loader
प्रतीकात्मक तसवीर।

कोरोना: अहमदाबाद, सूरत में स्थिति बिगड़ी, एक हफ़्ते तक पूरी तरह लॉकडाउन

गुजरात के अहमदाबाद और सूरत में कोरोना वायरस के तेज़ी से फैलने पर लॉकडाउन में सख़्ती की गई है। दूध और दवा की दुकानों को छोड़कर सभी प्रतिष्ठान एक हफ़्ते के लिए बंद रहेंगे। यह आदेश अहमदाबाद में सात मई को आधी रात से लागू हो गया, जबकि सूरत में इसे शनिवार से लागू किया जाएगा। इस आदेश के आते ही दोनों शहरों में दुकानों से ज़रूरी सामान ख़रीदने के लिए लोगों की लंबी-लंबी कतारें लग गईं। गुजरात के डीजीपी शिवानंद झा ने कहा है कि लॉकडाउन को सख़्ती से लागू कराने के लिए केंद्र सरकार ने अहमदाबाद के लिए अर्द्ध सैनिक बलों की पाँच अतिरिक्त टुकड़ियाँ भेजी हैं।

ताज़ा ख़बरें

इन दो शहरों के लिए ताज़ा आदेश ऐसे समय में आया है जब केंद्र सरकार ने रेड ज़ोन को छोड़कर पूरे देश भर में 4 मई से लॉकडाउन में ढील दी हुई है। ज़रूरी सामानों के साथ ही ग़ैर-ज़रूरी सामानों को भी सीमित छूट दी गई है। इसमें शराब की दुकानें भी शामिल हैं। हालाँकि इस छूट के बावजूद कई जगहों पर लॉकडाउन में सख़्ती की गई है। ऐसा ही अहमदाबाद और सूरत में भी किया गया है।

इन दोनों शहरों के लिए यह फ़ैसला तब लिया गया है जब बुधवार को गुजरात में 382 नये पॉजिटिव मामले आए। इसमें से अकेले अहमदाबाद में 291 मामले आए। इसके साथ ही राज्य में अब संक्रमित मामलों की संख्या बढ़कर 6 हज़ार 669 हो गई है। राज्य में बुधवार को 27 लोगों की मौत हो गई जिसमें से 25 मौतें सिर्फ़ अहमदाबाद में ही हुईं। राज्य में जितने मामले आए हैं उसमें से 70 फ़ीसदी अकेले अहमदाबाद में हैं। 

अहमदाबाद शहर की स्थिति की ज़िम्मेदारी संभाल रहे अतिरिक्त मुख्य सचिव राजीव कुमार गुप्ता ने अधिकारियों और निगम के अधिकारियों के साथ बैठक की। बैठक के बाद जारी ताज़ा आदेश में कहा गया, 'सब्जियाँ, फल व किराना दुकानों, सुपरमार्केट, आइसक्रीम पार्लर और इन सामानों की होम डिलीवरी में लगे लोगों के साथ-साथ स्वीगी, ज़ोमैटो, डोमिनोज और अन्य दुकानों में काम करने वाले लोग संक्रमण के प्रमुख स्रोत बन जाते हैं। इसलिए पूरे एएमसी क्षेत्र में दूध और दवा को छोड़कर सभी दुकानें और होम डिलीवरी सेवाएँ सात दिनों तक बंद रहेंगी। यह 7 मई से लागू होगा।' 

गुजरात से और ख़बरें

ऐसा ही आदेश सूरत के लिए भी निकाला गया है। सूरत नगर निगम ने अपने आदेश में कहा, 'कृषि उपज मंडी समिति बाज़ार, किसानों के लिए नामित सभी क्षेत्रों में सब्ज़ी बाज़ार, स्वतंत्र सब्ज़ी स्टॉल, फलों की दुकानें बंद रहेंगी और किसी भी माध्यम से सब्ज़ियों और फलों की बिक्री 9 मई से 14 मई तक प्रतिबंधित रहेगी।'

राज्य सरकार ने एपीएल-1 राशन कार्ड वाले परिवारों को मुफ़्त में अनाज बाँटने का कार्यक्रम भी स्थगित कर दिया है। इसे गुरुवार से ही शुरू किया जाना था। अब इसको बाँटने की नयी तारीख़ बाद में घोषित की जाएगी। एटीएम को छोड़कर बैंकों की सभी शाखाओं को बंद करने के लिए कहा गया है। 

'सत्य हिन्दी'
की ताक़त बनिए

गोदी मीडिया और विशाल कारपोरेट मीडिया के मुक़ाबले स्वतंत्र पत्रकारिता का साथ दीजिए और उसकी ताक़त बनिए। 'सत्य हिन्दी' की सदस्यता योजना में आपका आर्थिक योगदान ऐसे नाज़ुक समय में स्वतंत्र पत्रकारिता को बहुत मज़बूती देगा। याद रखिए, लोकतंत्र तभी बचेगा, जब सच बचेगा।

नीचे दी गयी विभिन्न सदस्यता योजनाओं में से अपना चुनाव कीजिए। सभी प्रकार की सदस्यता की अवधि एक वर्ष है। सदस्यता का चुनाव करने से पहले कृपया नीचे दिये गये सदस्यता योजना के विवरण और Membership Rules & NormsCancellation & Refund Policy को ध्यान से पढ़ें। आपका भुगतान प्राप्त होने की GST Invoice और सदस्यता-पत्र हम आपको ईमेल से ही भेजेंगे। कृपया अपना नाम व ईमेल सही तरीक़े से लिखें।
सत्य अनुयायी के रूप में आप पाएंगे:
  1. सदस्यता-पत्र
  2. विशेष न्यूज़लेटर: 'सत्य हिन्दी' की चुनिंदा विशेष कवरेज की जानकारी आपको पहले से मिल जायगी। आपकी ईमेल पर समय-समय पर आपको हमारा विशेष न्यूज़लेटर भेजा जायगा, जिसमें 'सत्य हिन्दी' की विशेष कवरेज की जानकारी आपको दी जायेगी, ताकि हमारी कोई ख़ास पेशकश आपसे छूट न जाय।
  3. 'सत्य हिन्दी' के 3 webinars में भाग लेने का मुफ़्त निमंत्रण। सदस्यता तिथि से 90 दिनों के भीतर आप अपनी पसन्द के किसी 3 webinar में भाग लेने के लिए प्राथमिकता से अपना स्थान आरक्षित करा सकेंगे। 'सत्य हिन्दी' सदस्यों को आवंटन के बाद रिक्त बच गये स्थानों के लिए सामान्य पंजीकरण खोला जायगा। *कृपया ध्यान रखें कि वेबिनार के स्थान सीमित हैं और पंजीकरण के बाद यदि किसी कारण से आप वेबिनार में भाग नहीं ले पाये, तो हम उसके एवज़ में आपको अतिरिक्त अवसर नहीं दे पायेंगे।
सर्वाधिक पढ़ी गयी खबरें

अपनी राय बतायें

गुजरात से और खबरें

ताज़ा ख़बरें

सर्वाधिक पढ़ी गयी खबरें