loader

तमिलनाडु: कमल हासन की पार्टी 154 सीटों पर लड़ेगी चुनाव

तमिलनाडु विधानसभा चुनाव की राजनीति में अभिनेता से नेता बने कमल हासन की पार्टी की एंट्री हो गई। उनकी पार्टी मक्कल निधि मय्यम ने राज्य की 234 सीटों वाली विधानसभा में 154 सीटों पर चुनाव लड़ने की घोषणा की है। बाक़ी की सीटों पर उसके गठबंधन के दो सहयोगी दल चुनाव लड़ेंगे। दो अन्य पार्टियाँ- अखिल भारतीय समथुवा मक्कल काची और इंदिया जनानायगा काची हैं जो 40-40 सीटों पर चुनाव लड़ेंगी।

इस बार तमिलनाडु का चुनाव दिलचस्प हो गया है। यह पहली बार है जब जयललिता और करुणानिधि जैसे धुरंधर चुनाव मैदान में नहीं हैं। ऑल इंडिया अन्ना द्रविड़ मुनेत्र कड़गम (एआईएडीएमके) की पूर्व प्रमुख वी. के. शशिकला ने राजनीति छोड़ने का एलान कर दिया है। वह इस साल जनवरी में ही जेल से रिहा हुई थीं और इस साल होने वाले विधानसभा चुनाव को प्रभावित करने की स्थिति में थीं। इस बीच कमल हासन की पार्टी पहली बार विधानसभा चुनाव में उतरी है।

ताज़ा ख़बरें

इससे पहले कमल हासन की पार्टी मक्कल निधि मय्यम यानी एमएनएम 2019 के लोकसभा चुनाव में उतरी थी। तब उसे क़रीब 4 फ़ीसदी वोट मिले थे। शहरों में तो कई जगहों पर पार्टी को 10 फ़ीसदी से भी ज़्यादा वोट मिले थे। 

एमएनएम भ्रष्टाचार, नौकरियों, विकासशील गांवों और लोगों के अनुकूल ई-गवर्नेंस को प्रमुख मुद्दों के रूप में उठा रही है। इसने सरकारी योजनाओं को आसानी से लोगों तक पहुंचाने में मदद करने के लिए सार्वजनिक संसाधनों के रूप में सभी घरों में इंटरनेट की सुविधा पहुँचाने का वादा किया है। 

पार्टी ने एक अलग तरह से टिकट देने की प्रक्रिया अपनाई है। उसने लोगों के लिए उम्मीदवारों के रूप में आवेदन करने के लिए एक ऑनलाइन प्रणाली शुरू की और उम्मीदवार चुनने के लिए लोगों का साक्षात्कार लिया।

अब इस तरह के फ़ैसले से पार्टी को कितना फ़ायदा होता है, यह तो बाद में पता चलेगा, लेकिन चुनाव पूर्व सर्वेक्षण में कुछ और ही तसवीर उभरती है।

'टाइम्स नाउ- सी वोटर' के चुनाव- पूर्व सर्वेक्षण से यह पता चला है कि तमिलनाडु विधानसभा चुनाव 2021 में यूनाइटेड प्रोग्रेसिव अलायंस यानी यूपीए को बहुत बड़ी बढ़त मिल सकती है और वह सरकार बना सकता है। इस सर्वेक्षण पर भरोसा किया जाए तो यूपीए को 158 सीटें मिल सकती हैं, जो पिछले चुनाव की सीटों से 60 सीटें अधिक होंगी। नेशनल डेमोक्रेटिक अलायंस यानी एनडीए सिर्फ 65 सीटों पर सिमट सकता है। उसे साल 2016 के विधानसभा चुनाव में 136 सीटें मिली थीं और उसने सरकार बनाई थी। 

तमिलनाडु से और ख़बरें

द्रविड़ मुनेत्र कषगम यानी डीएमके अध्यक्ष एम. के. स्टालिन मुख्यमंत्री के रूप में पहली पसंद बन कर उभरे हैं। इस सर्वेक्षण में उन्हें 38.4 प्रतिशत लोगों ने पसंद किया है। मौजूदा मुख्यमंत्री ई. पलानीस्वामी को सिर्फ़ 31 प्रतिशत लोगों ने मुख्यमंत्री के रूप में पसंद किया है। फ़िल्म अभिनेता कमल हासन को 7.4 प्रतिशत, वी. के. शशिकला को 3.9 प्रतिशत, फ़िल्म अभिनेता रजनीकांत को 4.3 प्रतिशत और स्टालिन के बड़े भाई के. एस. अलागिरी को सिर्फ 1.7 प्रतिशत लोगों ने अगले मुख्यमंत्री के रूप में पसंद किया है।  

केंद्र सरकार से संतुष्ट हैं?

