loader

काली विवाद: महुआ के खिलाफ कोलकाता में सड़क पर उतरी बीजेपी

टीएमसी की सांसद महुआ मोइत्रा के द्वारा देवी काली को लेकर दिए गए बयान के खिलाफ बीजेपी ने मोर्चा खोल दिया है। बुधवार को बीजेपी ने कोलकाता में जबरदस्त विरोध प्रदर्शन किया और महुआ मोइत्रा के खिलाफ पुलिस में शिकायत भी दी है। 

बीजेपी ने मांग की है कि टीएमसी सुप्रीमो ममता बनर्जी को महुआ मोइत्रा को पार्टी से निलंबित कर देना चाहिए। दूसरी ओर कांग्रेस के सांसद शशि थरूर ने कहा है कि वह महुआ मोइत्रा पर किए जा रहे हमलों से स्तब्ध हैं।

पश्चिम बंगाल में विपक्ष के नेता शुभेंदु अधिकारी ने कहा है कि बंगाल में बार-बार तुष्टिकरण और वोट बैंक की राजनीति के लिए हिंदू देवी-देवताओं के खिलाफ अपशब्दों का इस्तेमाल किया जा रहा है। उन्होंने आज तक से बातचीत में कहा कि बंगाल में काली की बड़े पैमाने पर पूजा होती है और इस तरह का बयान स्वीकार नहीं किया जा सकता। 

ताज़ा ख़बरें

उन्होंने कहा कि ममता बनर्जी की पुलिस नूपुर शर्मा के खिलाफ कार्रवाई कर सकती है लेकिन वह महुआ मोइत्रा के खिलाफ कार्रवाई नहीं करेगी। उन्होंने कहा कि वह देवी काली की मूर्ति साथ लेकर रैली करेंगे। 

दूसरी ओर, बीजेपी की महिला मोर्चा की कार्यकर्ताओं ने कोलकाता में सड़कों पर उतरकर जोरदार प्रदर्शन किया। 

पोस्टर को लेकर विवाद

बता दें कि काली फिल्म का एक पोस्टर सामने आया है जिसमें देवी काली को सिगरेट पीते हुए दिखाया गया है। इसे लेकर विवाद शुरू हुआ है और कई जगहों पर फिल्म की निर्माता लीना के खिलाफ एफआईआर दर्ज हुई है। इस बीच, लीना ने ट्वीट कर कहा है कि लोगों को पहले फिल्म देखनी चाहिए और फिर फैसला करना चाहिए।

उन्होंने कहा है कि अगर लोग फिल्म देखेंगे तो वह ट्विटर पर उन्हें गिरफ्तार करने वाले हैशटैग नहीं बल्कि उन्हें प्यार करने वाले हैशटैग लगाएंगे। महुआ मोइत्रा ने भी इस मामले में बुधवार को ट्वीट कर कहा है कि जय मां काली और देवी काली डरती नहीं हैं।

कांग्रेस के सांसद शशि थरूर ने कहा है कि हम उस स्थिति में पहुंच गए हैं जहां पर कोई भी सार्वजनिक रूप से धर्म के किसी भी पहलू के बारे में नहीं कह सकता। उन्होंने कहा कि महुआ मोइत्रा ने किसी की भावनाओं को आहत करने की कोशिश नहीं की थी।

देश से और खबरें

क्या कहा था महुआ ने?

महुआ मोइत्रा से मंगलवार को इंडिया टुडे के एक कार्यक्रम में काली पर बनी एक फिल्म के पोस्टर को लेकर हो रहे विवाद पर सवाल पूछा गया था। सवाल के जवाब में महुआ मोइत्रा ने कहा था कि उनके लिए काली देवी मांसाहारी और शराब को स्वीकार करने वाली देवी हैं। 

महुआ ने कहा था कि आपको आजादी है कि आप अपनी देवी के बारे में किस तरह की कल्पना करते हैं। 

Mahua Moitra comment on goddess Kaali BJP stages protest in Kolkata - Satya Hindi

टीएमसी ने किया किनारा 

उनके इस बयान पर बंगाल बीजेपी के नेताओं के द्वारा आपत्ति जताए जाने के बाद टीएमसी ने कहा था कि महुआ मोइत्रा का यह बयान पूरी तरह व्यक्तिगत है और पार्टी इसका किसी भी तरह से समर्थन नहीं करती और इस तरह के बयानों की पुरजोर मरम्मत करती है। इसके बाद महुआ मोइत्रा ने टीएमसी के ट्विटर हैंडल को अनफॉलो कर दिया है। 
सत्य हिन्दी ऐप डाउनलोड करें

गोदी मीडिया और विशाल कारपोरेट मीडिया के मुक़ाबले स्वतंत्र पत्रकारिता का साथ दीजिए और उसकी ताक़त बनिए। 'सत्य हिन्दी' की सदस्यता योजना में आपका आर्थिक योगदान ऐसे नाज़ुक समय में स्वतंत्र पत्रकारिता को बहुत मज़बूती देगा। याद रखिए, लोकतंत्र तभी बचेगा, जब सच बचेगा।

नीचे दी गयी विभिन्न सदस्यता योजनाओं में से अपना चुनाव कीजिए। सभी प्रकार की सदस्यता की अवधि एक वर्ष है। सदस्यता का चुनाव करने से पहले कृपया नीचे दिये गये सदस्यता योजना के विवरण और Membership Rules & NormsCancellation & Refund Policy को ध्यान से पढ़ें। आपका भुगतान प्राप्त होने की GST Invoice और सदस्यता-पत्र हम आपको ईमेल से ही भेजेंगे। कृपया अपना नाम व ईमेल सही तरीक़े से लिखें।
सत्य अनुयायी के रूप में आप पाएंगे:
  1. सदस्यता-पत्र
  2. विशेष न्यूज़लेटर: 'सत्य हिन्दी' की चुनिंदा विशेष कवरेज की जानकारी आपको पहले से मिल जायगी। आपकी ईमेल पर समय-समय पर आपको हमारा विशेष न्यूज़लेटर भेजा जायगा, जिसमें 'सत्य हिन्दी' की विशेष कवरेज की जानकारी आपको दी जायेगी, ताकि हमारी कोई ख़ास पेशकश आपसे छूट न जाय।
  3. 'सत्य हिन्दी' के 3 webinars में भाग लेने का मुफ़्त निमंत्रण। सदस्यता तिथि से 90 दिनों के भीतर आप अपनी पसन्द के किसी 3 webinar में भाग लेने के लिए प्राथमिकता से अपना स्थान आरक्षित करा सकेंगे। 'सत्य हिन्दी' सदस्यों को आवंटन के बाद रिक्त बच गये स्थानों के लिए सामान्य पंजीकरण खोला जायगा। *कृपया ध्यान रखें कि वेबिनार के स्थान सीमित हैं और पंजीकरण के बाद यदि किसी कारण से आप वेबिनार में भाग नहीं ले पाये, तो हम उसके एवज़ में आपको अतिरिक्त अवसर नहीं दे पायेंगे।
सर्वाधिक पढ़ी गयी खबरें

अपनी राय बतायें

देश से और खबरें

ताज़ा ख़बरें

सर्वाधिक पढ़ी गयी खबरें