loader

यूपी में जंगलराज!, अफ़सरों के सामने बीजेपी नेता ने की गोली मारकर हत्या

उत्तर प्रदेश में हो रहे ताबड़तोड़ अपराध इस बात की गवाही देते हैं कि यहां जंगलराज जैसे हालात बन चुके हैं। बलात्कार, अपहरण, लूटपाट के लगातार बढ़ते मामलों के कारण आम इंसान दहशत के माहौल में जीने को मजबूर है। आम आदमी की सुनवाई की बात तो छोड़िए, इंसाफ़ की ये हालत है कि योगी सरकार के आला हुक्मरान चीख-चीखकर कह रहे हैं कि हाथरस में पीड़िता के साथ बलात्कार नहीं हुआ है जबकि पीड़िता का मौत से पहले का बयान है कि उसके साथ हैवानियत को अंजाम दिया गया है। 

ऐसा लगता है कि उत्तर प्रदेश में अपराध की ख़बरों को लिखते-लिखते ख़बरनवीस थक जाएंगे, अख़बारों की स्याही ख़त्म हो जाएगी लेकिन जरायम की दुनिया से ऐसी ख़बरें लगातार आती रहेंगी क्योंकि ‘ठोको नीति’ पर चल रही योगी सरकार के कामकाज को देखकर नहीं लगता कि वह अपराध को रोक सकती है। 

ताज़ा ख़बरें

एक बड़ी घटना बलिया के दुर्जनपुर गांव में हुई है। बलिया में सरकारी राशन कोटे की दुकान के लिए जिला प्रशासन की मौजूदगी में कार्यक्रम चल रहा था। मौक़े पर एसडीएम, सीओ और कई थानों की पुलिस मौजूद थी। 

कार्यक्रम के दौरान अफ़सरों के सामने ही एक दबंग ने गोली मारकर एक शख़्स को मौत के घाट उतार दिया। मौक़े पर कई लोग मौजूद थे, जिनमें अफरा-तफरी मच गई। घटना का वीडियो वायरल हो गया है। गोली चलाने वाला शख़्स बीजेपी विधायक सुरेंद्र सिंह का करीबी बताया गया है। 

योगी सरकार के कामकाज पर देखिए, वरिष्ठ पत्रकार आशुतोष की टिप्पणी -
ये वही सुरेंद्र सिंह हैं जो बलात्कार के मामलों को रोकने का उपाय लड़कियों को संस्कारी बनाना बताते हैं। गोली चलाने वाले शख़्स का नाम धीरेंद्र सिंह है। मारे गए शख़्स का नाम जय प्रकाश था और उनकी उम्र 46 साल थी। मृतक के बेटे ने बताया कि 20 राउंड फ़ायरिंग की गई है। 
मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को आत्मचिंतन करना चाहिए कि जब उनके अफ़सरों के सामने, दिनदहाड़े किसी शख़्स की हत्या हो सकती है तो क्या अब भी वह अपनी जवाबदेही तय करेंगे या इसमें भी साज़िश का कोई एंगल लेकर आएंगे?

ख़ैर, हरक़त में आते हुए मुख्यमंत्री ने कार्यक्रम में मौजूद रहे अफ़सरों को सस्पेंड करने का हुक्म सुना दिया है। विधायक सुरेंद्र सिंह ने कहा है कि अभियुक्त बीजेपी की भूतपूर्व सैनिकों की बलिया की इकाई का प्रमुख है। विधायक ने यह भी कहा कि ऐसी घटना कहीं भी हो सकती है। उन्होंने कहा कि इस घटना में दोनों ओर से पत्थरबाज़ी हुई। 

उत्तर प्रदेश से और ख़बरें

मृतक के भाई की शिकायत पर 15-20 लोगों के ख़िलाफ़ मुक़दमा दर्ज कर लिया गया है। उत्तर प्रदेश सरकार का कहना है कि इस मामले में अफ़सरों की भूमिका की भी जांच की जाएगी और सख़्त कार्रवाई होगी। हालात को देखते हुए गांव में पुलिस बल की तैनाती की गई है। 

घटना को लेकर उत्तर प्रदेश की पूर्व मुख्यमंत्री और बीएसपी की सुप्रीमो मायावती ने कहा है कि इस घटना और महिलाओं व बच्चियों पर आये दिन हो रहे उत्पीड़न से यह स्पष्ट हो जाता है कि यहां कानून-व्यवस्था दम तोड़ चुकी है। 

'सत्य हिन्दी'
की ताक़त बनिए

गोदी मीडिया और विशाल कारपोरेट मीडिया के मुक़ाबले स्वतंत्र पत्रकारिता का साथ दीजिए और उसकी ताक़त बनिए। 'सत्य हिन्दी' की सदस्यता योजना में आपका आर्थिक योगदान ऐसे नाज़ुक समय में स्वतंत्र पत्रकारिता को बहुत मज़बूती देगा। याद रखिए, लोकतंत्र तभी बचेगा, जब सच बचेगा।

नीचे दी गयी विभिन्न सदस्यता योजनाओं में से अपना चुनाव कीजिए। सभी प्रकार की सदस्यता की अवधि एक वर्ष है। सदस्यता का चुनाव करने से पहले कृपया नीचे दिये गये सदस्यता योजना के विवरण और Membership Rules & NormsCancellation & Refund Policy को ध्यान से पढ़ें। आपका भुगतान प्राप्त होने की GST Invoice और सदस्यता-पत्र हम आपको ईमेल से ही भेजेंगे। कृपया अपना नाम व ईमेल सही तरीक़े से लिखें।
सत्य अनुयायी के रूप में आप पाएंगे:
  1. सदस्यता-पत्र
  2. विशेष न्यूज़लेटर: 'सत्य हिन्दी' की चुनिंदा विशेष कवरेज की जानकारी आपको पहले से मिल जायगी। आपकी ईमेल पर समय-समय पर आपको हमारा विशेष न्यूज़लेटर भेजा जायगा, जिसमें 'सत्य हिन्दी' की विशेष कवरेज की जानकारी आपको दी जायेगी, ताकि हमारी कोई ख़ास पेशकश आपसे छूट न जाय।
  3. 'सत्य हिन्दी' के 3 webinars में भाग लेने का मुफ़्त निमंत्रण। सदस्यता तिथि से 90 दिनों के भीतर आप अपनी पसन्द के किसी 3 webinar में भाग लेने के लिए प्राथमिकता से अपना स्थान आरक्षित करा सकेंगे। 'सत्य हिन्दी' सदस्यों को आवंटन के बाद रिक्त बच गये स्थानों के लिए सामान्य पंजीकरण खोला जायगा। *कृपया ध्यान रखें कि वेबिनार के स्थान सीमित हैं और पंजीकरण के बाद यदि किसी कारण से आप वेबिनार में भाग नहीं ले पाये, तो हम उसके एवज़ में आपको अतिरिक्त अवसर नहीं दे पायेंगे।
सर्वाधिक पढ़ी गयी खबरें

अपनी राय बतायें

उत्तर प्रदेश से और खबरें

ताज़ा ख़बरें

सर्वाधिक पढ़ी गयी खबरें