढ़ी गयी खबरें

अपनी राय बतायें

महाराष्ट्र से और खबरें

ताज़ा ख़बरें

सर्वाधिक पढ़ी गयी खबरें