loader

कश्मीर: भारत जोड़ो यात्रा में शामिल होंगे फारुक, उमर और महबूबा

उत्तर प्रदेश में भले ही विपक्षी नेता भारत जोड़ो यात्रा से दूर दिखाई दें लेकिन कश्मीर में विपक्षी दल पीडीपी और नेशनल कॉन्फ्रेंस भारत जोड़ो यात्रा में राहुल गांधी के साथ दिखाई देंगे। जब यह यात्रा कश्मीर में पहुंचेगी तो जम्मू-कश्मीर के तीन पूर्व मुख्यमंत्री फारुक अब्दुल्ला, उमर अब्दुल्ला और महबूबा मुफ्ती इसमें शामिल होंगे। बता दें कि भारत जोड़ो यात्रा को कश्मीर के श्रीनगर में समाप्त होना है। 

कांग्रेस ने उत्तर प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव, पूर्व मुख्यमंत्री मायावती और आरएलडी प्रमुख जयंत चौधरी को भारत जोड़ो यात्रा में शामिल होने का निमंत्रण दिया था। 

लेकिन खबरों के मुताबिक यह नेता यात्रा में शामिल नहीं होंगे। सपा व आरएलडी ने इसके पीछे अपने नेताओं के पहले से तय कार्यक्रमों में व्यस्त होने का हवाला दिया है। जबकि बसपा की ओर से औपचारिक निमंत्रण न मिलने की बात कही गई है। 

Mehbooba Omar Abdullah will join congress Bharat Jodo Yatra - Satya Hindi

कांग्रेस ने सपा के वरिष्ठ नेता और पूर्व कैबिनेट मंत्री शिवपाल सिंह यादव, सुहेलदेव भारतीय समाज पार्टी के प्रमुख ओमप्रकाश राजभर और बीजेपी नेता और उत्तर प्रदेश के पूर्व उप मुख्यमंत्री दिनेश शर्मा को भी यात्रा में शामिल होने का निमंत्रण भेजा है। 

भारत जोड़ो यात्रा कुल 3570 किमी. की है। यात्रा 3000 किलोमीटर का सफर तय कर चुकी है। भारत जोड़ो यात्रा में 24 दिसंबर के बाद 9 दिनों का ब्रेक है और अब यह यात्रा 3 जनवरी 2023 को फिर से शुरू होगी।

ताज़ा ख़बरें

बताना होगा कि भारत जोड़ो यात्रा तमिलनाडु, केरल, कर्नाटक, आंध्र प्रदेश, तेलंगाना, महाराष्ट्र, मध्य प्रदेश, राजस्थान, हरियाणा का सफर तय करते हुए बीते शनिवार को दिल्ली पहुंची थी। 

पूर्व मुख्यमंत्री महबूबा मुफ्ती ने ट्वीट कर बात की जानकारी दी है कि उन्हें भारत जोड़ो यात्रा में शामिल होने का निमंत्रण मिला है और वह एक बेहतर भारत के लिए इस यात्रा में शामिल होंगी। 

भारत जोड़ो यात्रा की तैयारियों की समीक्षा के लिए कांग्रेस के संगठन महासचिव केसी वेणुगोपाल मंगलवार को श्रीनगर पहुंचे थे। वेणुगोपाल ने पत्रकारों को बताया कि फारूक अब्दुल्ला, उमर अब्दुल्ला, महबूबा मुफ्ती, सीपीएम नेता यूसुफ तारिगामी यात्रा में शामिल होंगे। उन्होंने कहा कि यह बेहद खुशी की बात है और सिर्फ जम्मू-कश्मीर में ही नहीं बल्कि पूरे भारत में जो लोग बीजेपी और केंद्र सरकार की विभाजनकारी राजनीति का विरोध करते हैं, इस यात्रा में शामिल हो रहे हैं। 
Mehbooba Omar Abdullah will join congress Bharat Jodo Yatra - Satya Hindi

जब भारत जोड़ो यात्रा महाराष्ट्र में थी तो इसमें शिवसेना के नेता आदित्य ठाकरे के साथ ही एनसीपी नेता सुप्रिया सुले शामिल हुई थीं। पिछले हफ्ते जब यह यात्रा हरियाणा के फरीदाबाद में थी तो इसमें डीएमके की सांसद कनिमोझी भी शामिल हुई थीं। उन्होंने ट्वीट कर कहा था कि वह इस यात्रा में शामिल होकर बेहद खुश हैं। इस तरह कांग्रेस ने सहयोगी विपक्षी दलों को भी इस यात्रा से जोड़ने की कोशिश की है। 

बता दें कि जम्मू-कश्मीर में कुछ महीने बाद विधानसभा के चुनाव हो सकते हैं। 5 अगस्त, 2019 को जम्मू-कश्मीर से अनुच्छेद 370 को खत्म कर दिया गया था और इसके साथ ही राज्य को दो हिस्सों में बांट दिया गया था और पूर्ण राज्य का दर्जा भी खत्म कर दिया गया था। राज्य में जून, 2018 के बाद से ही कोई सरकार अस्तित्व में नहीं है।

