loader

केंद्र को हाई कोर्ट की फटकार, दिल्ली को ऑक्सीजन नहीं दिया तो होगी अदालत की अवमानना

दिल्ली के बत्रा अस्पताल में ऑक्सीजन की कमी से एक डॉक्टर समेत आठ लोगों के मारे जाने के बाद दिल्ली हाई कोर्ट ने केंद्र सरकार को दिल्ली के कोटे की ऑक्सीजन उसे देने का आदेश दिया है और कहा है कि इस आदेश का पालन नहीं हुआ तो इसे अदालत की अवमानना माना जाएगा। अदालत ने कड़ा रुख अपनाते हुए कहा कि अब पानी सिर के ऊपर से गुजर रहा है, अदालत आँख मूंद कर नहीं रह सकती और अब भी अदालत के आदेश का पालन नहीं हुआ तो उसके ख़िलाफ़ कार्रवाई की जाएगी

दिल्ली हाई कोर्ट ने केंद्र सरकार से कहा है कि चाहे जहाँ से हो, दिल्ली को 490 मीट्रिक टन ऑक्सीजन ऱोज दो। 

विपिन संघी और रेखा पल्ली के खंडपीठ ने शनिवार को विशेष सुनवाई के दौरान केंद्र सरकार को लताड़ लगाई और कहा कि अदालत आँख मूंद कर बैठी नहीं रह सकती। बेंच ने कहा, 'हम केंद्र सरकार को यह आदेश देते हैं कि वह चाहे जहाँ से हो, आज ही दिल्ली को उसके कोटे की 490 मीट्रिक टन ऑक्सजीन दे।' 

जस्टिस विपिन संघी ने अतिरिक्त सॉलीसिलटर जनरल चेतन शर्मा से कहा,

बहुत हो चुका, अब पानी हमारे सिर के ऊपर से गुजर रहा है। हम ज़्यादा के लिए नहीं कह रहे हैं, आपने ही 490 मीट्रिक टन ऑक्सीजन देने की बात कही है, आपको इतना देना ही होगा।


जस्टिस विपिन संघी, जज, दिल्ली हाई कोर्ट

बेंच ने कहा कि 20 अप्रैल को ही दिल्ली का कोटा तय किया गया, उसके बाद से अब तक एक भी दिन उसे पूरी ऑक्सीजन नहीं मिली है। 
अदालत ने अपना रुख कड़ा करते हुए कहा कि सोमवार को इस पर फिर सुनवाई होगी, उसमें संबंधित लोग मौजूद रहें और दिल्ली को पूरी ऑक्सीजन नहीं दिया गया तो इसे अदालत की अवमानना माना जाएगा। 

बता दें कि दिल्ली के बत्रा अस्पताल में ऑक्सीजन की कमी से एक डॉक्टर समेत आठ लोगों की मौत हो गई है। 

अस्पताल ने दिल्ली हाई कोर्ट में सुनवाई के दौरान कहा कि 12.45 बजे ऑक्सीजन ख़त्म हो गया था, ऑक्सीजन टैंकर अस्पताल में दोपहर 1.30 बजे पहुँचे, उसके पहले ही ऑक्सीजन ख़त्म हो चुका था लगभग 45 मिनट तक लोगों को बगैर ऑक्सीजन के ही रहना पड़ा। 

एसओएस

इससे पहले बत्रा अस्पताल के निदेशक डॉक्टर सुधांशु ने 12.01 बजे ही एक एसओएस जारी कर कहा कि ऑक्सीजन खत्म हो रही है, कुछ ही सिलिंडर बचे हैं, अगले 10 मिनट में अस्पताल में पूरी तरह से ऑक्सीजन खत्म हो जाएगी।

मेरठ में मौत

बता दे कि इसके पहले मेरठ के दो अस्पतालों में मंगलवार को ऑक्सीजन की कमी से कुल मिला कर सात कोरोना मरीजों की मौत हो गई है। 

निजी क्षेत्र के आनंद अस्पताल में तीन और केएमसी अस्पताल में चार कोरोना मरीजों की मौत हो गई क्योंकि ऑक्सीजन की कमी के कारण प्रेशर नहीं बना और मरीजों को ऑक्सीजन नहीं मिली। 

आनंद अस्पताल के मेडिकल सुप्रिटेंडेंट डॉ. सुभाष यादव ने ऑक्सीजन की कमी की बात मानी। उन्होंने एनडीटीवी से कहा कि 'ऑक्सीजन की कमी लगातार बनी हुई है।'

सत्य हिन्दी ऐप डाउनलोड करें

गोदी मीडिया और विशाल कारपोरेट मीडिया के मुक़ाबले स्वतंत्र पत्रकारिता का साथ दीजिए और उसकी ताक़त बनिए। 'सत्य हिन्दी' की सदस्यता योजना में आपका आर्थिक योगदान ऐसे नाज़ुक समय में स्वतंत्र पत्रकारिता को बहुत मज़बूती देगा। याद रखिए, लोकतंत्र तभी बचेगा, जब सच बचेगा।

नीचे दी गयी विभिन्न सदस्यता योजनाओं में से अपना चुनाव कीजिए। सभी प्रकार की सदस्यता की अवधि एक वर्ष है। सदस्यता का चुनाव करने से पहले कृपया नीचे दिये गये सदस्यता योजना के विवरण और Membership Rules & NormsCancellation & Refund Policy को ध्यान से पढ़ें। आपका भुगतान प्राप्त होने की GST Invoice और सदस्यता-पत्र हम आपको ईमेल से ही भेजेंगे। कृपया अपना नाम व ईमेल सही तरीक़े से लिखें।
सत्य अनुयायी के रूप में आप पाएंगे:
  1. सदस्यता-पत्र
  2. विशेष न्यूज़लेटर: 'सत्य हिन्दी' की चुनिंदा विशेष कवरेज की जानकारी आपको पहले से मिल जायगी। आपकी ईमेल पर समय-समय पर आपको हमारा विशेष न्यूज़लेटर भेजा जायगा, जिसमें 'सत्य हिन्दी' की विशेष कवरेज की जानकारी आपको दी जायेगी, ताकि हमारी कोई ख़ास पेशकश आपसे छूट न जाय।
  3. 'सत्य हिन्दी' के 3 webinars में भाग लेने का मुफ़्त निमंत्रण। सदस्यता तिथि से 90 दिनों के भीतर आप अपनी पसन्द के किसी 3 webinar में भाग लेने के लिए प्राथमिकता से अपना स्थान आरक्षित करा सकेंगे। 'सत्य हिन्दी' सदस्यों को आवंटन के बाद रिक्त बच गये स्थानों के लिए सामान्य पंजीकरण खोला जायगा। *कृपया ध्यान रखें कि वेबिनार के स्थान सीमित हैं और पंजीकरण के बाद यदि किसी कारण से आप वेबिनार में भाग नहीं ले पाये, तो हम उसके एवज़ में आपको अतिरिक्त अवसर नहीं दे पायेंगे।
सर्वाधिक पढ़ी गयी खबरें

अपनी राय बतायें

दिल्ली से और खबरें

ताज़ा ख़बरें

सर्वाधिक पढ़ी गयी खबरें