loader

एबीपी-सीवोटर सर्वे : यूपी में बीजेपी, पंजाब में आम आदमी पार्टी की बन सकती है सरकार

हालांकि उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव 2022 में अभी कई महीने बचे हुए हैं, लेकिन सी-वोटर के सर्वेक्षण पर भरोसा किया जाए तो वहाँ एक बार फिर बीजेपी की सरकार बन सकती है। 

एबीपी-सीवोटर सर्वे के मुताबिक़, यदि उत्तर प्रदेश में अभी चुनाव कराए जाएं तो बीजेपी को 259-267 सीटें मिल सकती हैं। राज्य विधानसभा में 403 सीटें हैं और बहुमत का आँकड़ा पाने के लिए 202 सीटें ज़रूरी हैं। इस हिसाब से बीजेपी उत्तर प्रदेश में सरकार बनाने की स्थिति में हो सकती है।

दूसरी ओर, समाजवादी पार्टी को 109-117 सीटें, बहुजन समाज पार्टी यानी बीएसपी को 12-16 सीटें और कांग्रेस को तीन से सात सीटें मिल सकती हैं। अन्य को 6 से 10 सीटें मिलने का अनुमान है।

ABP-CVoter survey : BJP in UP, AAP in Punjab likely to form govt - Satya Hindi
इस सर्वे के अनुसार बीजेपी को सबसे ज़्यादा 41.8 प्रतिशत वोट मिल सकते हैं। दूसरी ओर समाजवादी पार्टी को 30.2 प्रतिशत, बीएसपी को 15.7 प्रतिशत और कांग्रेस को 5.1 प्रतिशत वोट मिल सकते हैं। 
ख़ास ख़बरें

अन्य के खाते में 7.2 प्रतिशत वोट जा सकते हैं। 

सी वोटर ने कहा है कि सर्वे में उत्तर प्रदेश की सभी 403 विधानसभा सीटों के कुल 44 हजार 436 लोगों से बात की गई है। लेकिन यह बात टेलीफ़ोन से की गई है। यह बातचीत 1 अगस्त से 2 सितंबर के बीच रिकॉर्ड की गई है। 

उत्तराखंड

एबीपी-सी वोटर सर्वेक्षण में पाया गया है कि अभी चुनाव कराने से उत्तराखंड में बीजेपी को 44 से 48 सीटें, कांग्रेस को 19 से 23 सीटें, आम आदमी पार्टी को 0 से 4 सीटें और अन्य को 0 से 2 सीटें मिल सकती हैं।

इस सर्वे के अनुसार, बीजेपी को 43 प्रतिशत, कांग्रेस को 23 प्रतिशत, आम आदमी पार्टी को 6 प्रतिशत और अन्य को 4 प्रतिशत वोट मिल सकते हैं। 

ABP-CVoter survey : BJP in UP, AAP in Punjab likely to form govt - Satya Hindi
उत्तराखंड विधानसभा में 70 सीटें हैं और सरकार बनाने के लिए 36 सीटें चाहिए। इस हिसाब से उत्तराखंड विधानसभा चुनाव 2022 के बाद एक बार फिर बीजेपी की सरकार बनती दिख रही है।

पंजाब में आम आदमी पार्टी

एबीपी न्यूज- सी वोटर सर्वे में पाया गया है कि पंजाब विधानसभा चुनाव 2022 में अभी के ट्रेंड के हिसाब से आम आदमी पार्टी को सबसे ज़्यादा 51 से 57 सीटें मिल सकती हैं, वहीं कांग्रेस को 38 से 46 और अकाली दल को 16 से 24 सीटों पर जीत हासिल हो सकती है। बीजेपी को सिर्फ एक सीट पर जीत के आसार हैं। 

पंजाब विधानसभा में 117 सीटें हैं, यानी सरकार बनाने के लिए 59 सीटें चाहिए। इससे लगता है कि वहाँ आम आदमी पार्टी की सरकार बननी चाहिए।

ABP-CVoter survey : BJP in UP, AAP in Punjab likely to form govt - Satya Hindi
एबीपी न्यूज- सी वोटर सर्वे के अनुसार, आम आदमी पार्टी को 35.1 प्रतिशत, कांग्रेस को 28.8 प्रतिशत, शिरोमणि अकाली दल को 21.8 फीसदी और बीजेपी को 7.3 प्रतिशत वोट मिल सकते हैं। अन्य के खाते में 7 फ़ीसदी वोट जाने का अनुमान है।

मुख्यमंत्री कौन?