'टाइम्स नाउ- सी वोटर' सर्वेक्षण में लोगों ने केंद्र सरकार के कामकाज के प्रति गंभीर नाराज़गी जताई है। क्या वे बीजेपी की अगुआई वाली केंद्र सरकार के कामकाज से संतुष्ट हैं, इस सवाल के जवाब में 53.26 लोगों ने कहा कि वे बिल्कुल ही संतुष्ट नहीं हैं। सिर्फ 12.7 प्रतिशत लोगों ने कहा कि वे पूरी तरह संतुष्ट हैं जबकि 22.28 प्रतिशत लोगों ने कहा कि वे कुछ हद तक संतुष्ट हैं।

तमिलनाडु विधानसभा चुनाव 2021 के लिए मतदान 6 अप्रैल को होगा और वोटों की गिनती 2 मई को होगी।

सत्य हिन्दी ऐप डाउनलोड करें

गोदी मीडिया और विशाल कारपोरेट मीडिया के मुक़ाबले स्वतंत्र पत्रकारिता का साथ दीजिए और उसकी ताक़त बनिए। 'सत्य हिन्दी' की सदस्यता योजना में आपका आर्थिक योगदान ऐसे नाज़ुक समय में स्वतंत्र पत्रकारिता को बहुत मज़बूती देगा। याद रखिए, लोकतंत्र तभी बचेगा, जब सच बचेगा।

नीचे दी गयी विभिन्न सदस्यता योजनाओं में से अपना चुनाव कीजिए। सभी प्रकार की सदस्यता की अवधि एक वर्ष है। सदस्यता का चुनाव करने से पहले कृपया नीचे दिये गये सदस्यता योजना के विवरण और Membership Rules & NormsCancellation & Refund Policy को ध्यान से पढ़ें। आपका भुगतान प्राप्त होने की GST Invoice और सदस्यता-पत्र हम आपको ईमेल से ही भेजेंगे। कृपया अपना नाम व ईमेल सही तरीक़े से लिखें।
सत्य अनुयायी के रूप में आप पाएंगे:
  1. सदस्यता-पत्र
  2. विशेष न्यूज़लेटर: 'सत्य हिन्दी' की चुनिंदा विशेष कवरेज की जानकारी आपको पहले से मिल जायगी। आपकी ईमेल पर समय-समय पर आपको हमारा विशेष न्यूज़लेटर भेजा जायगा, जिसमें 'सत्य हिन्दी' की विशेष कवरेज की जानकारी आपको दी जायेगी, ताकि हमारी कोई ख़ास पेशकश आपसे छूट न जाय।
  3. 'सत्य हिन्दी' के 3 webinars में भाग लेने का मुफ़्त निमंत्रण। सदस्यता तिथि से 90 दिनों के भीतर आप अपनी पसन्द के किसी 3 webinar में भाग लेने के लिए प्राथमिकता से अपना स्थान आरक्षित करा सकेंगे। 'सत्य हिन्दी' सदस्यों को आवंटन के बाद रिक्त बच गये स्थानों के लिए सामान्य पंजीकरण खोला जायगा। *कृपया ध्यान रखें कि वेबिनार के स्थान सीमित हैं और पंजीकरण के बाद यदि किसी कारण से आप वेबिनार में भाग नहीं ले पाये, तो हम उसके एवज़ में आपको अतिरिक्त अवसर नहीं दे पायेंगे।
सर्वाधिक पढ़ी गयी खबरें

अपनी राय बतायें

तमिलनाडु से और खबरें

ताज़ा ख़बरें

सर्वाधिक पढ़ी गयी खबरें