loader

कमलेश की माँ ने कहा, बीजेपी नेता ने कराई हत्या, बेटे ने किया इनकार

हिंदू समाज पार्टी के अध्यक्ष कमलेश तिवारी की शुक्रवार को लखनऊ में दिन-दहाड़े हत्या होने के बाद उनकी माँ कुसुम तिवारी ने बीजेपी के एक नेता पर हत्या का आरोप लगाया है। कमलेश तिवारी की माँ का एक वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है। वीडियो में उन्होंने एक मंदिर की मुक़दमेबाजी को हत्या की वजह बताया है। 

तिवारी की मां ने शिव कुमार गुप्ता नाम के एक स्थानीय बीजेपी नेता पर उनके बेटे की हत्या करवाने का आरोप लगाया है। कमलेश तिवारी की माँ ने कहा है कि उनके बेटे की सुरक्षा बढ़ाने की लगातार माँग की जा रही थी लेकिन प्रशासन ने सुरक्षा नहीं बढ़ाई। उन्होंने कहा कि उनके बेटे के ख़िलाफ़ अखिलेश यादव की सरकार के समय से फ़तवे दिये जा रहे थे और तब कोई अंगुली भी नहीं लगा पाया था लेकिन योगी सरकार में उनके बेटे की हत्या हो गई।

ताज़ा ख़बरें

माँ ने कहा है कि योगी आदित्यनाथ बताएँ कि उनके बेटे की सुरक्षा क्यों हटाई गई। उन्होंने कहा, ‘अखिलेश सरकार में कमलेश की सुरक्षा में 17 पुलिसकर्मी थे जबकि योगी सरकार में 4 ही पुलिसकर्मी थे और जिस दिन मेरे बेटे की हत्या हुई उस दिन सिर्फ़ एक सुरक्षाकर्मी था।’ 

कमलेश तिवारी के बेटे ऋषि तिवारी ने एबीपी न्यूज़ से बातचीत में कहा, ‘शुक्रवार को 11.30 से 12 बजे के बीच दो लोग मिलने आये थे। इनके साथ कोई महिला नहीं आई थी। पापा ने मुझसे कहा कि इनके लिए दही-बड़े ले आओ और मैंने उन्हें पानी पिलाया। मैं और पापा का ड्राइवर रोहित नीचे वाली मंजिल पर बैठे थे।’ बेटे ने कहा, ‘सिक्योरिटी गार्ड सो रहा था और जो मुख्य गवाह है उसे पुलिस ने हिरासत में रखा हुआ है।’ ऋषि ने कहा कि वह उन लोगों के नाम नहीं सुन पाये। ऋषि ने यह भी कहा कि उनके पिता की हत्या का मंदिर के विवाद से कुछ लेना-देना नहीं है। कमलेश तिवारी के दूसरे बेटे सत्यम तिवारी ने कहा है कि उन्हें प्रशासन की जांच पर भरोसा नहीं है। 

उत्तर प्रदेश से और ख़बरें
दूसरी ओर, कमलेश तिवारी के परिजन उनका अंतिम संस्कार कराने के लिए आख़िरकार राजी हो गए हैं। लखनऊ मंडल के कमिश्नर मुकेश मेश्राम ने तिवारी के परिवार से मुलाक़ात की है। मेश्राम ने कहा है कि तिवारी के बड़े बेटे को सुरक्षा के लिए लाइसेंसी हथियार दिया जायेगा और उसकी नौकरी की सिफ़ारिश भी सरकार से की जायेगी। मेश्राम ने कहा कि परिवार को ज़रूरी आर्थिक सहायता भी दी जायेगी। 
सर्वाधिक पढ़ी गयी खबरें

अपनी राय बतायें

उत्तर प्रदेश से और खबरें

ताज़ा ख़बरें

सर्वाधिक पढ़ी गयी खबरें