loader

अभिजीत को दी पीएम ने बधाई, कहा - ग़रीबी उन्मूलन में दिया अहम योगदान

भारतीय मूल के और अमेरिका में बसे प्रोफ़ेसर अभिजीत बनर्जी को 2019 के अर्थशास्त्र के नोबेल पुरस्कार के लिए चुना गया है। अभिजीत की इस उपलब्धि पर उन्हें प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने बधाई दी है। 

प्रधानमंत्री ने ट्वीट कर कहा है कि भारतीय मूल के अभिजीत बनर्जी को बधाई, उन्होंने ग़रीबी उन्मूलन की दिशा में बहुत अहम योगदान दिया है। 

Prime Minister Congratulations to Abhijit Banerjee on nobel prize - Satya Hindi
अभिजीत मैसाचुसेट्स इंस्टीट्यूट ऑफ़ टेक्नोलॉजी (एमआईटी) में प्रोफ़ेसर हैं, एमआईटी में प्रोफ़ेसर उनकी पत्नी एस्थर डुफ्लो भी और हार्वर्ड यूनिवर्सिटी में अर्थशास्त्र के प्रोफ़ेसर माइकल क्रेमर को भी नोबेल पुरस्कार दिया गया है। इन तीनों को यह पुरस्कार ग़रीबी के कारणों पर शोध करने के लिए दिया जाएगा। प्रधानमंत्री ने एस्थर डुफ्लो और माइकल क्रेमर को भी बधाई दी है।

दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने भी अभिजीत बनर्जी को बधाई दी है। अभिजीत बनर्जी के शानदार काम से दिल्ली के सरकारी स्कूलों में पढ़ने वालों लाखों बच्चों को भी फ़ायदा हुआ है। 
Prime Minister Congratulations to Abhijit Banerjee on nobel prize - Satya Hindi
सत्य हिन्दी ऐप डाउनलोड करें

'सत्य हिन्दी'
की ताक़त बनिए


गोदी मीडिया और विशाल कारपोरेट मीडिया के मुक़ाबले स्वतंत्र पत्रकारिता का साथ दीजिए और उसकी ताक़त बनिए। 'सत्य हिन्दी' की सदस्यता योजना में आपका आर्थिक योगदान ऐसे नाज़ुक समय में स्वतंत्र पत्रकारिता को बहुत मज़बूती देगा। याद रखिए, लोकतंत्र तभी बचेगा, जब सच बचेगा।

नीचे दी गयी विभिन्न सदस्यता योजनाओं में से अपना चुनाव कीजिए। सभी प्रकार की सदस्यता की अवधि एक वर्ष है। सदस्यता का चुनाव करने से पहले कृपया नीचे दिये गये सदस्यता योजना के विवरण और Membership Rules & NormsCancellation & Refund Policy को ध्यान से पढ़ें। आपका भुगतान प्राप्त होने की GST Invoice और सदस्यता-पत्र हम आपको ईमेल से ही भेजेंगे। कृपया अपना नाम व ईमेल सही तरीक़े से लिखें।
सत्य अनुयायी के रूप में आप पाएंगे:
  1. सदस्यता-पत्र
  2. विशेष न्यूज़लेटर: 'सत्य हिन्दी' की चुनिंदा विशेष कवरेज की जानकारी आपको पहले से मिल जायगी। आपकी ईमेल पर समय-समय पर आपको हमारा विशेष न्यूज़लेटर भेजा जायगा, जिसमें 'सत्य हिन्दी' की विशेष कवरेज की जानकारी आपको दी जायेगी, ताकि हमारी कोई ख़ास पेशकश आपसे छूट न जाय।
  3. 'सत्य हिन्दी' के 3 webinars में भाग लेने का मुफ़्त निमंत्रण। सदस्यता तिथि से 90 दिनों के भीतर आप अपनी पसन्द के किसी 3 webinar में भाग लेने के लिए प्राथमिकता से अपना स्थान आरक्षित करा सकेंगे। 'सत्य हिन्दी' सदस्यों को आवंटन के बाद रिक्त बच गये स्थानों के लिए सामान्य पंजीकरण खोला जायगा। *कृपया ध्यान रखें कि वेबिनार के स्थान सीमित हैं और पंजीकरण के बाद यदि किसी कारण से आप वेबिनार में भाग नहीं ले पाये, तो हम उसके एवज़ में आपको अतिरिक्त अवसर नहीं दे पायेंगे।
सर्वाधिक पढ़ी गयी खबरें

अपनी राय बतायें

देश से और खबरें

ताज़ा ख़बरें

सर्वाधिक पढ़ी गयी खबरें