loader

बलिया: अखिलेश बोले- सरकार अपने लोगों की गाड़ी पलटवाएगी या नहीं?

बलिया में हुए हत्याकांड के बाद विपक्ष ने योगी सरकार पर जोरदार हमला बोला है। समाजवादी पार्टी के प्रमुख अखिलेश यादव ने ट्वीट कर सरकार पर तंज कसा है। अखिलेश ने शुक्रवार को कहा, ‘बलिया में सत्ताधारी बीजेपी के एक नेता के एसडीएम और सीओ के सामने खुलेआम, एक युवक की हत्या कर फ़रार हो जाने से उत्तर प्रदेश में क़ानून व्यवस्था का सच सामने आ गया है।’ पूर्व मुख्यमंत्री ने कहा है कि अब देखें क्या एनकाउंटर वाली सरकार अपने लोगों की गाड़ी भी पलटाती है या नहीं।  

गौरतलब है कि कुछ महीने पहले कानपुर में हुए बिकरू कांड के मुख्य अभियुक्त विकास दुबे और फिर एक अन्य अभियुक्त की पुलिस अभिरक्षा में लाते समय गाड़ी पलटने और फिर भागते समय पुलिस की गोली लगने से मौत हो गई थी। 

ताज़ा ख़बरें

बलिया की घटना को लेकर उत्तर प्रदेश की पूर्व मुख्यमंत्री और बीएसपी की सुप्रीमो मायावती ने कहा है कि इस घटना और महिलाओं व बच्चियों पर आये दिन हो रहे उत्पीड़न से यह स्पष्ट हो जाता है कि यहां कानून-व्यवस्था दम तोड़ चुकी है। 

उत्तर प्रदेश कांग्रेस ने कहा, ‘बलिया कांड का अभियुक्त अब तक फरार है और इसका कारण यह है कि क्योंकि वह बीजेपी का नेता है और उसे बीजेपी विधायक का संरक्षण प्राप्त है।’

पूर्व कैबिनेट मंत्री और सुहेलदेव भारतीय समाज पार्टी के अध्यक्ष ओम प्रकाश राजभर ने कहा है कि बलिया की घटना से पता चलता है कि उत्तर प्रदेश में कानून और प्रशासन का डर खत्म हो गया है।

बलिया में गुरूवार को सरकारी राशन कोटे की दुकान के लिए जिला प्रशासन की मौजूदगी में कार्यक्रम चल रहा था। मौक़े पर एसडीएम, सीओ और कई थानों की पुलिस मौजूद थी। कार्यक्रम के दौरान अफ़सरों के सामने ही एक दबंग ने गोली मारकर एक शख़्स को मौत के घाट उतार दिया। मौक़े पर कई लोग मौजूद थे, जिनमें अफरा-तफरी मच गई। घटना का वीडियो वायरल हो गया है। गोली चलाने वाला शख़्स बीजेपी विधायक सुरेंद्र सिंह का करीबी है और बीजेपी का नेता भी है। 

मृतक के भाई की शिकायत पर 15-20 लोगों के ख़िलाफ़ मुक़दमा दर्ज कर लिया गया है। उत्तर प्रदेश सरकार का कहना है कि इस मामले में अफ़सरों की भूमिका की भी जांच की जाएगी और सख़्त कार्रवाई होगी। हालात को देखते हुए गांव में पुलिस बल की तैनाती की गई है। 

उत्तर प्रदेश से और ख़बरें

बीजेपी विधायक बचाव में उतरे

बलिया जिले में सरकारी अधिकारियों, पुलिस की मौजूदगी में दर्जनों गोलियां चलाकर एक व्यक्ति की हत्या कर देने वाले बीजेपी नेता धीरेंद्र सिंह के बचाव में सत्तारुढ़ पार्टी के विधायक सुरेंद्र सिंह खुलकर उतर आए हैं। सुरेंद्र सिंह ने कहा है कि धीरेंद्र सिंह ने आत्मरक्षा में गोली चलायी है। 

शुक्रवार सुबह बीजेपी विधायक सुरेन्द्र सिंह ने कहा कि दुर्जनपुर की घटना दुर्भाग्यपूर्ण है पर प्रशासन की एकतरफा कार्रवाई न्याय का गला घोट रही है। उन्होंने कहा कि घटना में 6 महिलाएं चोटिल हो गई और वे अस्पताल में हैं जबकि एक व्यक्ति को बड़े अस्पताल में रेफर किया जा चुका है लेकिन उनकी पीड़ा कोई नही देख रहा है। 

