loader

अर्णब ने राज़दीप, नविका, रजत पर क्या बेहूदा टिप्पणी की?

टीआरपी स्कैम में जब मुंबई पुलिस ने सप्लीमेंट्री चार्जशीट यानी पूरक आरोप पत्र दाखिल किया तो उसके साथ एक वाट्सऐप चैट को भी पेश किया। वह वाट्सऐप चैट लीक हो गई है। वह चैट कथित तौर पर टीआरपी तैयार करने वाली एजेंसी के तत्कालीन प्रमुख पार्थो दासगुप्ता और रिपब्लिक टीवी के मुख्य संपादक अर्णब गोस्वामी के बीच है। इसमें कई राज खुले हैं। मीडिया जगत से जुड़े वरिष्ठ पत्रकारों के बारे में अर्णब क्या राय रखते रहे उसका खुलासा भी उन चैट में हुआ है। इस उनकी वाट्सऐप चैट में रजत शर्मा, नविका कुमार, राहुल शिवशंकर से लेकर राजदीप सरदेसाई, सागरिका घोष और अरुण पुरी का भी नाम आता है। जानिए अर्णब इनके बारे में क्या सोचते हैं-

पार्थो दासगुप्ता और अर्णब की उस वाट्सऐप चैट में सबसे ज़्यादा बार ज़िक्र जिस पत्रकार का हुआ है उनका नाम रजत शर्मा है। 

ताज़ा ख़बरें

लीक चैट में से 25 मार्च 2019 की कुछ चैट में पार्थो दासगुप्ता ने बार्क का एक गोपनीय पत्र अर्णब को भेजा। इस लेटर के साथ भेजे गए संदेश में कहा गया है कि उन्होंने एनबीए को जाम कर दिया है। उन्होंने चैट में लिखा है, 'रजत मेरे पीछे पड़ जाएँगे।' फिर वह पीएमओ की सहायता करवाने की माँग करते हैं। इस पर चैट में अर्णब आश्वस्त करते हैं कि 'हो जाएगा'। फिर लिखते हैं, 'रजत की कोई पहुँच नहीं है।' इस कथित चैट में वह यह भी लिखते हैं कि वह 'प्रधानमंत्री से गुरुवार को मिल सकते हैं'।

इस चैट में पार्थो लिखते हैं, 'कृपया किसी से कहें कि वह रजत, एनबीए और ट्राई को हमारे मामले में अंगुली न करने के लिए कहे। ट्राई ग़लत सूचना फैला रही है कि हम रेटिंग को नहीं दिखा रहे हैं। मैंने बीजेपी को उस विज्ञापन वाले मामले में भी मदद की थी और कई मुद्दों पर एमआईबी (मिनिस्ट्री ऑफ़ इंफ़ोर्मेशन एंड ब्रॉडकास्टिंग) की भी।'

16 अगस्त 2019 को पार्थो ने अर्णब से शिकायत की कि इंडिया टीवी के प्रमुख रजत शर्मा उन्हें परेशान कर रहे हैं।

बार्क सदस्य पुनीत गोयनका के हवाले से लिखते हैं, 'रजत फिर से पुनीत के सामने हमारी आपसे निकटता का मुद्दा उठा रहे हैं।' इस पर अर्णब उन्हें चिंता नहीं करने के लिए कहते हैं। वह केंद्रीय वित्त मंत्री अरुण जेटली का ज़िक्र करते हुए कहते हैं कि रजत का मामला ख़त्म है क्योंकि जेटली अब नहीं के बराबर हैं। वह लिखते हैं, 'रजत के दिन लद गए... उसकी बकवास पर ध्यान न दें।'

एक चैट में 'AS' नाम का ज़िक्र आता है। पार्थो अर्णब को लिखते हैं, 'AS के कार्यालय या मंत्रालय से रजत को चुप रहने को कहने के लिए एक इशारा बेहद मदद करेगा। रजत आपके नाम पर ही कि मैं आपका दोस्त हूँ आदि आदि, एक बड़े हमले की योजना बना रहे हैं।'

दासगुप्ता ने इंडियन ब्रॉडकास्टिंग फाउंडेशन यानी आईबीएफ़ का ज़िक्र कर कहा, 'आपके और मेरे क़रीबी ने बताया कि आईबीएफ़ में आने वाले समय में रजत बनाम अर्णब होगा और पार्थो को नुक़सान। अर्नब, यह और अगली बैच की बैठक अहम है, आपके बहुत सारे दुश्मन हैं, लेकिन मैं आपका दोस्त हूँ चाहे जैसे करें मैं साथ हूँ। लेकिन मेरे मूल्यों से समझौता नहीं करें।'

न्यूज़ लाउंड्री की रिपोर्ट के अनुसार, न्यूज़ ब्रॉडकास्टर्स एसोसिएशन के अध्यक्ष के रूप में रजत शर्मा की नियुक्ति पर दासगुप्ता ने गोस्वामी से कहा, 'तो मोटाभाई का प्रभाव यहाँ काम नहीं आया, रजत को एनबीए प्रमुख के रूप में चुना गया।'

पार्थो कहते हैं कि कुछ लोगों को लगता है कि आईबीएफ़ में वह अभी भी ताक़तवर हैं। इस पर अर्णब कहते हैं, 'इसके बाद उन्हें पता चलेगा। उन्होंने घोषणा की है कि वह बीसीसीआई को नियंत्रण में लेंगे। अब वह पूरी तरह मूर्ख जान पड़ते हैं।'

एक चैट में अर्णब कहते हैं कि उनके (रजत शर्मा) और उनके 'घटिया चैनल' के बारे में चिंता नहीं करें। 