Mehbooba Omar Abdullah will join congress Bharat Jodo Yatra - Satya Hindi

अकेले चुनाव लड़ेगी नेशनल कॉन्फ्रेंस

जम्मू-कश्मीर की सियासत में नेशनल कॉन्फ्रेंस और पीडीपी एक दूसरे के राजनीतिक विरोधी रहे हैं लेकिन 2019 में धारा 370 के हटने के बाद बदली हुई परिस्थितियों में यह दल साथ आ गए थे और पीपल्स अलायंस फॉर गुपकार डिक्लेरेशन यानी गुपकार गठबंधन का गठन किया था। इसमें पीडीपी और नेशनल कॉन्फ्रेन्स के अलावा जम्मू-कश्मीर पीपल्स कॉन्फ्रेन्स, आवामी नेशनल कॉन्फ्रेन्स और सीपीआईएम शामिल थे। नेशनल कॉन्फ्रेंस ने इस साल अगस्त में कहा था कि वह जम्मू-कश्मीर की सभी 90 सीटों पर चुनाव लड़ेगी। 

जम्मू-कश्मीर पीपल्स कॉन्फ्रेन्स इस गठबंधन से पहले ही अलग हो चुकी है। 

Mehbooba Omar Abdullah will join congress Bharat Jodo Yatra - Satya Hindi

आजाद भी उतरेंगे मैदान में 

कांग्रेस के पूर्व नेता गुलाम नबी आजाद अपनी नई पार्टी डेमोक्रेटिक आजाद पार्टी के साथ चुनाव मैदान में उतरने के लिए तैयार हैं। आजाद ने दावा किया था कि कांग्रेस पार्टी के 95 फीसद कार्यकर्ता उनके साथ हैं लेकिन बीते कुछ दिनों में कुछ कांग्रेस नेता उनका साथ छोड़ चुके हैं। 

जम्मू-कश्मीर से और खबरें

बताना होगा कि जम्मू-कश्मीर में परिसीमन की प्रक्रिया के बाद विधानसभा सीटों की संख्या बढ़ गई है। पहले जम्मू-कश्मीर में विधानसभा सीटों की संख्या 83 थी और अब यह बढ़कर 90 हो चुकी है। 

चुनावी साल है 2023  

साल 2024 के लोकसभा चुनाव से पहले साल 2023 बेहद अहम है। साल 2023 में 10 राज्यों में विधानसभा के चुनाव होने हैं। इन राज्यों में कर्नाटक, नगालैंड, त्रिपुरा, मेघालय, मिजोरम, मध्य प्रदेश, राजस्थान, छत्तीसगढ़, जम्मू-कश्मीर और तेलंगाना शामिल हैं।

सत्य हिन्दी ऐप डाउनलोड करें

गोदी मीडिया और विशाल कारपोरेट मीडिया के मुक़ाबले स्वतंत्र पत्रकारिता का साथ दीजिए और उसकी ताक़त बनिए। 'सत्य हिन्दी' की सदस्यता योजना में आपका आर्थिक योगदान ऐसे नाज़ुक समय में स्वतंत्र पत्रकारिता को बहुत मज़बूती देगा। याद रखिए, लोकतंत्र तभी बचेगा, जब सच बचेगा।

नीचे दी गयी विभिन्न सदस्यता योजनाओं में से अपना चुनाव कीजिए। सभी प्रकार की सदस्यता की अवधि एक वर्ष है। सदस्यता का चुनाव करने से पहले कृपया नीचे दिये गये सदस्यता योजना के विवरण और Membership Rules & NormsCancellation & Refund Policy को ध्यान से पढ़ें। आपका भुगतान प्राप्त होने की GST Invoice और सदस्यता-पत्र हम आपको ईमेल से ही भेजेंगे। कृपया अपना नाम व ईमेल सही तरीक़े से लिखें।
सत्य अनुयायी के रूप में आप पाएंगे:
  1. सदस्यता-पत्र
  2. विशेष न्यूज़लेटर: 'सत्य हिन्दी' की चुनिंदा विशेष कवरेज की जानकारी आपको पहले से मिल जायगी। आपकी ईमेल पर समय-समय पर आपको हमारा विशेष न्यूज़लेटर भेजा जायगा, जिसमें 'सत्य हिन्दी' की विशेष कवरेज की जानकारी आपको दी जायेगी, ताकि हमारी कोई ख़ास पेशकश आपसे छूट न जाय।
  3. 'सत्य हिन्दी' के 3 webinars में भाग लेने का मुफ़्त निमंत्रण। सदस्यता तिथि से 90 दिनों के भीतर आप अपनी पसन्द के किसी 3 webinar में भाग लेने के लिए प्राथमिकता से अपना स्थान आरक्षित करा सकेंगे। 'सत्य हिन्दी' सदस्यों को आवंटन के बाद रिक्त बच गये स्थानों के लिए सामान्य पंजीकरण खोला जायगा। *कृपया ध्यान रखें कि वेबिनार के स्थान सीमित हैं और पंजीकरण के बाद यदि किसी कारण से आप वेबिनार में भाग नहीं ले पाये, तो हम उसके एवज़ में आपको अतिरिक्त अवसर नहीं दे पायेंगे।
सर्वाधिक पढ़ी गयी खबरें

अपनी राय बतायें

जम्मू-कश्मीर से और खबरें

ताज़ा ख़बरें

सर्वाधिक पढ़ी गयी खबरें