एबीपी न्यूज़ सी वोटर सर्वे के मुताबिक, पंजाब के 22 फ़ीसदी मतदाता अरविंद केजरीवाल को, 19 फ़ीसदी मतदाता सुखबीर सिंह बादल को मुख्यमंत्री के रूप में देखना चाहते हैं।

लेकिन सिर्फ 18 फ़ीसदी लोग ही मौजूदा मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह को मुख्यमंत्री के रूप में पसंद करते हैं। दूसरी ओर, 16 प्रतिशत लोग भगवंत सिंह मान को, 15 फीसदी नवजोत सिंह सिद्धू को मुख्यमंत्री बनाना चाहते हैं।

गोवा में बीजेपी

इसी तरह एबीपी-सी वोटर सर्वे के मुताबिक, गोवा विधानसभा चुनाव 2022 में बीजेपी को 22 से 26 सीटें मिल सकती हैं। कांग्रेस को तीन से सात और आम आदमी पार्टी को चार से आठ सीटें मिल सकती हैं। 

इस सर्वे के अनुसार, गोवा में अभी चुनाव हुए तो बीजेपी को 39 प्रतिशत, कांग्रेस को 15 प्रतिशत, आम आदमी पार्टी को 22 प्रतिशत और अन्य को 24 प्रतिशत वोट मिल सकते हैं। 

गोवा विधानसभा में 40 सीटें हैं और सरकार बनाने के लिए 21 सीटें चाहिए। 

ABP-CVoter survey : BJP in UP, AAP in Punjab likely to form govt - Satya Hindi

मणिपुर में बीजेपी

एबीपी-सीवोटर सर्वे के मुताबिक, मणिपुर विधानसभा चुनाव 2022 में बीजेपी को 32 से 36 सीटें मिल सकती हैं। इसी तरह, कांग्रेस को 18 से 22 और एनपीएफ़ को 2 से 6 सीटें मिल सकती हैं। 

मणिपुर में 60 सीटें हैं, यानी सरकार बनाने के लिए 31 सीटों की ज़रूरत होगी। 

एबीपी-सीवोटर सर्वे के अनुसार, मणिपुर में बीजेपी को 40 प्रतिशत, कांग्रेस को 35 फ़ीसदी, एनपीएफ को खाते में 6 फीसदी और अन्य को 17 फ़ीसदी वोट मिल सकते हैं।

ABP-CVoter survey : BJP in UP, AAP in Punjab likely to form govt - Satya Hindi

इस सर्वे के मुताबिक, पंजाब में आम आदमी पार्टी और बाकी सभी राज्यों में बीजेपी की सरकार बन सकती है। 

लेकिन अभी चुनाव में कई महीने बाकी हैं। इसलिए इन नतीजों को पक्का ट्रेंड नहीं कहा जा सकता है। 

बहुजन समाज पार्टी की नेता मायावती ने इस सर्वे को सिरे से खारिज कर दिया है। उन्होंने इसे 'ग़लत' और 'भ्रामक' क़रार दिया है और कहा है कि 'यह कार्यकर्ताओं का मनोबल तोड़ने के लिए किया गया है।' 

सत्य हिन्दी ऐप डाउनलोड करें

गोदी मीडिया और विशाल कारपोरेट मीडिया के मुक़ाबले स्वतंत्र पत्रकारिता का साथ दीजिए और उसकी ताक़त बनिए। 'सत्य हिन्दी' की सदस्यता योजना में आपका आर्थिक योगदान ऐसे नाज़ुक समय में स्वतंत्र पत्रकारिता को बहुत मज़बूती देगा। याद रखिए, लोकतंत्र तभी बचेगा, जब सच बचेगा।

नीचे दी गयी विभिन्न सदस्यता योजनाओं में से अपना चुनाव कीजिए। सभी प्रकार की सदस्यता की अवधि एक वर्ष है। सदस्यता का चुनाव करने से पहले कृपया नीचे दिये गये सदस्यता योजना के विवरण और Membership Rules & NormsCancellation & Refund Policy को ध्यान से पढ़ें। आपका भुगतान प्राप्त होने की GST Invoice और सदस्यता-पत्र हम आपको ईमेल से ही भेजेंगे। कृपया अपना नाम व ईमेल सही तरीक़े से लिखें।
सत्य अनुयायी के रूप में आप पाएंगे:
  1. सदस्यता-पत्र
  2. विशेष न्यूज़लेटर: 'सत्य हिन्दी' की चुनिंदा विशेष कवरेज की जानकारी आपको पहले से मिल जायगी। आपकी ईमेल पर समय-समय पर आपको हमारा विशेष न्यूज़लेटर भेजा जायगा, जिसमें 'सत्य हिन्दी' की विशेष कवरेज की जानकारी आपको दी जायेगी, ताकि हमारी कोई ख़ास पेशकश आपसे छूट न जाय।
  3. 'सत्य हिन्दी' के 3 webinars में भाग लेने का मुफ़्त निमंत्रण। सदस्यता तिथि से 90 दिनों के भीतर आप अपनी पसन्द के किसी 3 webinar में भाग लेने के लिए प्राथमिकता से अपना स्थान आरक्षित करा सकेंगे। 'सत्य हिन्दी' सदस्यों को आवंटन के बाद रिक्त बच गये स्थानों के लिए सामान्य पंजीकरण खोला जायगा। *कृपया ध्यान रखें कि वेबिनार के स्थान सीमित हैं और पंजीकरण के बाद यदि किसी कारण से आप वेबिनार में भाग नहीं ले पाये, तो हम उसके एवज़ में आपको अतिरिक्त अवसर नहीं दे पायेंगे।
सर्वाधिक पढ़ी गयी खबरें

अपनी राय बतायें

उत्तर प्रदेश से और खबरें

ताज़ा ख़बरें

सर्वाधिक पढ़ी गयी खबरें