योगी सरकार के कामकाज पर देखिए, वरिष्ठ पत्रकार आशुतोष की टिप्पणी -

विधायक ने कहा कि बीजेपी नेता धीरेन्द्र सिंह आत्मरक्षा में गोली नहीं चलाता तो उसका परिवार सहित दर्जनों लोग मारे जाते। उन्होंने कहा कि लाठी-डंडे से वार करने वाले और गोली मारने वाले दोनों के ख़िलाफ़ कार्रवाई होनी चाहिए। सुरेंद्र सिंह ने कहा कि घटना की निंदा करने के साथ ही प्रशासन को दूसरे पक्ष की भी चिंता करनी और न्याय देना चाहिए।

छह लोग गिरफ्तार, कई पुलिसकर्मी निलंबित 

उधर, बलिया कांड के मुख्य अभियुक्त धीरेंद्र सिंह के भाई देवेंद्र सिंह सहित छह लोगों को अब तक गिरफ़्तार किया जा चुका है। बलिया प्रशासन के मुताबिक़, दुर्जनपुर गांव में सभी लाइसेंसी असलहों का लाइसेंस निरस्त किया जायेगा। डीजीपी हितेश चन्द्र अवस्थी ने बताया कि इस मामले में जितने पुलिसकर्मी घटना के दौरान मौजूद थे सबको सस्पेंड किया गया है और मामले की जाँच चल रही है। जो भी इस मामले में दोषी पाया जाएगा, उसके ख़िलाफ़ सख्त कार्रवाई की जाएगी। 

'सत्य हिन्दी'
की ताक़त बनिए


गोदी मीडिया और विशाल कारपोरेट मीडिया के मुक़ाबले स्वतंत्र पत्रकारिता का साथ दीजिए और उसकी ताक़त बनिए। 'सत्य हिन्दी' की सदस्यता योजना में आपका आर्थिक योगदान ऐसे नाज़ुक समय में स्वतंत्र पत्रकारिता को बहुत मज़बूती देगा। याद रखिए, लोकतंत्र तभी बचेगा, जब सच बचेगा।

नीचे दी गयी विभिन्न सदस्यता योजनाओं में से अपना चुनाव कीजिए। सभी प्रकार की सदस्यता की अवधि एक वर्ष है। सदस्यता का चुनाव करने से पहले कृपया नीचे दिये गये सदस्यता योजना के विवरण और Membership Rules & NormsCancellation & Refund Policy को ध्यान से पढ़ें। आपका भुगतान प्राप्त होने की GST Invoice और सदस्यता-पत्र हम आपको ईमेल से ही भेजेंगे। कृपया अपना नाम व ईमेल सही तरीक़े से लिखें।
सत्य अनुयायी के रूप में आप पाएंगे:
  1. सदस्यता-पत्र
  2. विशेष न्यूज़लेटर: 'सत्य हिन्दी' की चुनिंदा विशेष कवरेज की जानकारी आपको पहले से मिल जायगी। आपकी ईमेल पर समय-समय पर आपको हमारा विशेष न्यूज़लेटर भेजा जायगा, जिसमें 'सत्य हिन्दी' की विशेष कवरेज की जानकारी आपको दी जायेगी, ताकि हमारी कोई ख़ास पेशकश आपसे छूट न जाय।
  3. 'सत्य हिन्दी' के 3 webinars में भाग लेने का मुफ़्त निमंत्रण। सदस्यता तिथि से 90 दिनों के भीतर आप अपनी पसन्द के किसी 3 webinar में भाग लेने के लिए प्राथमिकता से अपना स्थान आरक्षित करा सकेंगे। 'सत्य हिन्दी' सदस्यों को आवंटन के बाद रिक्त बच गये स्थानों के लिए सामान्य पंजीकरण खोला जायगा। *कृपया ध्यान रखें कि वेबिनार के स्थान सीमित हैं और पंजीकरण के बाद यदि किसी कारण से आप वेबिनार में भाग नहीं ले पाये, तो हम उसके एवज़ में आपको अतिरिक्त अवसर नहीं दे पायेंगे।
सर्वाधिक पढ़ी गयी खबरें

अपनी राय बतायें

उत्तर प्रदेश से और खबरें

ताज़ा ख़बरें

सर्वाधिक पढ़ी गयी खबरें