loader

प्रधानमंत्री मोदी वाशिंगटन पहुँचे, भारतीय-अमेरिकियों ने किया स्वागत

भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी क्वैड की बैठक में शामिल होने के लिए गुरुवार को वाशिंगटन पहुँचे। क्वैड की बैठक में शामिल होने के अलावा वह अमेरिकी राष्ट्रपति जो बाइडेन से द्विपक्षीय बातचीत करेंगे और संयुक्त राष्ट्र महासभा को संबोधित करेंगे। अमेरिकी राष्ट्रपति ने इसके लिए निमंत्रण दिया है। क्वैड में भारत, अमेरिका, जापान और ऑस्ट्रेलिया शामिल हैं। इस बैठक में कई अहम रणनीतिक बिंदुओं पर बातचीत होगी। वैसे तो इसका मक़सद क्षेत्रीय सहयोग, शांति और सुरक्षा है, लेकिन इसे चीन को रोकने की कोशिश के लिए बनाया गया राजनीतिक संगठन भी माना जाता है।

अमेरिका की अपनी तीन दिवसीय यात्रा के लिए बुधवार को रवाना हुए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जैसे ही वाशिंगटन डीसी पहुँचे भारतीय अमेरिकियों की भीड़ ने उनका जबरदस्त स्वागत किया। सुबह से ही भारी बारिश के बावजूद बड़ी संख्या में भारतीय अमेरिकी प्रधानमंत्री के स्वागत के लिए एंड्रयूज ज्वाइंट एयरफोर्स बेस पर जमा हुए थे।

ताज़ा ख़बरें

2014 में पदभार ग्रहण करने के बाद से प्रधानमंत्री 7वीं बार अमेरिका की यात्रा कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि यह यात्रा 'अमेरिका के साथ हमारी रणनीतिक साझेदारी को मज़बूत करने और जापान व ऑस्ट्रेलिया के साथ संबंधों को मज़बूत करने का अवसर है'। मोदी ने कहा है कि राष्ट्रपति बाइडेन के साथ बैठक में वह भारत-अमेरिका व्यापक वैश्विक रणनीतिक साझेदारी की समीक्षा करेंगे। प्रधानमंत्री ने यह भी कहा है कि वे बाइडेन के साथ पारस्परिक हित के क्षेत्रीय और वैश्विक मुद्दों पर विचारों का आदान-प्रदान करेंगे।

पहले व्यक्तिगत क्वाड शिखर सम्मेलन को लेकर मोदी ने कहा कि राष्ट्रपति बाइडेन, ऑस्ट्रेलिया के प्रधानमंत्री स्कॉट मॉरिसन और जापान के प्रधानमंत्री योशीहिदे सुगा के साथ उनकी बैठक भारत-प्रशांत क्षेत्र के लिए प्राथमिकताएँ तय करेगी।

हवाई अड्डे पर बाइडेन प्रशासन के वरिष्ठ अधिकारियों और अमेरिका में भारत के राजदूत तरणजीत सिंह संधू ने प्रधानमंत्री मोदी की अगवानी की। प्रधानमंत्री मोदी ने ट्वीट किया, 'वाशिंगटन डीसी में भारतीय समुदाय के गर्मजोशी से स्वागत के लिए आभारी हूँ। हमारा प्रवासी हमारी ताक़त है। भारतीय प्रवासियों ने दुनिया भर में खुद को जिस तरह से प्रतिष्ठित किया है वह सराहनीय है।'

समझा जाता है कि प्रधानमंत्री मोदी और जो बाइडेन के बीच बैठक अफ़ग़ानिस्तान की स्थिति, चीन की बढ़ती मुखरता, कट्टरपंथ व सीमा पार आतंकवाद को रोकने के तरीक़े और भारत-अमेरिका वैश्विक साझेदारी का ज़्यादा विस्तार करने पर केंद्रित हो सकती है। दोनों नेताओं के बीच 24 सितंबर को वाशिंगटन में बैठक होगी। 
देश से और ख़बरें

प्रधानमंत्री 24 सितंबर को न्यूयॉर्क जाएँगे और अगले दिन संयुक्त राष्ट्र महासभा को संबोधित करेंगे। समझा जाता है कि संयुक्त राष्ट्र में उनका भाषण कोरोना महामारी, आतंकवाद से निपटने की ज़रूरत, जलवायु परिवर्तन और अन्य महत्वपूर्ण मुद्दों सहित वैश्विक चुनौतियों पर केंद्रित होगा।

सत्य हिन्दी ऐप डाउनलोड करें

गोदी मीडिया और विशाल कारपोरेट मीडिया के मुक़ाबले स्वतंत्र पत्रकारिता का साथ दीजिए और उसकी ताक़त बनिए। 'सत्य हिन्दी' की सदस्यता योजना में आपका आर्थिक योगदान ऐसे नाज़ुक समय में स्वतंत्र पत्रकारिता को बहुत मज़बूती देगा। याद रखिए, लोकतंत्र तभी बचेगा, जब सच बचेगा।

नीचे दी गयी विभिन्न सदस्यता योजनाओं में से अपना चुनाव कीजिए। सभी प्रकार की सदस्यता की अवधि एक वर्ष है। सदस्यता का चुनाव करने से पहले कृपया नीचे दिये गये सदस्यता योजना के विवरण और Membership Rules & NormsCancellation & Refund Policy को ध्यान से पढ़ें। आपका भुगतान प्राप्त होने की GST Invoice और सदस्यता-पत्र हम आपको ईमेल से ही भेजेंगे। कृपया अपना नाम व ईमेल सही तरीक़े से लिखें।
सत्य अनुयायी के रूप में आप पाएंगे:
  1. सदस्यता-पत्र
  2. विशेष न्यूज़लेटर: 'सत्य हिन्दी' की चुनिंदा विशेष कवरेज की जानकारी आपको पहले से मिल जायगी। आपकी ईमेल पर समय-समय पर आपको हमारा विशेष न्यूज़लेटर भेजा जायगा, जिसमें 'सत्य हिन्दी' की विशेष कवरेज की जानकारी आपको दी जायेगी, ताकि हमारी कोई ख़ास पेशकश आपसे छूट न जाय।
  3. 'सत्य हिन्दी' के 3 webinars में भाग लेने का मुफ़्त निमंत्रण। सदस्यता तिथि से 90 दिनों के भीतर आप अपनी पसन्द के किसी 3 webinar में भाग लेने के लिए प्राथमिकता से अपना स्थान आरक्षित करा सकेंगे। 'सत्य हिन्दी' सदस्यों को आवंटन के बाद रिक्त बच गये स्थानों के लिए सामान्य पंजीकरण खोला जायगा। *कृपया ध्यान रखें कि वेबिनार के स्थान सीमित हैं और पंजीकरण के बाद यदि किसी कारण से आप वेबिनार में भाग नहीं ले पाये, तो हम उसके एवज़ में आपको अतिरिक्त अवसर नहीं दे पायेंगे।
सर्वाधिक पढ़ी गयी खबरें

अपनी राय बतायें

देश से और खबरें

ताज़ा ख़बरें

सर्वाधिक पढ़ी गयी खबरें