loader
मोदी सोमवार को महाराजगंज में रैली को संबोधित करते हुए (फोटो बीजेपी सोशल मीडिया)

महाराजगंज, बलिया में मोदीः  पूर्वांचल को राष्ट्रवाद के नाम पर जीतने की कोशिश

प्रधानमंत्री मोदी ने आज महाराजगंज और बलिया में देश को मजबूत करने के नाम पर वोट मांगे। उन्होंने कहा कि आत्मनिर्भर और शक्तिशाली होना ही भारत की ताकत है। पांचवें चरण के लिए हुई रैलियों में मोदी यूक्रेन का मुद्दा लाए थे और कहा था कि मजबूत देश के लिए मजबूत नेता चाहिए यानी उन्होंने सीधे अपने नाम पर वोट मांगे। अब छठे चरण के मतदान के लिए भी राष्ट्रवाद को मोदी भाषण में ले आए हैं। मोदी की आज महाराजगंज की रैली में कोई नयापन नहीं था।  

पीएम मोदी ने आज महाराजगंज और बलिया में कहा कि देश को खेत से लेकर समुद्र तक और स्पेस तक मजबूत बनाना है लेकिन घोर परिवारवादी लोग भारत को सशक्त नहीं बना सकते। कोरोना काल में जनता ने देखा कि कैसे इन घोर परिवारवादियों ने अंधविश्वास फैलाया। इसलिए मैं आप लोगों को सावधान करना चाहता हूं। इन लोगों ने यूपी और देश को बहुत पीछे धकेल दिया था। 

ताजा ख़बरें

जिन जिलों को इन घोर परिवारवादियों ने पीछे धकेला था, उन्हें आगे लाने के लिए हम लोग बहुत मेहनत कर रहे हैं। इन वंशवादी नेताओं को दलित, पिछड़े, किसान, महिलाओं और युवाओं की चिंता नहीं है। दरअसल, यह चुनावी लड़ाई राष्ट्रवादियों और वंशवाद के बीच है।

प्रधानमंत्री ने भाषण में वैक्सीन का मुद्दा भी छेड़ा। मोदी ने कहा कि इन घोर परिवारवादियों ने वैक्सीन के खिलाफ देश के गरीबों को भड़काने की कोशिश की। जिस वैक्सीन पर देश के लोगों को गर्व होना चाहिए था, उसके खिलाफ इन लोगों ने प्रचार किया। दुनिया के बड़े-बड़े देश वैक्सीन लगाने में पीछे रह गए लेकिन भारत आगे निकल गया।

पीएम मोदी पिछले कई दिनों से पूर्वी उत्तर प्रदेश में बने हुए हैं। उन्होंने पूर्वी उत्तर प्रदेश की रैलियों में राष्ट्रवाद का छौंक लगाना शुरू कर दिया है। वह राष्ट्रवाद के मुद्दे पर जनता को इमोशनल करना चाहते हैं। कल शाम को उन्होंने वाराणसी में कहा था कि काशी में उनके मृत्यु की कामना की गई। एक तरह से उन्होंने सपा प्रमुख अखिलेश यादव पर निशाना साधा था, जिन्होंने हाल ही में बिना किसी का नाम लिए कहा था कि अंतिम समय में लोगों को काशी में रहना चाहिए।

राजनीति से और खबरें

यूपी में छठे चरण का चुनाव 3 मार्च को है। 58 सीटों के लिए पूर्वांचल के 10 जिलों में वोटिंग होगी। इनमें महाराजगंज और बलिया के अलावा बस्ती, सिद्धार्थनगर, कुशीनगर, संत कबीर नगर, आम्बेडकर नगर, बलरामपुर, गोरखपुर और देवरिया जिले हैं।

सत्य हिन्दी ऐप डाउनलोड करें

गोदी मीडिया और विशाल कारपोरेट मीडिया के मुक़ाबले स्वतंत्र पत्रकारिता का साथ दीजिए और उसकी ताक़त बनिए। 'सत्य हिन्दी' की सदस्यता योजना में आपका आर्थिक योगदान ऐसे नाज़ुक समय में स्वतंत्र पत्रकारिता को बहुत मज़बूती देगा। याद रखिए, लोकतंत्र तभी बचेगा, जब सच बचेगा।

नीचे दी गयी विभिन्न सदस्यता योजनाओं में से अपना चुनाव कीजिए। सभी प्रकार की सदस्यता की अवधि एक वर्ष है। सदस्यता का चुनाव करने से पहले कृपया नीचे दिये गये सदस्यता योजना के विवरण और Membership Rules & NormsCancellation & Refund Policy को ध्यान से पढ़ें। आपका भुगतान प्राप्त होने की GST Invoice और सदस्यता-पत्र हम आपको ईमेल से ही भेजेंगे। कृपया अपना नाम व ईमेल सही तरीक़े से लिखें।
सत्य अनुयायी के रूप में आप पाएंगे:
  1. सदस्यता-पत्र
  2. विशेष न्यूज़लेटर: 'सत्य हिन्दी' की चुनिंदा विशेष कवरेज की जानकारी आपको पहले से मिल जायगी। आपकी ईमेल पर समय-समय पर आपको हमारा विशेष न्यूज़लेटर भेजा जायगा, जिसमें 'सत्य हिन्दी' की विशेष कवरेज की जानकारी आपको दी जायेगी, ताकि हमारी कोई ख़ास पेशकश आपसे छूट न जाय।
  3. 'सत्य हिन्दी' के 3 webinars में भाग लेने का मुफ़्त निमंत्रण। सदस्यता तिथि से 90 दिनों के भीतर आप अपनी पसन्द के किसी 3 webinar में भाग लेने के लिए प्राथमिकता से अपना स्थान आरक्षित करा सकेंगे। 'सत्य हिन्दी' सदस्यों को आवंटन के बाद रिक्त बच गये स्थानों के लिए सामान्य पंजीकरण खोला जायगा। *कृपया ध्यान रखें कि वेबिनार के स्थान सीमित हैं और पंजीकरण के बाद यदि किसी कारण से आप वेबिनार में भाग नहीं ले पाये, तो हम उसके एवज़ में आपको अतिरिक्त अवसर नहीं दे पायेंगे।
सर्वाधिक पढ़ी गयी खबरें

अपनी राय बतायें

राजनीति से और खबरें

ताज़ा ख़बरें

सर्वाधिक पढ़ी गयी खबरें