loader

नये वैरिएंट के बाद ब्रिटेन, इटली, जर्मनी ने दक्षिण अफ्रीका की उड़ानें रोकीं

दक्षिण अफ़्रीका में 'ख़तरनाक' नये वैरिएंट के मामले सामने आने पर ब्रिटेन के बाद अब जर्मनी और इटली ने भी वहाँ की अपनी उड़ानें शुक्रवार रात से रद्द करने की घोषणा की है। अब यूरोपीय यूनियन दक्षिण अफ्रीका की उड़ानों पर प्रतिबंध लगाने पर विचार कर रहा है। ब्रिटेन ने कहा है कि दक्षिण अफ्रीका में आया नया वैरिएंट मूल कोरोना वायरस से बेहद अलग है और कोरोना के टीके मूल कोरोना वायरस पर ही आधारित हैं। इसी वजह से माना जा रहा है कि इस नये वैरिएंट पर वैक्सीन शायद उतनी प्रभावी नहीं हों। इधर नए वैरिएंट के हालात का आकलन करने के लिए विश्व स्वास्थ्य संगठन यानी डब्ल्यूएचओ की बैठक होने की उम्मीद है। 

ताज़ा ख़बरें

नये वैरिएंट की ख़बर सामने आने के बाद ब्रिटेन के स्वास्थ्य सचिव साजिद जाविद ने गुरुवार को छह देशों की उड़ानों को अस्थायी रूप से निलंबित करने की घोषणा की। बीएनओ न्यूज़ के अनुसार इजरायल ने भी दक्षिण अफ्रीका, लेसोथो, बोत्सवाना, जिम्बाब्वे, मोजाम्बिक, नामीबिया और इस्वातिनी से यात्रा पर भी प्रतिबंध लगा दिया है।

जर्मनी के नए यात्रा प्रतिबंध शुक्रवार की रात से लागू होंगे जो दक्षिण अफ्रीका और शायद पड़ोसी देशों को भी प्रभावित करेंगे। केवल जर्मन नागरिकों को प्रवेश की अनुमति होगी। टीकाकरण के बाद भी ऐसे लोगों के आगमन पर 14 दिनों के लिए क्वारंटीन करना होगा।

इटली सरकार ने शुक्रवार को घोषणा की कि वह उन लोगों के प्रवेश पर प्रतिबंध लगा रही है जो पिछले एक पखवाड़े में दक्षिण अफ्रीका, लेसोथो, बोत्सवाना, जिम्बाब्वे, मोज़ाम्बिक, नामीबिया या इस्वातिनी में रहे हैं।

एएफ़पी की रिपोर्ट के अनुसार, यूरोपीय संघ के प्रमुख उर्सुला वॉन डेर लेयेन ने शुक्रवार को ट्वीट किया, 'ईयू के कार्यकारी सदस्य देशों के साथ निकट समन्वय में दक्षिण अफ्रीकी क्षेत्र से हवाई यात्रा पर आपातकालीन रोक लगाने का प्रस्ताव देंगे।'

रिपोर्ट में कहा गया है कि विश्व स्वास्थ्य संगठन यानी डब्ल्यूएचओ द्वारा दक्षिण अफ्रीका और बोत्सवाना में मिले कोरोना के नये वैरिएंट पर चर्चा करने के लिए शुक्रवार को एक आपातकालीन बैठक बुलाए जाने की उम्मीद है।

डब्ल्यूएचओ ने कहा है कि यह रिपोर्ट किए गए नये वैरिएंट की बारीकी से निगरानी कर रहा है और इसका विश्लेषण किया जाएगा। 

डब्ल्यूएचओ ने कहा, 'शुरुआती विश्लेषण से पता चलता है कि इस वैरिएंट में बड़ी संख्या में म्यूटेशंस हैं जिनका आगे का अध्ययन किए जाने की ज़रूरत है और इसे उससे गुजरना होगा।'

दुनिया से और ख़बरें

दक्षिण अफ्रीकी अधिकारियों ने कोरोना के नये वैरिएंट की घोषणा की है। उन्होंने कहा है कि इसका म्यूटेशन  बेहद असामान्य है। रॉयटर्स की एक रिपोर्ट के अनुसार, दक्षिण अफ़्रीकी वैज्ञानिकों ने गुरुवार को एक संवाददाता सम्मेलन में कहा कि बी.1.1529 नाम से बुलाए जाने वाले इस वैरिएंट में पाए गए म्यूटेंट बेहद ख़तरनाक हैं क्योंकि वे शरीर की प्रतिरक्षा प्रतिक्रिया से बचने में मदद कर सकते हैं और इसे और अधिक संक्रामक बना सकते हैं। 

दक्षिण अफ़्रीका के इस नये वैरिएंट की जानकारी मिलने के बाद भारत में केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने राज्यों को कहा है कि उन तीन देशों से आने वाले या उनसे होकर गुजरने वाले यात्रियों का कड़ाई से जांच की जाए। 

सत्य हिन्दी ऐप डाउनलोड करें

गोदी मीडिया और विशाल कारपोरेट मीडिया के मुक़ाबले स्वतंत्र पत्रकारिता का साथ दीजिए और उसकी ताक़त बनिए। 'सत्य हिन्दी' की सदस्यता योजना में आपका आर्थिक योगदान ऐसे नाज़ुक समय में स्वतंत्र पत्रकारिता को बहुत मज़बूती देगा। याद रखिए, लोकतंत्र तभी बचेगा, जब सच बचेगा।

नीचे दी गयी विभिन्न सदस्यता योजनाओं में से अपना चुनाव कीजिए। सभी प्रकार की सदस्यता की अवधि एक वर्ष है। सदस्यता का चुनाव करने से पहले कृपया नीचे दिये गये सदस्यता योजना के विवरण और Membership Rules & NormsCancellation & Refund Policy को ध्यान से पढ़ें। आपका भुगतान प्राप्त होने की GST Invoice और सदस्यता-पत्र हम आपको ईमेल से ही भेजेंगे। कृपया अपना नाम व ईमेल सही तरीक़े से लिखें।
सत्य अनुयायी के रूप में आप पाएंगे:
  1. सदस्यता-पत्र
  2. विशेष न्यूज़लेटर: 'सत्य हिन्दी' की चुनिंदा विशेष कवरेज की जानकारी आपको पहले से मिल जायगी। आपकी ईमेल पर समय-समय पर आपको हमारा विशेष न्यूज़लेटर भेजा जायगा, जिसमें 'सत्य हिन्दी' की विशेष कवरेज की जानकारी आपको दी जायेगी, ताकि हमारी कोई ख़ास पेशकश आपसे छूट न जाय।
  3. 'सत्य हिन्दी' के 3 webinars में भाग लेने का मुफ़्त निमंत्रण। सदस्यता तिथि से 90 दिनों के भीतर आप अपनी पसन्द के किसी 3 webinar में भाग लेने के लिए प्राथमिकता से अपना स्थान आरक्षित करा सकेंगे। 'सत्य हिन्दी' सदस्यों को आवंटन के बाद रिक्त बच गये स्थानों के लिए सामान्य पंजीकरण खोला जायगा। *कृपया ध्यान रखें कि वेबिनार के स्थान सीमित हैं और पंजीकरण के बाद यदि किसी कारण से आप वेबिनार में भाग नहीं ले पाये, तो हम उसके एवज़ में आपको अतिरिक्त अवसर नहीं दे पायेंगे।
सर्वाधिक पढ़ी गयी खबरें

अपनी राय बतायें

दुनिया से और खबरें

ताज़ा ख़बरें

सर्वाधिक पढ़ी गयी खबरें