loader

चिन्मयानंद मामला : पीड़िता बरामद, पुलिस का दावा 

पुलिस का दावा है कि जिस लड़की के पिता ने उसके अपहरण का आरोप चिन्मयानंद पर लगाया था, वह मिल गई है। उत्तर प्रदेश पुलिस ने दावा किया है कि वह लड़की राजस्थान में मिली है, वह अपने किसी दोस्त के साथ थी। पुलिस का यह कहना भी है कि दरअसल उसका अपहरण हुआ ही नहीं था।  
उत्तर प्रदेश पुलिस ने ट्वीट कर कहा, 'चिन्मयानंद मामले से जुड़ी लड़की को शाहजहाँपुर पुलिस ने राजस्थान में एक दोस्त के साथ बरामद कर लिया है। इससे जुड़ी ज़रूरी क़ानूनी कार्रवाई की जा रही है।'  
भारतीय जनता पार्टी के नेता और अटल बिहारी वाजपेयी सरकार में मंत्री रह चुके चिन्मयानंद पर शाहजहाँपुर की इस लड़की के अपहरण का आरोप था। लड़की के पिता ने पुलिस में शिकायत की थी और उसमें चिन्मयानंद का नाम लिया था। इसके पहले एक वीडियो वायरल हुआ था, जिसमें वह लड़की चिन्मयानंद पर उसकी और दूसरी लड़कियों की ज़िन्दगी बर्बाद करने का आरोप लगाती हुई दिखती है। इसके पहले चिन्मयानंद के आश्रम में रहने वाली एक साध्वी ने भी इस तरह का आरोप लगाया था। चिन्मयानंद ने उस लड़की के आरोप को सिरे से खारिज करते हुए कहा था कि यह उत्तर प्रदेश के योगी आदित्यनाथ सरकार को बदनाम करने की साजिश है। 

क्या है मामला?

यह मामला शाहजहाँपुर के स्वामी सुखदेवानंद पोस्ट ग्रेजुएट कॉलेज में पढ़ने वाली 23 साल की एक लड़की द्वारा सोशल मीडिया पर एक वीडियो शेयर करने से जुड़ा है। शनिवार को वह लड़की एकाएक ग़ायब हो गई। लड़की के पिता ने बीजेपी के पूर्व सांसद चिन्मयानंद के ख़िलाफ़ रिपोर्ट दी। 
पुलिस ने पूर्व बीजेपी सांसद के ख़िलाफ़ अपहरण और आपराधिक धमकी देने का मामला दर्ज किया है। हालाँकि उनके ख़िलाफ़ लड़कियों के ज़िंदगी बर्बाद करने जैसे मामले में रिपोर्ट दर्ज नहीं की गई है। लड़की जिस कॉलेज में पढ़ती है, उसकी वेबसाइट पर लिखा है कि स्वामी चिन्मयानंद कॉलेज की प्रबंधक कमेटी के अध्यक्ष हैं।

सुप्रीम कोर्ट ने लिया संज्ञान

सुप्रीम कोर्ट ने इस मामले का ख़ुद संज्ञान लेते हुए शुक्रवार यानी 30 अगस्त को इसकी सुनवाई की तारीख तय की। लेकिन उसके ठीक पहले पुलिस ने लड़की के मिलने का दावा किया है।

प्रियंका ने किया था ट्वीट

इसी मामले को लेकर कांग्रेस की महासचिव प्रियंका गाँधी ने एक के बाद एक 4 ट्वीट किए थे। उन्होंने ट्वीट में लिखा, ‘उत्तर प्रदेश में यह उन्नाव मामले जैसा ही दुहराव लग रहा है। अगर कोई महिला बीजेपी नेता के ख़िलाफ़ शिकायत करती है, तो उसको न्याय मिलना तो दूर की बात, उसकी ख़ुद की सुरक्षा की भी गारंटी नहीं रहती।’ एक अन्य ट्वीट में उन्होंने लिखा, ‘पिछले ही साल अभियुक्त पर से बलात्कार का मुक़दमा बीजेपी सरकार ने वापस लिया था। बहुत साफ़ है सरकार किसके साथ खड़ी है। यूपी की लड़कियाँ सब देख रही हैं।’
सर्वाधिक पढ़ी गयी खबरें

अपनी राय बतायें

उत्तर प्रदेश से और खबरें

ख़ास ख़बरें

सर्वाधिक पढ़ी गयी खबरें