फ़रवरी 2017 में एक वाट्सऐप चैट में अर्णब गोस्वामी टाइम्स नाउ की एंकर नविका कुमार को लेकर एक टिप्पणी की है। इसमें अर्णब कहते हैं, "कल लाइव इंटरव्यू में अमित शाह ने नविका को 'कचरा' बोला।" न्यूज़ लाउंड्री की रिपोर्ट के अनुसार, एक चैट में उन्होंने टाइम्स नाउ के ही एंकर राहुल शिवशंकर के बारे में एक अपशब्द कहा और इंडिया टुडे के अरुण पुरी पर 'कांग्रेस प्रोपेगेंडा मशीन का एक हिस्सा' के रूप में टिप्पणी की।

सितंबर 2017 की एक चैट में पार्थो पूछते हैं कि 'राजदीप को क्या हुआ? वह अचानक आपके पीछे हाथ धोकर क्यों पड़े हैं?' इस पर अर्णब कहते हैं, 'मुझे लगता है कि उनकी नौकरी जा रही है। यही बात इंडिया टुडे में लोग कह रहे हैं।' इसके बाद अर्णब कहते हैं 'उन्होंने मुझे सागरिका को एंकर के तौर पर नियुक्त करने के लिए कहा था। मैं वह नहीं कर सकता।'

इस पर पार्थो पूछते हैं, 'क्या ऐसा है? हाल ही में? 

इस पर अर्णब कहते हैं, 'लॉन्च से बिल्कुल पहले। एक सरकार विरोधी आवाज़ के लिए। वह वक़्त के साथ बेकार हो गई हैं।' 

arnab goswami whatsapp chat leak on rajat sharma, navika kumar - Satya Hindi
साभार: ट्विटर

सोशल मीडिया पर जब इस बारे में लोगों ने राजदीप से सवाल किए कि क्या यह सही है कि आपने नौकरी माँगी तो उन्होंने जवाब में कहा,' पूरी तरह और बिल्कुल बकवास। मैंने 2014 से उस शख्स से बात नहीं की है... आज तक उस मामले में प्रतिक्रिया का इंतज़ार कर रहा हूँ जिसमें गुजरात दंगे की मेरी रिपोर्टिंग को कैसे नकल किया गया।'

बता दें कि हाल ही में मंबई पुलिस ने मुंबई पुलिस ने टीआरपी स्कैम के मामले में सप्लीमेंट्री चार्जशीट यानी पूरक आरोप पत्र दाखिल किया है। इसमें 500 से ज़्यादा पन्नों की कथित तौर पर अर्णब गोस्वामी की वाट्सऐप चैट को सबूत के तौर पर पेश किया गया है। वही वाट्सऐप चैट अब लीक हुई है और उसमें कई राज खुले हैं! 
सत्य हिन्दी ऐप डाउनलोड करें

'सत्य हिन्दी'
की ताक़त बनिए


गोदी मीडिया और विशाल कारपोरेट मीडिया के मुक़ाबले स्वतंत्र पत्रकारिता का साथ दीजिए और उसकी ताक़त बनिए। 'सत्य हिन्दी' की सदस्यता योजना में आपका आर्थिक योगदान ऐसे नाज़ुक समय में स्वतंत्र पत्रकारिता को बहुत मज़बूती देगा। याद रखिए, लोकतंत्र तभी बचेगा, जब सच बचेगा।

नीचे दी गयी विभिन्न सदस्यता योजनाओं में से अपना चुनाव कीजिए। सभी प्रकार की सदस्यता की अवधि एक वर्ष है। सदस्यता का चुनाव करने से पहले कृपया नीचे दिये गये सदस्यता योजना के विवरण और Membership Rules & NormsCancellation & Refund Policy को ध्यान से पढ़ें। आपका भुगतान प्राप्त होने की GST Invoice और सदस्यता-पत्र हम आपको ईमेल से ही भेजेंगे। कृपया अपना नाम व ईमेल सही तरीक़े से लिखें।
सत्य अनुयायी के रूप में आप पाएंगे:
  1. सदस्यता-पत्र
  2. विशेष न्यूज़लेटर: 'सत्य हिन्दी' की चुनिंदा विशेष कवरेज की जानकारी आपको पहले से मिल जायगी। आपकी ईमेल पर समय-समय पर आपको हमारा विशेष न्यूज़लेटर भेजा जायगा, जिसमें 'सत्य हिन्दी' की विशेष कवरेज की जानकारी आपको दी जायेगी, ताकि हमारी कोई ख़ास पेशकश आपसे छूट न जाय।
  3. 'सत्य हिन्दी' के 3 webinars में भाग लेने का मुफ़्त निमंत्रण। सदस्यता तिथि से 90 दिनों के भीतर आप अपनी पसन्द के किसी 3 webinar में भाग लेने के लिए प्राथमिकता से अपना स्थान आरक्षित करा सकेंगे। 'सत्य हिन्दी' सदस्यों को आवंटन के बाद रिक्त बच गये स्थानों के लिए सामान्य पंजीकरण खोला जायगा। *कृपया ध्यान रखें कि वेबिनार के स्थान सीमित हैं और पंजीकरण के बाद यदि किसी कारण से आप वेबिनार में भाग नहीं ले पाये, तो हम उसके एवज़ में आपको अतिरिक्त अवसर नहीं दे पायेंगे।
सर्वाधिक पढ़ी गयी खबरें

अपनी राय बतायें

मीडिया से और खबरें

ताज़ा ख़बरें

सर्वाधिक पढ़ी गयी खबरें