loader

कोरोना: एक दिन में 1.15 लाख पॉजिटिव केस, अब तक सबसे ज़्यादा

कोरोना संक्रमण के मामले मंगलवार को फिर से रिकॉर्ड तेज़ी से बढ़े। एक दिन में 1 लाख 15 हज़ार से ज़्यादा संक्रमण के मामले आए। यह 24 घंटे में अब तक का सबसे ज़्यादा आँकड़ा है। इससे पहले सबसे ज़्यादा पॉजिटिव केस रविवार को आए थे जब 1 लाख 3 हज़ार केस आए थे। इसके बाद सोमवार को क़रीब 97 हज़ार पॉजिटिव केस रिकॉर्ड किए गए। यानी तीन दिन के अंदर यह दूसरी बार है जब संक्रमण के मामले एक लाख से ज़्यादा आए हैं।

भारत में हर रोज़ संक्रमण के मामले अब दुनिया में सबसे ज़्यादा आ रहे हैं। हर रोज़ संक्रमण के मामले में दूसरे स्थान पर ब्राज़ील है जहाँ 80 हज़ार से ज़्यादा पॉजिटिव केस आए हैं और तीसरे स्थान पर अमेरिका है जहाँ 60 हज़ार से ज़्यादा केस आए हैं। अब तक कुल संक्रमण के मामले में अमेरिका पहले स्थान पर है जहाँ 3 करोड़ 15 लाख मामले आए हैं, ब्राज़ील दूसरे स्थान पर है जहाँ 1 करोड़ 31 लाख केस हैं और तीसरे स्थान पर भारत में एक करोड़ 28 लाख मामले आए हैं। 

ताज़ा ख़बरें

भारत में 24 घंटे में 630 लोगों की मौत हुई है। अब जो ताज़ा संक्रमण के मामले आए हैं उनमें सबसे ज़्यादा केस महाराष्ट्र से आए हैं। राज्य से 55 हज़ार से ज़्यादा संक्रमण के मामले रिकॉर्ड किए गए हैं। इसमें से मुंबई में 10 हज़ार, पुणे में 11 हज़ार, नाशिक में 4300 और नागपुर में 3700 मामले दर्ज किए गए। 

अब दिल्ली में भी संक्रमण काफ़ी तेज़ी से फैला है और वहाँ 5100 से ज़्यादा मामले आने लगे हैं। इससे पहले सोमवार को 3548 केस और रविवार को 4 हज़ार 33 मामले दर्ज किए गए थे। दिल्ली सरकार ने रात 10 बजे से सुबह 5 बजे तक नाइट कर्फ़्यू लगा दिया है। यह नाइट कर्फ़्यू 30 अप्रैल तक लागू रहेगा। 

केजरीवाल सरकार ने 100 से अधिक बेड वाले निजी अस्पतालों में कोरोना मरीज़ों के लिए 30 फ़ीसदी बेड आरक्षित करने के लिए कहा है। इन अस्पतालों में सामान्य बेड के अलावा आईसीयू बेड भी कोरोना मरीज़ों के लिए आरक्षित करने होंगे।

इस बीच केंद्र सरकार ने चेताया है कि अगले चार हफ़्ते तक स्थिति 'बेहद नाजुक' रहने वाली है। सरकार ने कहा है कि देश में कोरोना पिछले साल की अपेक्षा काफ़ी तेज़ी से फैल रहा है।

केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री ने कहा कि ऐसा लगता है कि लोगों ने मास्क पहनने जैसे उपायों को तिलांजलि दे दी है। हर्षवर्धन ने कहा है कि कोरोना के इतनी तेज़ी से फैलने की वजह है लोगों द्वारा कोरोना से बचाव के उपायों के प्रति लापरवाही वाला रवैया अपनाना। 

daily coronavirus cases crossed 1 lakh 15 thousand in india - Satya Hindi

देश में कोरोना की दूसरी लहर है और केंद्र ने इसको नियंत्रित करने के लिए लोगों की सहभागिता को महत्वपूर्ण बताया है। 'पीटीआई' की रिपोर्ट के अनुसार, नीति आयोग के सदस्य डॉ. वी के पॉल ने कहा है, 'दूसरी लहर को नियंत्रित करने के लिए लोगों की भागीदारी महत्वपूर्ण है। अगले चार सप्ताह बहुत अहम हैं। पूरे देश को एकजुट होकर महामारी से लड़ने के प्रयास करने होंगे।' 

