loader

दिल्ली में नाबालिग के साथ कार में गैंगरेप, वीडियो भी बनाया

दिल्ली में नाबालिग के साथ कार में गैंगरेप किए जाने का मामला सामने आया है। पुलिस ने कहा है कि इस मामले में तीन अभियुक्त हैं और ये नाबालिग के पड़ोस में ही रहते हैं। अभियुक्तों को गिरफ्तार कर लिया गया है। नाबालिग की उम्र 16 साल है। 

पीड़िता ने पुलिस को बताया है कि चलती कार में 6 जुलाई को उसके साथ बलात्कार किया गया और उसे पीटा भी गया। नाबालिग का कहना है कि अभियुक्तों ने बलात्कार किए जाने का वीडियो भी बना लिया।

वारदात के बाद नाबालिग को दिल्ली के ही एक अस्पताल में भर्ती कराया गया। जहां घटना के 2 दिन बाद यानी 8 जुलाई को अस्पताल की ओर से पुलिस को इस बात की जानकारी दी गई।

ताज़ा ख़बरें

काउंसलर के साथ बातचीत में पीड़िता ने बताया है कि अभियुक्तों में से 2 लोगों को वह पहले से ही जानती थी। 6 जुलाई की शाम को वसंत विहार के बाजार के पास दोनों उसे मिले थे। उन्होंने अपने तीसरे साथी को भी बुला लिया। उन्होंने उससे कार में साथ चलने की बात कही। इसके बाद चारों लोग महिपालपुर गए और शराब पी। 

पीड़िता ने बताया कि इसके बाद वे उसे सुनसान जगह पर ले गए जहां दो अभियुक्तों ने उसके साथ कार के अंदर बलात्कार किया।

अभियुक्तों के खिलाफ पॉक्सो और आईपीसी की धाराओं के तहत मुकदमा दर्ज कर लिया गया है। पुलिस इस मामले में आगे की जांच कर रही है।

अभियुक्तों के नाम मनोज कुमार (25), मोहम्मद आरिफ  (23) और रुपेश कुमार (35) हैं। दक्षिण-पश्चिम जिले के डीसीपी मनोज ने द इंडियन एक्सप्रेस को बताया कि यह तीनों ही अभियुक्त टैक्सी चलाते हैं। पुलिस ने पीड़िता का बयान दर्ज कर लिया है। 
दिल्ली से और खबरें

निर्भया बलात्कार मामला

दिल्ली में कुछ साल पहले बस में निर्भया के साथ बलात्कार हुआ था और तब इसे लेकर हजारों युवा सड़क पर आ गए थे। यह मामला इतना आगे बढ़ गया था कि तत्कालीन यूपीए सरकार और दिल्ली की शीला दीक्षित सरकार के लिए जवाब देना मुश्किल हो गया था। महिला सुरक्षा के मुद्दे पर विपक्षी दलों ने तत्कालीन सरकारों पर हमला बोल दिया था और सुप्रीम कोर्ट ने महिलाओं की सुरक्षा से जुड़े तमाम मुद्दों पर बेहद जरूरी दिशा-निर्देश जारी किए थे। निर्भया के दोषियों को लंबी सुनवाई के बाद फांसी की सजा सुनाई गई थी।

कुछ दिन पहले हैदराबाद में भी एक नाबालिग के साथ कार में गैंगरेप हुआ था और जिस कार में यह गैंगरेप हुआ था वह तेलंगाना के विधायक की थी। नाबालिग के साथ बलात्कार की घटना पार्किंग में हुई थी और आरोपियों ने उसे घर छोड़ने का ऑफर दिया था।

सत्य हिन्दी ऐप डाउनलोड करें

गोदी मीडिया और विशाल कारपोरेट मीडिया के मुक़ाबले स्वतंत्र पत्रकारिता का साथ दीजिए और उसकी ताक़त बनिए। 'सत्य हिन्दी' की सदस्यता योजना में आपका आर्थिक योगदान ऐसे नाज़ुक समय में स्वतंत्र पत्रकारिता को बहुत मज़बूती देगा। याद रखिए, लोकतंत्र तभी बचेगा, जब सच बचेगा।

नीचे दी गयी विभिन्न सदस्यता योजनाओं में से अपना चुनाव कीजिए। सभी प्रकार की सदस्यता की अवधि एक वर्ष है। सदस्यता का चुनाव करने से पहले कृपया नीचे दिये गये सदस्यता योजना के विवरण और Membership Rules & NormsCancellation & Refund Policy को ध्यान से पढ़ें। आपका भुगतान प्राप्त होने की GST Invoice और सदस्यता-पत्र हम आपको ईमेल से ही भेजेंगे। कृपया अपना नाम व ईमेल सही तरीक़े से लिखें।
सत्य अनुयायी के रूप में आप पाएंगे:
  1. सदस्यता-पत्र
  2. विशेष न्यूज़लेटर: 'सत्य हिन्दी' की चुनिंदा विशेष कवरेज की जानकारी आपको पहले से मिल जायगी। आपकी ईमेल पर समय-समय पर आपको हमारा विशेष न्यूज़लेटर भेजा जायगा, जिसमें 'सत्य हिन्दी' की विशेष कवरेज की जानकारी आपको दी जायेगी, ताकि हमारी कोई ख़ास पेशकश आपसे छूट न जाय।
  3. 'सत्य हिन्दी' के 3 webinars में भाग लेने का मुफ़्त निमंत्रण। सदस्यता तिथि से 90 दिनों के भीतर आप अपनी पसन्द के किसी 3 webinar में भाग लेने के लिए प्राथमिकता से अपना स्थान आरक्षित करा सकेंगे। 'सत्य हिन्दी' सदस्यों को आवंटन के बाद रिक्त बच गये स्थानों के लिए सामान्य पंजीकरण खोला जायगा। *कृपया ध्यान रखें कि वेबिनार के स्थान सीमित हैं और पंजीकरण के बाद यदि किसी कारण से आप वेबिनार में भाग नहीं ले पाये, तो हम उसके एवज़ में आपको अतिरिक्त अवसर नहीं दे पायेंगे।
सर्वाधिक पढ़ी गयी खबरें

अपनी राय बतायें

दिल्ली से और खबरें

ताज़ा ख़बरें

सर्वाधिक पढ़ी गयी खबरें