loader

स्थानीय स्तर पर कोरोना के नियंत्रण पर फोकस हो: प्रधानमंत्री 

देश में कोरोना के बढ़ते मामलों को लेकर राज्यों के मुख्यमंत्रियों के साथ समीक्षा बैठक में प्रधानमंत्री मोदी ने कोरोना से लड़ने के नुस्खे बताए। उन्होंने राज्यों से प्री-एंप्टिव यानी संक्रमण से पहले ही रोकने के उपाय करने, प्रो-एक्टिव यानी पहले से ही सक्रिय रहने और सामूहिक दृष्टिकोण अपनाने का आग्रह किया।

प्रधानमंत्री मोदी कोरोना की स्थिति की समीक्षा करने के लिए मुख्यमंत्रियों के साथ एक वर्चुअल बैठक की अध्यक्षता कर रहे थे। काफी तेजी से फैलने वाले ओमिक्रॉन वैरिएंट से बढ़ रहे संक्रमण को लेकर प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि स्थानीय नियंत्रण पर ध्यान केंद्रित किया जाना चाहिए। इसके साथ ही उन्होंने कोरोना नियंत्रण की रणनीतियों को तैयार करते हुए अर्थव्यवस्था और आम लोगों की आजीविका की रक्षा करने की आवश्यकता पर भी जोर दिया। 

ताज़ा ख़बरें

प्रधानमंत्री मोदी ने यह भी कहा कि ओमिक्रॉन वैरिएंट के बारे में प्रारंभिक संदेह धीरे-धीरे दूर हो रहा है। यह कहा जाता रहा है कि यह सामान्य आबादी को पिछले वाले की तुलना में कई गुना तेजी से संक्रमित करता है।

प्रधानमंत्री मोदी ने जोर देकर कहा कि कोरोना वायरस के ख़िलाफ़ टीकाकरण सबसे अच्छा उपाय है। उन्होंने जोर देकर कहा कि देश में लगभग 70 प्रतिशत वयस्क आबादी को दोनों खुराक मिल गई है।

यह बैठक ऐसे दिन हो रही है जब देश में 2.47 लाख से अधिक संक्रमण के मामले दर्ज किए गए हैं। कहा जा रहा है कि देश भर में मामले ओमिक्रॉन वैरिएंट के कारण बढ़े हैं।

प्रधानमंत्री मोदी ने रविवार को ही अपने कैबिनेट सहयोगियों और शीर्ष अधिकारियों के साथ एक उच्च-स्तरीय समीक्षा बैठक की थी। उस दिन नए कोरोना मामले 1.75 लाख थे। रविवार की बैठक में केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह और केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री मनसुख मंडाविया भी शामिल थे। 

देश से और ख़बरें

बता दें कि स्वास्थ्य मंत्रालय ने गुरुवार सुबह ही कहा है कि 24 घंटों में कोरोना संक्रमण के 2,47,417 नए मामले सामने आए हैं जो कल से 27.1% ज़्यादा हैं। कल कोरोना के 1,94,720 मामले सामने आए थे। हर दिन का पॉजिटिविटी रेट 13.11 फ़ीसदी जबकि साप्ताहिक पॉजिटिविटी रेट 10.80 फ़ीसदी हो गया है। एक्टिव मामलों की संख्या बढ़कर 11,17,531 हो गई है। उधर, ओमिक्रॉन के मामलों का आंकड़ा बढ़कर 5,488 हो गया है। 

कोरोना के संक्रमण से लोगों को बचाने के लिए सरकार फ्रंटलाइन वर्कर्स और बुजुर्गों को प्रीकॉशन या बूस्टर डोज लगा रही है। इसके साथ ही 15 से 18 साल की उम्र के बच्चों को भी कोरोना का टीका लग रहा है। 

ख़ास ख़बरें

कई विशेषज्ञों ने चेताया है कि आने वाले दिनों में कोरोना संक्रमण के मामले और तेजी से बढ़ सकते हैं इसलिए जरूरी है कि केंद्र व तमाम राज्य सरकारें पहले से इंतजाम करके रखें जिससे कोरोना की दूसरी लहर जैसे हालात फिर से न बनें। 

सत्य हिन्दी ऐप डाउनलोड करें

गोदी मीडिया और विशाल कारपोरेट मीडिया के मुक़ाबले स्वतंत्र पत्रकारिता का साथ दीजिए और उसकी ताक़त बनिए। 'सत्य हिन्दी' की सदस्यता योजना में आपका आर्थिक योगदान ऐसे नाज़ुक समय में स्वतंत्र पत्रकारिता को बहुत मज़बूती देगा। याद रखिए, लोकतंत्र तभी बचेगा, जब सच बचेगा।

नीचे दी गयी विभिन्न सदस्यता योजनाओं में से अपना चुनाव कीजिए। सभी प्रकार की सदस्यता की अवधि एक वर्ष है। सदस्यता का चुनाव करने से पहले कृपया नीचे दिये गये सदस्यता योजना के विवरण और Membership Rules & NormsCancellation & Refund Policy को ध्यान से पढ़ें। आपका भुगतान प्राप्त होने की GST Invoice और सदस्यता-पत्र हम आपको ईमेल से ही भेजेंगे। कृपया अपना नाम व ईमेल सही तरीक़े से लिखें।
सत्य अनुयायी के रूप में आप पाएंगे:
  1. सदस्यता-पत्र
  2. विशेष न्यूज़लेटर: 'सत्य हिन्दी' की चुनिंदा विशेष कवरेज की जानकारी आपको पहले से मिल जायगी। आपकी ईमेल पर समय-समय पर आपको हमारा विशेष न्यूज़लेटर भेजा जायगा, जिसमें 'सत्य हिन्दी' की विशेष कवरेज की जानकारी आपको दी जायेगी, ताकि हमारी कोई ख़ास पेशकश आपसे छूट न जाय।
  3. 'सत्य हिन्दी' के 3 webinars में भाग लेने का मुफ़्त निमंत्रण। सदस्यता तिथि से 90 दिनों के भीतर आप अपनी पसन्द के किसी 3 webinar में भाग लेने के लिए प्राथमिकता से अपना स्थान आरक्षित करा सकेंगे। 'सत्य हिन्दी' सदस्यों को आवंटन के बाद रिक्त बच गये स्थानों के लिए सामान्य पंजीकरण खोला जायगा। *कृपया ध्यान रखें कि वेबिनार के स्थान सीमित हैं और पंजीकरण के बाद यदि किसी कारण से आप वेबिनार में भाग नहीं ले पाये, तो हम उसके एवज़ में आपको अतिरिक्त अवसर नहीं दे पायेंगे।
सर्वाधिक पढ़ी गयी खबरें

अपनी राय बतायें

देश से और खबरें

ताज़ा ख़बरें

सर्वाधिक पढ़ी गयी खबरें