महाराष्ट्र में स्थिति गंभीर

महाराष्ट्र में कोरोना संक्रमण के इतने मामले बढ़ गए हैं कि अस्पतालों में व्यवस्था कम पड़ने लगी है। राज्य के स्वास्थ्य मंत्री राजेश टोपे ने केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री हर्षवर्धन से बात की और उनसे अनुरोध किया कि वे पड़ोसी राज्यों को महाराष्ट्र में ऑक्सीजन सिलेंडर भेजने के लिए कहें। राज्य के अस्पतालों में गंभीर रोगियों की देखभाल के लिए आवश्यक ऑक्सीजन सिलेंडर की कमी की बात कही गई है। 

सत्य हिन्दी ऐप डाउनलोड करें

'सत्य हिन्दी'
की ताक़त बनिए


गोदी मीडिया और विशाल कारपोरेट मीडिया के मुक़ाबले स्वतंत्र पत्रकारिता का साथ दीजिए और उसकी ताक़त बनिए। 'सत्य हिन्दी' की सदस्यता योजना में आपका आर्थिक योगदान ऐसे नाज़ुक समय में स्वतंत्र पत्रकारिता को बहुत मज़बूती देगा। याद रखिए, लोकतंत्र तभी बचेगा, जब सच बचेगा।

नीचे दी गयी विभिन्न सदस्यता योजनाओं में से अपना चुनाव कीजिए। सभी प्रकार की सदस्यता की अवधि एक वर्ष है। सदस्यता का चुनाव करने से पहले कृपया नीचे दिये गये सदस्यता योजना के विवरण और Membership Rules & NormsCancellation & Refund Policy को ध्यान से पढ़ें। आपका भुगतान प्राप्त होने की GST Invoice और सदस्यता-पत्र हम आपको ईमेल से ही भेजेंगे। कृपया अपना नाम व ईमेल सही तरीक़े से लिखें।
सत्य अनुयायी के रूप में आप पाएंगे:
  1. सदस्यता-पत्र
  2. विशेष न्यूज़लेटर: 'सत्य हिन्दी' की चुनिंदा विशेष कवरेज की जानकारी आपको पहले से मिल जायगी। आपकी ईमेल पर समय-समय पर आपको हमारा विशेष न्यूज़लेटर भेजा जायगा, जिसमें 'सत्य हिन्दी' की विशेष कवरेज की जानकारी आपको दी जायेगी, ताकि हमारी कोई ख़ास पेशकश आपसे छूट न जाय।
  3. 'सत्य हिन्दी' के 3 webinars में भाग लेने का मुफ़्त निमंत्रण। सदस्यता तिथि से 90 दिनों के भीतर आप अपनी पसन्द के किसी 3 webinar में भाग लेने के लिए प्राथमिकता से अपना स्थान आरक्षित करा सकेंगे। 'सत्य हिन्दी' सदस्यों को आवंटन के बाद रिक्त बच गये स्थानों के लिए सामान्य पंजीकरण खोला जायगा। *कृपया ध्यान रखें कि वेबिनार के स्थान सीमित हैं और पंजीकरण के बाद यदि किसी कारण से आप वेबिनार में भाग नहीं ले पाये, तो हम उसके एवज़ में आपको अतिरिक्त अवसर नहीं दे पायेंगे।
सर्वाधिक पढ़ी गयी खबरें

अपनी राय बतायें

देश से और खबरें

ताज़ा ख़बरें

सर्वाधिक पढ़ी गयी खबरें