loader

ऑस्कर के लिए 'नातू नातू' सॉन्ग, दो भारतीय डॉक्यूमेंट्री का नामांकन

गोल्डन ग्लोब के बाद अब ऑस्कर से भी कई भारतीय फिल्मों को उम्मीदें बढ़ गई हैं। 95वें अकादमी पुरस्कार के लिए नामांकन की घोषणा की गई है। इसमें आरआरआर को ऑस्कर के लिए नामांकित किया गया है। इसका नामांकन नातू नातू के लिए सर्वश्रेष्ठ मूल गीत की श्रेणी में किया गया है। इसी श्रेणी में इस गीत को हाल ही में गोल्डन ग्लोब अवार्ड भी मिला है। 

ऑस्कर के नाम से भी जाने जाने वाला अकादमी पुरस्कार के लिए आरआरआर के अलावा दो भारतीय डॉक्यूमेंट्री फ़िल्मों को भी नामांकन मिला है। यानी भारत की तीन फ़िल्में इस बार के अकादमी पुरस्कार की श्रेणी में प्रतिस्पर्धा कर रही हैं। 

ताज़ा ख़बरें

ऑस्कर में आरआरआर का 'नातू नातू' चार अन्य नामांकित गीतों के खिलाफ प्रतिस्पर्धा करेगा। एसएस राजामौली की आरआरआर के अब अमेरिका में बड़े पैमाने पर प्रशंसक हैं। हालाँकि फिल्म को बेस्ट पिक्चर और बेस्ट डायरेक्टर कैटेगरी में कोई नॉमिनेशन नहीं मिला।

आरआरआर फ़िल्म के आधिकारिक ट्वीट में कहा गया, 'हमने इतिहास रचा! यह साझा करते हुए गर्व हो रहा है और यह सौभाग्य की बात है कि नातू नातू को 95वें अकादमी पुरस्कारों में सर्वश्रेष्ठ मूल गीत के लिए नामांकित किया गया है।'

दो भारतीय डॉक्यूमेंट्री भी

भारत में बनी दो डॉक्यूमेंट्री भी ऑस्कर के लिए जा रही हैं। ये दो फ़िल्में हैं- ऑल दैट ब्रीथ्स और द एलिफेंट व्हिस्परर्स। शौनक सेन की ऑल दैट ब्रीथ्स ने सर्वश्रेष्ठ डॉक्यूमेंट्री फीचर फिल्म श्रेणी में नामांकन प्राप्त किया। कार्तिकी गोंजाल्विस की 41 मिनट की फिल्म द एलिफेंट व्हिस्परर्स ने भी बेस्ट डॉक्यूमेंट्री शॉर्ट कैटेगरी में नॉमिनेशन हासिल किया।

भारत की आधिकारिक ऑस्कर प्रविष्टि, छेलो शो या लास्ट पिक्चर शो सर्वश्रेष्ठ अंतरराष्ट्रीय फीचर फिल्म श्रेणी से बाहर हो गई।

सिनेमा से और ख़बरें

आरआरआर और दोनों डॉक्यूमेंट्री ऑस्कर में जाने के लिए भारतीय फिल्मों के एक चुनिंदा समूह में शामिल हो गई हैं। पहले मदर इंडिया, सलाम बॉम्बे और लगान को सर्वश्रेष्ठ अंतरराष्ट्रीय फीचर फिल्म के लिए नामांकित किया गया था। 

इस साल बेस्ट पिक्चर ऑस्कर के लिए 10 फिल्मों को नॉमिनेट किया गया। इनमें ऑल क्वाइट ऑन द वेस्टर्न फ्रंट, अवतार: द वे ऑफ वॉटर, द बंशीज ऑफ इनिशरिन, एल्विस, एवरीथिंग एवरीवेयर ऑल एट वंस, द फैबेलमैन्स, टार, टॉप गन मेवरिक, ट्राइएंगल ऑफ सैडनेस एंड वीमेन टॉकिंग शामिल हैं। 95वें अकादमी पुरस्कार की घोषणा 13 मार्च को होगी।

सत्य हिन्दी ऐप डाउनलोड करें

गोदी मीडिया और विशाल कारपोरेट मीडिया के मुक़ाबले स्वतंत्र पत्रकारिता का साथ दीजिए और उसकी ताक़त बनिए। 'सत्य हिन्दी' की सदस्यता योजना में आपका आर्थिक योगदान ऐसे नाज़ुक समय में स्वतंत्र पत्रकारिता को बहुत मज़बूती देगा। याद रखिए, लोकतंत्र तभी बचेगा, जब सच बचेगा।

नीचे दी गयी विभिन्न सदस्यता योजनाओं में से अपना चुनाव कीजिए। सभी प्रकार की सदस्यता की अवधि एक वर्ष है। सदस्यता का चुनाव करने से पहले कृपया नीचे दिये गये सदस्यता योजना के विवरण और Membership Rules & NormsCancellation & Refund Policy को ध्यान से पढ़ें। आपका भुगतान प्राप्त होने की GST Invoice और सदस्यता-पत्र हम आपको ईमेल से ही भेजेंगे। कृपया अपना नाम व ईमेल सही तरीक़े से लिखें।
सत्य अनुयायी के रूप में आप पाएंगे:
  1. सदस्यता-पत्र
  2. विशेष न्यूज़लेटर: 'सत्य हिन्दी' की चुनिंदा विशेष कवरेज की जानकारी आपको पहले से मिल जायगी। आपकी ईमेल पर समय-समय पर आपको हमारा विशेष न्यूज़लेटर भेजा जायगा, जिसमें 'सत्य हिन्दी' की विशेष कवरेज की जानकारी आपको दी जायेगी, ताकि हमारी कोई ख़ास पेशकश आपसे छूट न जाय।
  3. 'सत्य हिन्दी' के 3 webinars में भाग लेने का मुफ़्त निमंत्रण। सदस्यता तिथि से 90 दिनों के भीतर आप अपनी पसन्द के किसी 3 webinar में भाग लेने के लिए प्राथमिकता से अपना स्थान आरक्षित करा सकेंगे। 'सत्य हिन्दी' सदस्यों को आवंटन के बाद रिक्त बच गये स्थानों के लिए सामान्य पंजीकरण खोला जायगा। *कृपया ध्यान रखें कि वेबिनार के स्थान सीमित हैं और पंजीकरण के बाद यदि किसी कारण से आप वेबिनार में भाग नहीं ले पाये, तो हम उसके एवज़ में आपको अतिरिक्त अवसर नहीं दे पायेंगे।
सर्वाधिक पढ़ी गयी खबरें

अपनी राय बतायें

सिनेमा से और खबरें

ताज़ा ख़बरें

सर्वाधिक पढ़ी गयी खबरें